संसद और राज्य विधानसभाओं में महिलाओं को पर्याप्त प्रतिनिधित्व दिया जाये: नायडू

नयीदिल्ली,20अगस्त(भाषा)उपराष्ट्रपतिएमवेंकैयानायडूनेसंसदऔरराज्यविधानसभाओंमेंमहिलाओंकेलिएपर्याप्तआरक्षणकीवकालतकरतेहुएबृहस्पतिवारकोसभीराजनीतिकदलोंसेइसमुद्देपरजल्दसहमतिबनानेकाआग्रहकिया।उन्होंनेकहाकिअगरमहिलाओंकोराजनीतिकरूपसेसशक्तनहींकियाजायेगातोदेशकीप्रगतिबाधितहोगी।नायडूनेबुजुर्गोंकीउपेक्षाऔरदुर्व्यवहारकीखबरोंपरभीचिंताव्यक्तकरतेहुएकहा,‘‘यहपूरीतरहसेअस्वीकार्यप्रवृत्ति’’हैजिसकीजांचकीजानीचाहिए।उन्होंनेकहाकियहबच्चोंकापरमकर्तव्यहैकिवेअपनेपरिवारोंकेवृद्धसदस्योंकीदेखभालकरें।उन्होंनेकहा,‘‘हमेंसंसदऔरसभीराज्यविधानसभाओंमेंमहिलाओंकेलिएपर्याप्तआरक्षणसुनिश्चितकरनाचाहिएऔरमैंसभीराजनीतिकदलोंसेइसमहत्वपूर्णमुद्देपरजल्दसेजल्दआमसहमतिबनानेकाआग्रहकरताहूं।’’एकअधिकारिकबयानकेअनुसारउपराष्ट्रपतिनेकहाकियह‘‘दुर्भाग्यपूर्ण’’हैकियहप्रस्तावलंबेसमयसेलंबितहै।उन्होंने‘भारतमेंजन्मकेसमयलिंगानुपातकीस्थिति’,और‘भारतमेंबुजुर्गोंकीजनसंख्या’’पररिपोर्टजारीकरनेकेदौरानयेटिप्पणियांकी।नायडूनेऑनलाइनकार्यक्रमकेदौरानबालिकाओंकेलिएमुफ्तऔरअनिवार्यशिक्षासुनिश्चितकरतेहुएकन्याभ्रूणहत्याऔरदहेजपरप्रतिबंधलगानेवालेकानूनोंकोसख्तीसेलागूकरनेकाआह्वानकिया।उन्होंनेकहाकिमहिलाओंकोसंपत्तिमेंएकसमानहिस्सादियाजानाचाहिएताकिवेआर्थिकरूपसेसशक्तहों।बयानमेंकहागयाहैकिनायडूनेस्कूलोंमेंनैतिकशिक्षाकाभीआह्वानकियाताकिबच्चेबड़ेहोकरजिम्मेदारऔरसंवेदनशीलनागरिकबनें।