उधार की 'लकड़ी' से जल रहा हॉटकुक्ड का 'चूल्हा'

रायबरेली:नौनिहालोंकोकुपोषणकेचंगुलसेमुक्तकरानेऔरसुपोषितबनानेकेलिएचलाईजारहीहॉटकुक्डयोजनाकीराहमेंबजटकारोड़ाहै।करीबचारमहीनेसेखातेमेंधनराशिनहींभेजीगई।उधारकी'लकड़ी'सेहॉटकुक्डका'चूल्हा'जैसे-तैसेजलरहाहै।अबप्रधानोंनेयोजनासेहाथखींचनाशुरूकरदियाहै।ऐसेमेंबच्चोंकेभोजनपरग्रहणलगसकताहै।

हॉटकुक्डयोजनामेंबच्चोंकोपकापकायाभोजनदिलानेकेनिर्देशहैं।ताकिउनकीसेहतबेहतररहे।इसमेंकोईअड़चननआएइसकेलिएपरिषदीयविद्यालयोंमेंभोजनबनानेकीव्यवस्थाकरदीगई।बजटनहींमिलनेपरप्रधानऔरआंगनबाड़ीकार्यकर्ताउधारसेसामानलेकरकिसीतरहचूल्हाजलवारहेहैं,परभुगताननमिलनेपरदुकानदारराशनदेनेसेमनाकररहेहैं।

2833केंद्रोंपरअसर:हॉटकुक्डतीनसेछहवर्षतककेबच्चोंकोदियाजाताहै।पूर्वमेंभेजागयाबजटभीउपयोगनहींकरसके।इसकीवजहजीरोबैलेंसहोनेकेकारणबैंककीओरसेकटौतीकरलियाजानाबतायाजारहाहै।इसकाअसरजिलेमें2833आंगनबाड़ीकेंद्रोंपरपड़रहाहै।

हॉटकुक्डकेलिएआंगनबाड़ीकार्यकर्ताऔरप्रधानकेसंयुक्तखातेमें2.25रुपयेप्रतिबच्चामिलताहै।वहभीनहींदियाजारहाहै।जबकिजिलापूर्तिविभागकेखातेमें25पैसेऔरप्रधानाध्यापकको50पैसेप्रतिबच्चाकाभुगतानहोरहाहै।

-राकेशकुमारशुक्ल,जिलाप्रभारी,आंगनबाड़ीकर्मचारीसहायिकाएसोसिएशन

32करोड़85लाखपांचहजारपहलीबारखातेमेंभेजाजाचुकाहै।सत्यापनकेनिर्देशदियागयाहै।रिपोर्टमिलतेहीबकायाभेजदियाजाएगा।

शरदकुमारत्रिपाठी,जिलाकार्यक्रमअधिकारी