समय सीमा बीती, फिर भी कार्य अधूरा

कालिकाप्रसाद,कर्णप्रयाग:

पर्यावरणएवंजलवायुपरिवर्तनमंत्रालयकेंद्रसरकारकेदिशा-निर्देशोंपरसीमांतजनपदचमोलीकेदारनाथवन्यजीवप्रभागकेप्रबंधन(वनोंकीकार्ययोजना)क्रममेंकार्ययोजनासंहितापरअगस्त2014सेशुरूहुआवनोंकेसर्वेक्षणकार्यवनकर्मचारियोंकीकमीकेचलतेदोवर्षकीतयसमयसीमागुजरजानेकेबादभीपूरानहींहोपायाहै,जबकियोजनापरछहमाहसेअधिककाअतिरिक्तसमयबीतजानेजानेपरआजतक80लाखरुपयेकीराशिव्ययकीजाचुकीहै,कार्ययोजनाकेचलतेचीड़केपेड़ोंसेलीसाननिकलनेकेचलतेप्रतिवर्षएकलाख70हजाररुपयेकेराजस्वकानुकसानउठानापड़रहाहै।हालांकिअधिकारियोंकीमानेंतोकार्ययोजनाकाकामअंतिमचरणमेंहैऔरशीघ्रहीरिपोर्टशासनकोभेजदीजाएगी।

विभागीयआंकड़ोंपरगौरकरेंतोदसवर्षपूर्व2004मेंकार्ययोजनापरकार्यकीसमयसीमा2014मेंसमाप्तिहोगयीथीऔरअगस्त2014सेशुरूकेदारनाथवन्यजीवप्रभागकीकार्ययोजनापरकार्यदोवर्षकेभीतरपूर्णकरकेंद्रसरकारकोभेजीजानीथी।इसमेंकर्मचारियोंऔरविशेषज्ञोंकीसमयपरउपलब्धताकेचलतेकार्यनिर्धारितअवधिपरपूरानहींहोसका,केदारनाथवनप्रभागकेतहतचाररेंजधनपुर,नागनाथ(मोहनखाल),लोहबावगोपेश्वरचमोलीकेअंतर्गतकार्ययोजनामेंनर्सरीनिर्माण,पौधक्रय,सर्वेक्षण,बहुतायतमेंमौजूदवनस्पतियोंकेविरलन,प्रबंधन,पुनर्उत्पादनकेप्रभावोंकाअध्ययन,कृत्रिमपुनर्उत्पादन,वनाग्निसेबचनेकेलिएतैयारचाल-खाल,नालीनिर्माण,विचलितकन्टूरनाली,मृदाजलसंरक्षण,भूक्षरण,चेकडैम,गलीप्लागिंगकार्यहोचुकेहैं।जबकिवन्यजीवसंरक्षण,फल,फूलवजंगलोंमेंजलोनीलकड़ीकीउपलब्धता,स्थानीयस्तरपरऔषधीयपादपोंकीजानकारीसहितबदलतेमानवीयहस्तक्षेपसेवनस्पतिपरपड़रहेदबाववविलुप्तिकीकगारपरपहुंचचुकीदुर्लभवनउपजकेआंकड़ोंकाजीपीएससिस्टमसेसांख्यिकीसर्वेक्षणकोजुटायेजानेकार्यअंतिमचरणमेंहै,साथहीप्लानकेतहतसंरक्षण,विकासवविदोहनकीभीजानकारीसंरक्षितकीजानकारीयोजनासेजुड़ेवनकर्मचारीववनाधिकारियोंकीओरसेसंरक्षितकीजारहीहै।तैयारहोरहीकार्ययोजनाकेअंतर्गतजिम्मेदारअधिकारियोंकीओरसेमांसाहारीजीवोंकाजंगलसेशहरीक्षेत्रोंकीओररुखकरनेकेकारणजानने,नियंत्रितकरनेकेलिएभावीयोजनाकेतहतवृहदपौधारोपण,कृत्रिमप्रजननकरमानववमांसाहारीजीवोंकड़ीकोसंतुलितकरने,मृदासंरक्षण,ईकोटूरिज्म,धार्मिकपर्यटन,प्राकृतिकजलस्रोतोंकोसंरक्षितकरने,ईकोट्रेकिंगकेलिएपशु-पक्षियोंकेलिएविशेषव्यवस्थाकेतहतशैलटरनिर्माण,पेड़ोंकीगिनती,खरपतवारोंकीस्थिति,घटतीजड़ी-बूटी,झाड़ियोंकीउपलब्धतासहित500बिंदुओंपर300सेअधिकस्थानोंकासर्वेक्षणकियाजाचुकाहै।सांख्यिकीसर्वेकेआधारपरअबआंकड़ेजुटानेकाकार्यअंतिमचरणमेंहै।

प्रदेशमेंउत्तरकाशी,तराईपूर्वी,हल्द्वानी,केदारनाथवन्यजीवप्रभाववनंदादेवीराष्ट्रीयपार्कमेंकार्ययोजनातैयारहोनीहै।जबकिमुख्यवन्यसंरक्षकहल्द्वानीकीनिगरानीमेंकेदारनाथवनंदादेवीराष्ट्रीयपार्ककेसर्वेक्षणकाकार्यअंतिमचरणमेंहैजल्दहीपूर्वमेंहुएसर्वेक्षणववर्तमानसर्वेक्षणकीरिपोर्टतैयारकरदीगईहैजिससेकेदारनाथवन्यजीवप्रभागमेंमौजूदपेड़ोंकीवास्तविकसंख्यासहितइसकेअंतर्गतजैवविविधताकेविभिन्नबिंदुओंपरजानकारीमिलसकेगी।भविष्यमेंबहुप्रतीक्षितऋषिकेश-कर्णप्रयागरेलवेलाईननिर्माणप्रस्तावितहैजिसकेतहतकेदारनाथवन्यजीवप्रभागआरक्षितवनका16.8हेक्टेयरभू-भागकेप्रभावितहोनेकाअनुमानहै।

पंकजकुमार,कार्ययोजनाअधिकारी,कार्यालयकर्णप्रयाग