स्वाइन फलू से चौकस रहने की जरूरत: सिविल सर्जन

संवादसहयोगी,कपूरथला:सिविलसर्जनडॉ.बलवंत¨सहनेकहाकिस्वाइनफलूसेडरनेकीनही,बल्किइससेचौकसरहनेकीजरूरतहै।उन्होंनेकहाकिकिस्वाइनफलूकेसाथनिपटनेकेलिएसेहतविभागकेपासउचितप्रबंधहै।मौसममेंबदलावकेसाथस्वाइनफ्लूकावायरसफैलनेकाखतराबनारहताहै।स्वाइनफ्लूएचवनएनवनवायरसकेकारणएकमनुष्यकोदूसरेमनुष्यमेंसांसकेजरियेफैलताहै।उन्होंनेकहाकिस्वाइनफ्लूसेपीड़ितव्यक्तिसेकमसेकम3मीटरकीदूरीबनाकरमुंहपरमास्कबांधकररखें,मरीजकेसाथहाथमिलानेसेभीगुरेजकरें।सहायकसिविलसर्जनडॉ.रमेशकुमारीबंगानेकहाकिजागरुकताहीबचावहै।उन्होंनेकहाकिसावधानऔरजागरुकरहकरइसबीमारीसेबचावकियाजासकताहै।उन्होंनेबतायाकिसेहतविभागकेहेल्थवर्करोंकीओरसेस्वाइनफ्लूकेबचावकेलिएलोगोंकोजागरुककियाजारहाहै।उन्होंनेलोगोंकोअपीलकिसेल्फमेडीकेशनसेबचाजाएवकिसीभीतरहकेलक्षणनजरआनेपरसिविलअस्पतालकेमाहिरडाक्टरोंकेसाथसंपर्ककरनाचाहिए।जिलासेहतअधिकारीडॉ.कुलजीत¨सहनेबतायाकिबुखारहोना,ठंडलगना,लगाखराबहोना,शरीरमेंतेजदर्दऔरकमजोरीहोनास्वाइनफ्लूकेलक्षणहैं।उन्होंनेसलाहदीकिखांसीयाछींकतेसमयमुंहऔरनाककेआगेरूमालरखनाचाहिए।रुमालकीजगहटिशूकाइस्तेमालकरनाचाहिए।सीनियरमेडिकलअधिकारीडॉ.रीटाबालानेबतायाकिसिविलअस्पतालमेंइमरजेंसीसेवाएं24घंटे,मेडिकलस्पेशलिस्टउपलब्धहैवस्वाइनफ्लूकाइलाजसिविलअस्पतालमेंमुफ्तकियाजाताहै।

ਪੰਜਾਬੀਵਿਚਖ਼ਬਰਾਂਪੜ੍ਹਨਲਈਇੱਥੇਕਲਿੱਕਕਰੋ!