तालीम व इल्म को तव्वजों दे कौम : रहमानी

सिमडेगा:इमारतशरियाएकदिनीतंजीमहै,इसकीस्थापना1931मेंमुस्लिमसमाजकीसमस्याओंकेसमाधानकेलिएकीगईथी।इसकेमाध्यमसेसमाजकेलोगोंमेंहोनेवालेकिसीभीप्रकारकेविवादकानिपटाराकुरआनमजीदकेरौशनीमेंकियाजाताहै।यहबातेंमुस्लिमपर्सनललॉबोर्डकेजनरलसेक्रेटरीसहओडिशा,झारखंडतथाबिहारकेखानकाहेनशीनमुगेरकेमौलानाहजरतवलीरहमानीप्रेसवार्तामेंकहीं।उन्होंनेकहाकिलोगोंकोकईप्रकारकीसमस्याएंहोतीहै,जिसकेनिदानकेलिएइमारत-ए-शरियासहयोगकरतीहै।

उन्होंनेबतायाकिसिमडेगामेंभीकुरआनमजीदवहदीशकीरौशनीमेंकिएजानेवालेफैसलोंकेलिएदारूलकजाकीस्थापनाकरदीगईहै।वहीबतायाकिइमारतेशरियाआनेवालेदिनोंमेंरांचीवगिरिडीहमेंआइटीआइखोलनेकेसाथहीसीबीएसईपैटर्नपरस्कूलखोलेगी,ताकिसूबेमेंइल्मकोऔरभीमजबूतीदियाजासके।वहींतीनतलाककेमसलेपरउन्होंनेकहाकिमोदीसरकारअपनीनाकामीछुपानेकेलिएइसतरहकेशगुफाछोड़रहीहै।उन्होंनेकांग्रेसवभाजपासरकारकोआड़ेहाथलेतेहुएकहामुस्लिमसमाजकीकईपरेशानीकांग्रेससरकारकीदेनहै।वहींभाजपासरकारभीमुस्लिमसमाजकोपीछेरखनेकेमामलेमेंकांग्रेससेभीआगेनिकलगईहै।उन्होंनेकहाकिमुस्लिमसमाजकेलोगोंकोदेशभरमेंदहशतगर्दीकेनामपरप्रताड़ितकरनेकेसाथहीगिरफ्तारकियाजारहाहै,जोपूरीतरहगलतहै।वहीउन्होंनेकहाकिकुरआनकेहुर्फकभीबदलानहीजासकताहै,वैसेहीइस्लामीकानूनमेंबदलावभीनहींहोसकतेहै।

इसमौकेपरकईउलेमाओंकेसाथहीमुफ्तीइसराफिलकासमी,मास्टरग्यास,मौलानाशौकत,मौलानामिन्हाजकासमी,हाजीशमीमअख्तरआदिमौजूदथे।