UPSC ने पद बढ़ाए, एग्जाम पैटर्न नहीं बदलेगा

नईदिल्ली।।सिविलसेवामेंजानेकीतमन्नारखनेवालेयुवाओंकेलिएनयासालगुडन्यूजलेकरआयाहै।संघलोकसेवाआयोग(यूपीएससी)इससालकीपरीक्षासे965अफसरभर्तीकरेगा।वैसेइच्छुकयुवाओंकेलिएदूसरीखुशीकीबातयहहैकिपरीक्षापैटर्नमेंबदलावकाकोईसंकेतनहींदियागयाहै।आयोगनेसिविलसेवापरीक्षा2010केलिएअधिसूचनाशनिवारकोजारीकी।इसकेजरिएउसने965अफसरोंकीभर्तियांकरनेकीघोषणाकीहै।यहसंख्यापिछलेदससालमेंसबसेअधिकबताईजारहीहै।सिविलसेवासेजुड़ेजानकारोंनेमंदीकेमौजूदादौरमेंआयोगकेइसकदमकोयुवाओंकाहौंसलाबढानेवालाबताया।देशकीसबसेप्रतिष्ठितऔरप्रतिस्पर्धीमानेजानेवालीयहपरीक्षाहरसालतीनचरणमेंहोतीहै।बाजीरावएंडरविइंडस्टीट्यूटसेजुड़ेआर.एलेंगोवननेकहा,'यहअच्छाहै।इसतरहकेकदमसेयुवाओंकाइनसेवाओंकेप्रतिरूझानऔरबढेगा।'उन्होंनेकहाकिसंख्यामेंपिछलेसालकीतुलनामेंभलेहीअधिकबढोतरीनहींहुईहो,लेकिनयहकईसालसेलगातारबढ़रहीहैजोकिअच्छाहै।आयोगइसअखिलभारतीयपरीक्षाकेमाध्यमसेभारतीयप्रशासनिकसेवा(आईएएस),भारतीयविदेशसेवा(आईएफएस),भारतीयपुलिससेवा(आईपीएस)तथाकेंद्रीयसेवाओंमेंग्रुपएऔरबीकेअधिकारीचुनताहै।आयोगकीप्रारंभिकपरीक्षामेंढाईलाखसेअधिकयुवाबैठतेहैं।इससालप्रारंभिकपरीक्षा23मईकोहोगी।परीक्षासेकईसालोंतकजुड़ेरहेकृष्णमुरारीनेकहा,'इसबारपदोंकीसंख्याअपनेआपमेंरिकॉर्डहै।मुझेनहींलगताकि1995केबादकभीइतनीबड़ीसंख्यामेंपदआएहों।'उन्होंनेकहाकिभलेहीआयोगकेपरीक्षापैटर्नकाखुलासानहींकियाजाताहोलेकिननि:संदेहइसकाफायदायुवाओंविशेषकरनएलोगोंकोहोगा।आयोगनेइसबढ़ोतरीकीघोषणाऐसेसमयमेंकीहैजबआर्थिकमंदीकेकारणनिजीक्षेत्रमेंछंटनीकादौरचलरहाहै।कोचिंगसंस्थानखानस्टडीग्रुपसेजुड़ेविभासमिश्रानेपदोंमेंबढोतरीकोअच्छासंकेतबताया।उन्होंनेकहाकिदेशमेंविकासात्मकगतिविधियोंकेलिएअच्छाहैकिजितनेअधिकलोग(अधिकारी)होंगे,प्रशासनिकमशीनरीकीदक्षताभीउतनीहीबढ़ेगी।एलेंगोवननेकहाकिसरकारकीमंशासेपदोंमेंबढोतरीअपेक्षितथी।उल्लेखनीयहैकिगृहमंत्रीपी.चिदंबरमनेदेशमेंपुलिसअफसरोंकीकमीपरचिंताजतातेहुएसिविलसेवामेंइनकीसंख्या130सेबढ़ाकर150करनेकीघोषणाकीथी।इससालकीप्रारंभिकपरीक्षाकेलिएएकफरवरीतकआवेदनकियाजासकताहै।