स्वावलंबन अपनाकर ही महिलाएं बनेंगी सशक्त

संवादसूत्र,चैनपुर:पुलिसकामाननाहैकिस्वावंलबनकोअपनाकरहीसशक्तबनसकतीहै।इसकेलिएमहिलाओंकोआर्थिकगतिविधियोंसेजोड़नाऔरउनकेआयकोबढ़ानाआवश्यकहोगयाहै।चैनपुरथानापरिसरमेंमहिलासशक्तिकरणकेलिएआयोजितकार्यशालामेंथानाप्रभारीप्रह्लादसिंहनेउक्तबातेंकहीं।उन्होंनेकहाकिबढ़तीहुईमहिलाउत्पीड़नकीघटनाएंसामाजिककलंकहैं।इसकलंककोमिटानेकेलिएसमाजकीमहिलाओंकोजागरूकहोकरआगेआनाहोगाऔरअपनीसमझदारीबढ़ानीहोगी।उन्होंनेमहिलाओंकोसशक्तहोनेकेलिएमहिलामंडलबनानेकासुझावदेतेहुएकहाकिआपआर्थिकगतिविधियोंसेजुड़ेऔरअपनीमालीहालतमेंसुधारकरें।दूसरोंसेमददमिलनेकीउम्मीदकोछोड़ेऔरस्वयंआर्थिकविकासकीकहानीलिखे।उन्होंनेकाकिमहिलाओंकेमददकेलिएहेल्पलाइनजारीकीगईहैजिसकीसहायतालीजासकतीहै।उन्होंनेकहाकिजबतकसमाजनशामुक्तनहींहोगातबतकअपराधमुक्तसमाजकानिर्माणसंभवनहींहै।चंदपैसेकेलिएशराबबनानेऔरबेचनेकाकामछोड़नाहोगा।कहाकिगरीबीकेकारणरोजगारकीखोजमेंपलायनकीप्रवृत्तिकालाभमानवतस्करउठातेहैंऔरबच्चियोंकोशोषणकाशिकारबनातेहैं।इसकार्यशालामेंचैनपुर,रामपुर,छतरपुर,प्रेमनगर,मड़ईकोना,बेंदोराकीमहिलाओंनेभागलिया।पुलिसकर्मियोंनेमहिलाओंकोस्वावलंबनकापाठपढ़ाया।