विकास के नाम पर प्रकृति का दोहन

संवादसूत्र,बिदापाथर(जामताड़ा):वन,पर्यावरणवजलवायुपरिवर्तनविभागकीओरसेशुक्रवारकोधुतलागांवस्थितअजयनदीकिनारेपौधरोपणकियागया।शुभारंभनालाविधायकरवींद्रनाथमहतोनेकिया।विधायकरवींद्रनाथमहतोनेकहाकिप्रकृतिमेंसंतुलनकोबनाएरखनेकेलिएपौधरोपणजरूरीहै।पेड़-पौधाहमेंजीवितरखनेकेलिएजरूरीऑक्सीजनप्रदानकरतेहैं।विभिन्नप्रकारकेहानिकारककिरणकोअवशोषितकरहमेंबचातेहैं।

उन्होंनेकहाकिदो-चारदशकपहलेतकएकगांवसेदूसरेगांवदिखाईनहींपड़तेथे।चारोंओरपेड़-पौधेहीदिखतेथे।सभ्यतावशहरीकरणकेनामपरप्रकृतिकादोहनहोरहाहै।पहाड़,वृक्षकोकाटाजारहाहै।उन्होंनेकहाकिसिर्फपौधरोपणकरनाहीकाफीनहींहैबल्किउसपौधोंकोबचाकररखनाहमाराकर्तव्यभीहै।वनविभागकेपदाधिकारियोंकोनिर्देशदियाकिपौधरोपणकार्यक्रममेंग्रामीणक्षेत्रपौधेउपलब्धकराएंताकिग्रामीणपौधरोपणकेप्रतिउत्साहितहोसके।

डीएफओसुशीलसोरेननेबतायाकिजामताड़ाजिलामें2.53लाखपौधेलगाएगएहैं।मुख्यमंत्रीवनधनयोजनाकेतहत250एकड़जमीनचिह्नितकीगईहै।यहनिर्धारितलक्ष्यके120प्रतिशतउपलब्धिहै।मौकेपरविद्यालयकेछात्र-छात्राओंनेभीपौधरोपणकिया।

आरोप:फतेहपुरकेपूर्वप्रमुखअरविदमुर्मूनेकहाकिआदिवासीसंस्कृतिमेंपौधरोपणकार्यपूजाकेसमानहै।ग्रामीणक्षेत्रमेंकिसीयोजनाकेलिएग्रामसभाकीजातीहैपरयहांनियमकोताकपररखकरयोजनाकेतहतनतोग्रामसभाकीगईऔरनयोजनासंबंधितयोजनास्थलकिसीप्रकारकाबोर्डलगायागयाहै।

..तोमिट्टीकीउर्वराशक्तिभीनहींरहेगी

एसीनंदकिशोरलालनेकहाकिजरूरतकेहिसाबसेपेड़ोंकीसंख्यामेंकमीहोनेकेकारणलगातारगर्मीबढ़रहीहै।प्रतिपरिवारकोहरवर्षकमसेकमदसपौधेलगानेहोंगे।संतालपरगनाकेवनसंरक्षकसत्यजीतसिंहनेबतायाकिजहांपेड़-पौधेनहींहोतेवहांमिट्टीकीउर्वराशक्तिपानीमेंबहजातीहैं।उन्होंनेकहाकिएकपेड़अस्सीटनकार्बनडाईअक्साइडवआठटनतकलिथियमजैसेहानिकारकपदार्थकोसोखलेनेकीक्षमतारखताहैं।पेड़पौधाहमेंजीनेकीहरपदार्थउपलब्धकरातेहैं।एकपेड़केहजारोंवरदानमानवजीवनवप्रकृतिकेलिएहोतेहैंजिसेहमेंहरहालबचायेरखनाहै।उन्होंनेअपीलकीजिसकेघरसड़ककिनारेहैंवहकुछपेड़अवश्यलगाएं।इसदौरानआदिवासीनृत्यप्रस्तुतकियागया।मौकेपरमुख्यालयडीएसपीसंजयसिंह,नालारेंजरप्रमोदकुमार,फतेहपुरकेपूर्वप्रमुखअरविदमुर्मू,परेशयादव,अशोकमंडल,वासुदेवहांसदा,अशोकमाजि,पांडवयादव,राकेशयादव,दानीनाथयादवआदिउपस्थितथे।