योग करने से बढ़ती है यादाश्त

संवादसहयोगी,चितपूर्णी:अलोहआश्रममें(सप्तदेवी,किन्नू)तीनदिवसीययोगप्रशिक्षणशिविरहेतुयोगप्रमुखश्रीनिवासमूर्तिसरस्वतीविद्यामंदिरचितपूर्णीमेंवंदनासत्रमेंउपस्थितरहे।इसमेंउन्होंनेविद्यार्थियोंकोयोगक्रियाएं,एक्युप्रेशरऔरविभिन्नयोगमुद्राएंकरवाईं।योगकेमहत्वकेबारेमेंउन्होंनेकहाकियोगवसंतुलितआहारसेस्मरणशक्तिबढ़तीहै।शारीरिकवमानसिकस्वास्थ्यमेंवृद्धिहोतीहै,जबकिअसंतुलितआहारविहार,विकृतजीवनशैलीसेरोगोंवरोगियोंकीवृद्धिहोतीहै।हमारेआसपासबहुतसीजड़ीबूटियांहोतीहैंजिनकेबारेमेंजानकरहमकईरोगोंसेमुक्तरहसकतेहैं।जैसेधुधलीपाचनशक्तिकेलिए,उज्डूबूटीघावपरलगानेसेलाभहोताहैइत्यादि।उन्होंनेविद्यार्थियोंकोइसयोगशिविरमेंभागलेनेवपारिवारिकसदस्योंकोभीइसमेंशामिलहोकरलाभलेनेहेतुप्रेरितकिया।इसअवसरपरप्रधानाचार्यसुनीलशर्मा,अशोक,डॉखेमराजभीमौजूदरहे।