उठान और भुगतान में विलंब नहीं होनी चाहिए: डीसी

जागरणसंवाददाता,सोनीपत:जिलेभरकीमंडियोंमें45,544क्विंटलपीआरधानकीखरीदहोचुकीहै।अभीतकलगभग10,496क्विंटलधानउठायाजाचुकाहै।उन्होंनेसंबंधितअधिकारियोंकोनिर्देशदिएकिफसलोंकीखरीदकेसाथउठानऔरकिसानोंकोभुगतानमेंकिसीभीप्रकारकाविलंबनहींहोनाचाहिए।अनाजमंडियोंमेंधानकीआवकतथाखरीदवउठानइत्यादिकीसमीक्षाकेलिएबृहस्पतिवारकोलघुसचिवालयमेंअधिकारियोंकीबैठककाआयोजनकियागया,जिसकीअध्यक्षताउपायुक्तललितसिवाचकररहेथे।

उपायुक्तललितसिवाचनेबतायाकिखरखौदामंडीमें2,494क्विंटलवगोहानामें36,319क्विंटलऔरसोनीपतमंडीमें6,731क्विंटलपीआरधानकीखरीदकीजाचुकीहै।तीनोंमंडियोंमें60हजार272क्विंटलधानकीआवकहुईहै।उन्होंनेसंबंधितअधिकारियोंकोनिर्देशदिएकिशेषधानकीखरीदभीजल्दकीजाए।उन्होंनेकहाकिखरीदकेसाथहीनिर्धारितसमयावधिमेंकिसानोंकोभुगतानभीसुनिश्चितकियाजाए।साथहीमंडियोंमेंकिसानोंकोकिसीभीप्रकारकीसमस्यानहींहोनीचाहिए।

डीएपीऔरयूरियाकीपर्याप्तउपलब्धताकेनिर्देश

उपायुक्तसिवाचनेआगामीफसलोंकेलिएयूरियाकीउपलब्धताकीसमीक्षाभीकी।उन्होंनेकहाकिआवश्यकताकेअनुसारपर्याप्तयूरियाउपलब्धहै,जोकिकिसानोंकोसब्सिडीकेसाथदियाजाएगा।किसानोंकोकिसीभीप्रकारकीचिताकरनेकीआवश्यकतानहींहै।अभीतक2,646मीट्रिकटनयूरियाकीबिक्रीभीहोचुकीहै।उन्होंनेकृषिविभागकेअधिकारियोंकोनिर्देशदिएकिवेमांगकेअनुसारडीएपीकीउपलब्धताबनाएरखें।इसदौरानउपायुक्तसिवाचनेजलभरावकीस्थितिकीभीगंभीरतासेसमीक्षाकी।सिचाईविभागकेअधिकारियोंनेबतायाकिसोनीपतमें28बिजलीकेपंपसेटतथा34डीजलपंपसेटऔर36बड़ेपंपसेटहैं।इसकेअलावागोहानामेंअलगसेपंपसेटकीव्यवस्थाहै।लगातारपंपचलाएजारहेहैंताकिजल्दसेजल्दखेतोंसेपानीकोनिकालाजाए।इसकेअलावाउपायुक्तनेफसलअवशेषप्रबंधनकेलिएभीजरूरीदिशा-निर्देशदिए।बैठकमेंनगरनिगमकेआयुक्तधर्मेंद्रसिंह,तहसीलदारमनोजअहलावत,जिलाउद्योगकेंद्रकेसंयुक्तनिदेशकआरकेराणा,कृषिविभागकेउप-निदेशकडा.अनिलसहरावत,एक्सईएनपंकजगौड़,मार्केटकमेटीकेसचिवजितेंद्रकुमारवअन्यमौजूदरहे।