विद्यार्थियों से जुड़े मामलों में किसी सूरत में नहीं होगा समझौता

जागरणसंवाददाता,झज्जर:

बहादुरगढ़क्षेत्रकेशहरीइलाकेमेंएकऐसास्कूलभीचलरहाहै।जिसकाभवनसड़कसेदो-अढ़ाईफीटतकनीचेतकजाचुकाहै।बरसातकेदिनोंमेंयहांपरहालातऐसेहोजातेहैकिबाहरकीखिड़कीसेहीनालियोंमेंबहनेवालापानीअंदरतकआजाताहै।विद्यार्थियोंकेसमक्षआरहीइससमस्यापरजागरूकपाठककीलंबेसमयसेनजरथी।चूंकिवहसीधेरूपसेव्यवस्थासेजुड़ीशिकायतनहींकरसकतेथे।इसकेलिएउन्होंनेहेलोजागरणकेमंचकोउपयुक्तसमझा।रविवारकोपुरानाबसस्टैंडस्थितदैनिकजागरणकार्यालयमेंपहुंचेबालअधिकारसंरक्षणआयोगकेसदस्यबालकृष्णगोयलकोउन्होंनेफोनपरजानकारीदेतेहुएबतायाकिआखिरकिसतरहसेशहरीक्षेत्रमेंस्कूलीबच्चोंकेभविष्यकेसाथविभागीयस्तरपरखिलवाड़कियाजारहाहै।ठीकऐसाहीमामलाशहरकेजागरूकपाठकएवंसमाजसेवीआनंद¨सघलानेउठाया।यहांउन्होंनेबतायाकिगलीएवंभीतरीक्षेत्रोंमेंकईऐसेस्कूलचलरहेहैंजोकिउनमानकोंकोपूरानहींकरते।जिनकाआजकलजिक्रहोरहाहैं।ऐसेमेंकिसतरहसेउन्हेंचलायाऔरचलनेदियाजारहाहै।यहगंभीरजांचकाविषयहै।

इनदोनोंमसलोंपरआयोगकेसदस्यबालकृष्णगोयलनेआश्वस्तकरतेहुएकहाकिमामलेकीगंभीरतासेजांचकराईजाएगी।ऐसेहालातजहांभीमिलेंगे।वहांपरनियमानुसारकानूनीकार्रवाईभीअमलमेंलाईजाएगी।लेकिनऐसाकतईनहींहोगाकिविद्यार्थियोंसेजुड़ेमसलोंपरसमझौताकियाजाएं।कार्यक्रममेंछोटेबच्चोंसेलेकरविद्यार्थियोंसेजुड़ेहुएविभिन्नमसलोंकोलेकरपाठकोंएवंअभिभावकोंनेअपनीबातरखीऔरसमस्याकेसमाधानकेलिएमांगउठाई।राहतकीबातयहरहीकिप्राय:शिकायतोंकोशॉर्टलिस्टकरतेहुएसंबंधितविभागकेअधिकारियोंकोनिर्देशभीदिएगए।ताकिसामनेआएविषयोंपरत्वरितकार्रवाईहोसके।

134एकेतहतनहींहोगीपरेशानी

हेलोजागरणकेदौरानकईपाठकोंकेऐसेफोनभीआए।जिसमेंउन्होंनेनिजीस्कूलोंद्वाराविद्यार्थियोंकोबससेवामुहैयानहींकराएजानेकीसमस्याकाउल्लेखकिया।उन्होंनेनामीस्कूलोंकाजिक्रकरतेहुएकहाकिबेशकहीउनकेबच्चोंकोएडमिशनतोदियागयाहै।लेकिनजानबूझकरबससेवामुहैयानहींकराईजारही।ऐसेमेंविशेषतौरपरउनबच्चोंकोपरेशानीहोरहीहै।सामनेआईइसप्रकारकीसमस्याकोलेकरआयोगकेसदस्यनेअभिभावकोंकोआश्वस्तकियाकिजिलाशिक्षाविभागकीओरसेबकायदापत्रलिखतेहुएस्कूलोंकोनिर्देशदिएजाएंगे।फिरभीअगरकहींचूकहोतीहैयाउनबच्चोंकोस्कूलकेस्तरपरपरेशानकियाजाताहैतोवहसंबंधितअभिभावकसीधाउनकेफोनपरभीबातकरसकतेहैं।उन्होंनेव्यक्तिगततौरपरअपनाफोननंबरदेतेहुएशिकायतकरनेकीबातभीदोहराई।

पाठकोंबोले-येकैसेस्कूल,सुविधाकेनामकुछनहीं

हेलोजागरणकेमंचपरएकऐसाभीमामलासामनेआयाजहांपरपाठकोंनेबतायाकिजिलामेंकईनिजीस्कूलतोऐसेचलरहेहै।जिनकेपासमान्यतातोमात्रआठवींकक्षातककीहै।लेकिनवहबच्चोंकोशिक्षादसजमादोकक्षातककीदेरहेहैं।हालांकिउन्होंनेउन्हेंस्कूलकेनामोंकाभीयहांउल्लेखकिया।इसीकड़ीमेंस्कूलोंकेस्तरपरऔरबसोंमेंहोनेवालीपरेशानीकाजिक्रभीयहांपरसामनेआया।

छोटेबच्चोंकोवाहनचलानेदेनेपरजताईचिंता

नौरंगपुरसेसंदीपवशिष्ठनेफोनपरबतायाकिप्राय:देखनेमेंआरहाहैकिअभिभावकछोटेबच्चोंकोदुपहियावाहनचलानेकेलिएदेदेतेहै।जिससेदोहरारिस्कबनारहताहै।जिसपरगोयलनेकहाकिवेट्रैफिकपुलिसकेपदाधिकारीकोसंपर्ककरतेहुएसमस्यासेअवगतकराएंगेऔरपुलिसकेस्तरपरभीऐसाअभियानचलायाजाएगा।जिसमेंविशेषतौरपरऐसेबच्चोंपरखासपकड़बनाईजाए।

क्रेचखोलेजानेकीउठाईमांग

इसीकड़ीमेंझाड़लीसेएसएनचतुर्वेदीनेभीसंबंधितक्षेत्रमेंक्रेचखोलेजानेकीमांगयहांमंचकेमाध्यमसेउठाई।उन्होंनेकहाकिप्लांटमेंकरनेवालेस्टॉफएवंअन्यलोगोंकोउसक्षेत्रमेंकाफीदिक्कतमहसूसहोरहीहै।जिसपरगोयलनेआश्वस्तकरतेहुएकहाकिविभागीयस्तरपरऐसाप्रयासकियाजाएगाकिक्रेचखोलेजानेकीदिशामेंकदमउठायाजासके।

हिसारकेएकपाठकनेभीरखीसमस्या

बेशकहीहेलोजागरणकेइसकार्यक्रमकोजिलाझज्जरतकसीमितरखागयाथा।लेकिनयहांपरहिसारसेभीजागरूकपाठककाफोनआया।जिन्होंनेसोशलमीडियाकेमाध्यमसेनंबरलेतेहुएसंपर्ककियाऔरबालअधिकारसंरक्षणआयोगकेसदस्यबालकृष्णगोयलसेविशेषतौरपरहिसारजिलामेंभीऐसाकार्यक्रमकरवाएजानेसहितस्कूलोंमेंचै¨कगआदिकिएजानेकीबातउठाई।

सड़कपरजमापानीसेविद्यार्थियोंकोहोतीहैपरेशानी

छारातथाबहुझोलरीक्षेत्रसेआएफोनपरलोगोंनेसमस्याउठातेहुएबतायाकिक्षेत्रमेंसड़कोंपरजमाहोनेवालापानीऔरगड्ढ़ोंउनविद्यार्थियोंकोकाफीपरेशानीहोतीहै।जोकिवहांसेहोकरगुजरतेहै।बरसातकेदिनोंमेंतोसमस्याविकरालरूपलेलेतीहै।ऐसेमेंअगरसमस्याकासमाधानहोजाएतोबेशकहीराहतमिलेगी।जिसपरउन्होंनेसंबंधितविभागकेअधिकारीकोसमस्याकासमाधाननिकालेजानेकीदिशामेंकदमउठानेकीबातकही।

प्रद्युम्नकेसाथजोहुआ,फिरनहो

गुरुग्रामकेरेयानस्कूलमेंप्रद्युम्नकेसाथजोभीहुआ।वैसाकिसीभीछात्रकेसाथनहींहो।इसविषयपरअपनीबातरखतेहुएगोयलनेबतायाकिपुलिसवैरीफिकेशनकेकार्यकोअबऔरअधिकगंभीरतासेकरायाजारहा।ताकिप्रारंभिकस्तरपरउनलोगोंपरलगामलगेगी।जोकिकिसीभीरूपमेंगलतमंशारखतेहुएसंस्थासेजुड़ेहैंयाउनकाइतिहासऐसाहैजोकिबच्चोंकेभविष्यपरअसरडालसकताहै।यहांउनकेसाथमौजूदरहेसीडब्ल्यूसीकेचेयरमेनअरूणसैनी,पीओविकासवर्माआदिनेभीबतायाकिबालसंरक्षणविभागसहितटीमसेजुड़ेसभीलोगअबस्कूलोंमेंपहुंचनेकेसाथ-साथअभिभावकोंकोभीजागरूककररहेहैं।ताकिकिसीभीअन्यछात्रकेसाथघटनाक्रमकीपुनरावृत्तिनहींहो।

ऐसेकार्यक्रमोंसामाजिकसरोकारकीदिशामेंदेतेहैअहमयोगदान

आयोगकेसदस्यबालकृष्णगोयलनेदैनिकजागरणकेकार्यक्रमकोआमजनकेलिएबेहतरमंचबतातेहुएकहाकिहोनेवालेइसतरहकेप्रयासबेशकहीसामाजिकसरोकारकीदिशामेंएकअह्मभूमिकाकानिर्वाहकरतेहैं।जिसप्रकारसेजागरणसमय-समयपरऐसेप्रयासकरताहै।बेशकहीउससेसमाजमेंलोगोंकोबड़ीमददमिलतीहै।