विश्वविद्यालय संकट में है, चाहिए आपका हाथ, आइए हमारे साथ- अब जनसंपर्क पर उतरे प्रो. कमलेश

गोरखपुर,जागरणसंवाददाता।कुलपतिकेखिलाफआंदोलनछेडऩेवालेदीनदयालउपाध्यायगोरखपुरविश्वविद्यालयकेहिंदीविभागकेनिलंबितआचार्यप्रो.कमलेशगुप्तनेअपनेसत्याग्रहकेपक्षमेंजनसमर्थनजुटाया।पहलेसेघोषितकार्यक्रमकेअनुसारउन्होंनेटाउनहाल,नगरनिगम,जिलाअस्पताल,घोषकंपनीचौकपरजनसंपर्ककिया।इसदौरानउन्होंनेलोगोंकोपहलेअपनापरिचयदियाऔरकहाकिविश्वविद्यालयइनदिनोंसंकटकेदौरसेगुजररहाहै।ऐसाविविकेकुलपतिकेमनमानारवैयेकीवजहसेहोरहाहै।इसकेविरोधमेंवहसत्याग्रहकररहेहैं।इससत्याग्रहमेंउन्हेंजनताकाहाथचाहिए,उनकासाथचाहिए।

शहरमेंक‍ियाजनसंपर्क

प्रो.कमलेशनेजनसंपर्ककीशुरुआतटाउनहालतिराहेपरमौजूदगांधीप्रतिमाकेचरणोंमेंप्रणामअर्पितकरकेकी।उनकासाथदेनेकेलिएप्रो.अजेयगुप्तऔरप्रो.चंद्रभूषणअंकुरभीमौजूदथे।प्रो.कमलेशवप्रो.अजेयसड़कपरचलतेलोगोंकोरोकरहेथेऔरउन्हेंविश्वविद्यालयकीसमस्यासेअवगतकरातेहुएअपनेसत्याग्रहकीजानकारीदेरहेथे।जोलोगउनकीबातसुननेमेंरुचिदिखारहेथे,उन्हेंवहपूराप्रकरणबतारहेथे।वहलोगोंकोबतारहेथेकिकुलपतिजिसमिडटर्मएवंएंडटर्मपरीक्षाकीबातकररहेहैं,वहपाठ्यक्रमसमिति,संकायपरिषदऔरविद्यापरिषदसेप्रस्तावित,स्वीकृतऔरसंस्तुतनहींहै।अभीकुछदिनपहलेहीस्नातकऔरपरास्नातककीपढ़ाईशुरूहुईहैऔरकुलपतिपरीक्षाकरानेकीबातकहरहेहैं।

जारीरहेगाजनसंपर्कअभियान

दरअसलयहकुलपतिद्वाराथोपीहुईव्यवस्थाहै।जनसंपर्ककेबादप्रो.कमलेशनेबतायाकिजबतकविश्वविद्यालयमेंशीतकालीनअवकाशहै,वहअलग-अलगस्थानोंपरअपनेसत्याग्रहकेसमर्थनमेंजनसंपर्ककरतेरहेंगे।उन्होंनेशिक्षकों,विद्यार्थियोंऔरमित्रोंसेअपीलकीकिवहजहांभीहों,अपनेआसपासकेलोगोंकोविश्वविद्यालयकीसमस्याबतातेरहें।इसकेलिएवहइंटरनेटमीडियाकाभीइस्तेमालकरें।

प्रधानाचार्योंकीराय,टर्मदोपरीक्षासेपहलेपूरीहोजाएप्रायोगिकपरीक्षा

केंद्रीयमाध्यमिकशिक्षाबोर्ड(सीबीएसई)कोप्रधानाचार्योंनेदूसरेटर्मकीपरीक्षासेपहलेप्रायोगिकपरीक्षापूरीकरानेकीरायदीहै,ताकिसमयसेपरिणामघोषितहोसके।गोरखपुरसहोदयस्कूलएसोसिएशनकीबैठकमेंसीबीएसईस्कूलोंकेप्रधानाचार्योंनेबोर्डकोसुझावदेतेहुएकहाहैकिपहलेटर्मके25प्रतिशतवशेषकामूल्यांकन75प्रतिशतकेआधारपरकरकेहीपरिणामघोषितकियाजाए।जरूरतपडऩेपरप्रथमटर्मकेपाठ्यक्रमकेकुछअंशसेप्रश्नदूसरेटर्मकीपरीक्षामेंभीपूछेजाएं।इससेविद्यार्थीअच्‍‍छेअंकहासिलकरसकेंगे।जिलासमन्वयकअजीतदीक्षितनेबतायाकिबैठकमेंप्रधानाचार्योंसेमिलेफीडबैककोबोर्डकोभेजाजाएगा।यहबैठकबोर्डकेनिर्देशपरआयोजितकीगईथी।उन्होंनेबतायाकिबैठकमेंजिलेके27स्कूलोंकेप्रधानाचार्यमौजूदरहे।