विपक्ष के बाद कारोबारियों ने भी झारखंड बजट को नकारा, कहा- उद्योग और रोजगार पर रूख स्पष्ट नहीं

रांची.विपक्षकाअलावा हेमंतसोरेनसरकारकेबजटकोकारोबारियोंऔरअर्थशास्त्रियोंनेभीनकारदियाहै.झारखंडचेंबरनेबजटकोनिराशाजनकबतायाहै.चेंबरकेजेनरलसेक्रेटरीराहुलमारूनेकहाकिबजटकोलेकरजोसुझावचेंबरकीओरसेवित्तमंत्रीकोदिएगएथे.उनमेंसेज्यादातरबातोंकोनहींमानागया.उन्होंनेकहाकिबजटमेंराज्यमेंउद्योगोंकेविकास,पलायनऔररोजगारकोलेकरस्पष्टदृष्टिकोणनजरनहींआया.वहींअर्थशास्त्रीधीरजपाठकनेभीबजटकोऔसतसेनीचेकरारदियाहै.

बतादेंकिविपक्षनेबजटकानकारतेइसेलॉलीपॉपकरारदियाहै.पूर्वमुख्यमंत्रीऔरबीजेपीनेताबाबूलालमरांडीनेकहाकिकिसानोंकाकर्जमाफनहींकियागया.सरकारकीएकसालमेंक्याउपलब्धियांरहीहैं,उसपरकोईबातनहींहुई.झारखंडअलगहोनेपरउससमयमात्रतेरहहजारकरोड़रुपएकाबजटथा.तबपूरेदेशमेंझारखंडकीचर्चाहोतीथी.आजकेबजटमेंकुछखासबातेंनजरनहींआरहीं,येसिर्फलॉलीपॉपहै.

पूर्वमंत्रीऔरबीजेपीविधायकसीपीसिंहनेभीबजटकोकूड़ेदानबतायाहै.पूर्वमंत्रीनीलकंठमुंडानेबतायाकिबजटमेंकुछखासनहींहै.प्रदेशकीसरकारनेऐसाबजटलायाहै,जिसमेंकिसानोंकेलिएकुछखासनहींहै.आजसूप्रमुखसुदेशमहतोनेकहाकिबजटमेंकोईखासबातनहींहै.बजटमेंकृषिऔरग्रामीणविकासकेलिएकुछभीनहींहै.जनताकोगुमराहकरनेवालाबजटहै.

हेमंतसोरेनसरकारने वित्तीयवर्ष2021-22केलिए91,270करोड़रुपयेकाबजटपेशकिया.बजटमेंकिसानसेलेकररोजगारऔरगरीबतककेलिएप्रावधानकियेगयेहैं.

ब्रेकिंगन्यूज़हिंदीमेंसबसेपहलेपढ़ेंNews18हिंदी|आजकीताजाखबर,लाइवन्यूजअपडेट,पढ़ेंसबसेविश्वसनीयहिंदीन्यूज़वेबसाइटNews18हिंदी|

Tags:Budget,Hemantsoren,Industries,Jharkhandnews,Ranchinews