Uttarakhand Board Exam 2022: जोखिम भरे हैं उत्‍तराखंड बोर्ड परीक्षा की दूसरी पाली के पेपर, जंगल के रास्ते छात्रों को जाना पड़ता है घर

जागरणसंवाददाता,देहरादून।UttarakhandBoardExam2022विषयभौगोलिकस्थितिकोदेखतेहुएकईसालपहलेउत्तराखंडशिक्षाविभागने10वींएवं12वींकीबोर्डपरीक्षाशामकीपालीमेंनहींकरनेकाफैसलालियाथा।

इसकेपीछेमंशायहथीकिपहाड़ीक्षेत्रोंमेंशामपांचबजेजबपेपरसमाप्तहोतेहैंतोकईराजकीयवअशासकीयइंटरकालेजोंसेछात्र-छात्राओंकोतीनसेचारकिलोमीटरपैदलजंगलकेबीचसेपैदलचलकरअपनेघरोंकोपहुंचनापड़ताहै।ऐसेमेंरास्तेमेंतेंदुएऔरभालूकाभयबनारहाहै।

हरसालपहाड़ीक्षेत्रोंमेंकईग्रामीणोंकोतेंदुएअपनाअपनाशिकारबनातेहैं।इसेदेखतेहुएउत्तराखंडशिक्षाबोर्डपरिषदनेबोर्डपरीक्षाकेवलसुबहकीपालीमेंआयोजितकरनेकानिर्णयलियाथा।लेकिनइसबारउत्तराखंडशिक्षाबोर्डनेबोर्डकेकुछपेपरशामकीपालीमेंकरनेकेआयोजितकरनेकानिर्णयलियाहै।

ऐसेमेंशिक्षकों,अभिभावकोंवछात्रोंनेइसकाविरोधकरनाप्रारंभकरदियाहै।राजकीयशिक्षकसंघकेअध्यक्षदिग्विजयचौहाननेइसबारेमेंमाध्यमिकशिक्षानिदेशकसीमाजौनसारीकोज्ञापनप्रेषितकरमांगकीकिशामकीपांचमेंबोर्डपरीक्षाआयोजितनकरवाईजाए।

तर्कदियाकिउत्तरकाशी,चमोली,रुद्रप्रयाग,टिहरी,पौड़ी,चंपाततवपिथौरागढ़,अल्मोड़ा,बागेश्वरआदिजिलोंकेकईराजकीयइंटरकालेजदूरदराजकेक्षेत्रोंमेहैंयहांआसपासकेगांवोंकेविद्यार्थीदोसेतीनकिलोमीटरदूरसेस्कूलपहुंचतेहैं।

ऐसेमेंउन्हेंशामकोस्कूलसेघरजानेमेंडेढ़सेदोघंटेकासमयलगताहै।सेवानिवृत्तप्रधानाचार्यडीएसचौहाननेस्वीकारकियाकिमार्चमहीनेमेंयदिबोर्डपरीक्षाहोतीहैतोपरीक्षासुबहकीहीपालीमेंकीजानीचाहिए।

क्योंकिअपेक्षाकृतअभीदिनबहुतअधिकनहींबढ़ेहैं।हांयदिपरीक्षा15अप्रैलकेबादहोतीहैफिरशामसाढ़ेबजेतकअंधेरानहींहोताहैफिरशामकोपरीक्षाकरवाईजासकतीहै।

यहभीपढ़ें:-UttarakhandBoardExam2022:उत्तराखंडबोर्डपरीक्षामेंनकलकीसूचनापरबदलेजाएंगेप्रश्नपत्र