संसार में सब कुछ मिलना संभव है लेकिन मा नहीं

जागरणसंवाददाता,बहादुरगढ़:

देशकाभविष्यबेटियोंमेंहीमिलताहै।बेटियोंकोनकेवलबचानावपढ़ानाजरूरीहैबल्किउनकोआगेबढ़ानाभीजरूरीहै।राष्ट्रकेउज्ज्वलभविष्यकेलिएबेटियोंकोसंस्कारवानहोनाचाहिए।संस्कारवानमहिलाकेबिनासभ्यसमाजकीकल्पनानहींकीजासकती।यहउद्गारउपमंडलविधिकसेवाएंसमितिकेसदस्यसत्येंद्रदहियानेप्रकटकिए।वेसोमवारकोशहरकेराजकीयकन्यावरिष्ठमाध्यमिकविद्यालयमेंग‌र्ल्सचाइल्डदिवसकेउपलक्ष्यमेंआयोजितविशेषविधिकसाक्षरताशिविरमेंछात्राओंकोसंबोधितकररहेथे।

जीवनज्योतिअस्पतालकीनिदेशकडा.ज्योतिमलिकनेभीछात्राओंकामार्गदर्शनकरतेहुएकहाकिएकबेटीपूरेपरिवारकोसहीरखतीहै।उन्होंनेकहाकिबेटियोंसेहीमाकास्वरूपबनताहैऔरएकमाकेबिनापरिवारकीकल्पनानहींकीजासकती,जिससेसमाजबनताहै।उन्होंनेकहाकिसंसारमेंसबकुछमिलनासंभवहैलेकिनमानहींमिलसकती।यदिबेटियोंकोनहींबचायातोमाकहासेलाएंगे।इसलिएसमाजकेलिएबेटियोंकासुशिक्षितवसंस्कारवानहोनाजरूरीहै।यहहमसबकीजिम्मेदारीबनतीहैकिलड़कियोंकोशिक्षासेसंबंधितसभीसुविधाएंमिलें।उन्होंनेछात्राओंकोसुकन्या,सुरक्षा,साक्षरता,स्वास्थ्य,समानताएवंस्वाभिमानकेलिएप्रेरितकिया।उन्होंनेछात्राओंकोस्वस्थरहनेकेहेल्थटिप्सभीदिए।विशेषशिविरमेंछात्राओंकोसंबोधितकरतेहुएपैनलएडवोकेटअंजूरानीनेकहाकिलड़कियोंकोबचानेकेलिएसिर्फअभियानचलानेसेकामनहींचलेगाबल्किउनकोसामाजिकसुरक्षादेनेकेलिएआगेआनाहोगा।लड़कियोंकोसमाजमेंउचितस्थानदिलानेकेलिएजागरूकताकीआवश्यकताहै।उन्होंनेसरकारद्वारादीजारहीअनेकसुविधाओंजैसेमहिलाहेल्पलाइननंबरवस्वयंरक्षा,दुर्गाशक्तिएपतथाअन्यायकेविरुद्धआवाजउठानेआदिकेविषयमेंविस्तारसेबताया।मंचसंचालनप्रवीनकुमारीनेकियातथाउन्होंनेबेटीबचाओबेटीपढ़ाओकीशपथभीदिलाई।

इसमौकेपरस्कूलकीप्राचार्यातारावतीजून,विरेंद्रसिंह,प्राध्यापकसुशीलासागवानआदिमौजूदथे।