यूएपीए विधेयक चर्चा दो अंतिम लोस

चर्चामेंभागलेतेहुएभाजपाकीमीनाक्षीलेखीनेकहाकियहसंशोधनविधेयकआतंकवादकेपीड़ितोंऔरशहीदोंकोसमर्पितहै।उन्होंनेकहाकियहसंशोधनसिर्फपहलेकीखामियोंकोदूरकरनेकेलिएलायागयाहै।लेखीनेकहाकिकानूनकाडरउनलोगोंमेंहोनाचाहिएजोअपनीगतिविधियोंसेदेशहितकोनुकसानपहुंचातेहैं।उन्होंनेकहाकिआतंकवाद‘आजकारावण’हैजिसकेकईचेहरेहैंऔरइसीकेमद्देनजरकानूनमेंभीबदलावकरनेहोंगे।भाजपासांसदनेकहाकिअबतोचीननेभीएकआतंकवादी(मसूदअजहर)केलिएलगाई‘टेक्निकलहोल्ड’खत्मकरदी।विपक्षकेलोगभीइससंशोधनविधेयककोलेकरअपना‘टेक्निकलहोल्ड’खत्मकरेंऔरइसकासमर्थनकरें।उन्होंनेकहाकिविधेयकमेंआतंकीसंगठनोंकेसाथव्यक्तियोंपरकार्रवाईकाप्रस्तावकियागयाहै।संगठनोंपरअंकुशलगानेकेलिएजरूरीहैकिउससेजुड़ेव्यक्तियोंपरभीअंकुशलगायाजाए।द्रमुककेडीरविकुमारनेकहाकिआतंकवादकोरोकनेकेलिएहरसंभवकदमउठायाजानाचाहिएऔरद्रमुकइसकासमर्थनभीकरतीहै,लेकिनकिसीकानूनकादुरुपयोगनहींहोनाचाहिए।उन्होंनेदावाकियाकियहअंतरराष्ट्रीयमानवाधिकारकानूनकीभावनाकेखिलाफहै।वाईएसआरकांग्रेसकेजीमाधवनेकहाकिकानूनकादुरुपयोगनहींहोनाचाहिएतथाएनआईएकीकार्रवाईसेपहलेराज्यसरकारकोभीविश्वासमेंलियाजानाचाहिए।