उपन्यास हमेशा प्रासंगिक रहेगा: विक्रम चंद्रा

जयपुर,25जनवरी(भाषा)उपान्यासकारविक्रमचंद्रानेउपन्यासविधासमाप्तहोनेकेबारेमेंकिएजारहेदावोंकोमाननेसेइंकारकरतेहुएकहाकिपुस्तकेंसदाहीरहेंगी।उन्होंनेबतायाकिइसदावेको‘जरूरतसेज्यादाबढ़ा-चढ़ाकर’पेशकियाजारहाहैक्योंकिलोगअबभीपढ़रहेहैंऔरबड़ीसंख्यामेंउपन्यासभीलिखेजारहेहैं।नेटफ्लिक्सकीलोकप्रियसीरिज‘सेक्रेडगेम्स’विक्रमचंद्राकीइसीनामसेलिखीगईकिताबपरआधारितहै।वहजयपुरसाहित्यमहोत्सवमें‘गल्पकहांसेआताहै’केविषयपरबोलरहेथे।उन्होंनेकहाकिनेटफ्लिक्सजैसेडिजिटलमंचकेजमानेनेलेखकोंकेलिएअवसरकेद्वारखोलदिएहैं।इसतरहकाअवसरलेखकोंकेलिएपहलेकभीउपलब्धनहींथा।चंद्रानेकहाकिएकलेखककेतौरपरवहअपनीलेखनीकेलिएहिंदूमहाग्रंथ‘महाभारत’सेप्रेरणालेतेहैं।