समस्याओं को मनोविज्ञानिक से सांझा करें युवा: डॉ. करनवीर

संवादसहयोगी,फतेहगढ़साहिब:मातागुजरीकॉलेजकेकंप्यूटरसाइंसस्टूडेंट्सवेलफेयरएसोसिएशनद्वाराइंटरनलक्वालिटीइंश्योरेंससेलकेसहयोगसेयुवाओंमेंभावनात्मकतंदुरुस्तीविषयपरऑनलाइनसंवादकाआयोजनकियागया।

इसमेंटाटास्टीलजमशेदपुरसेमनोविज्ञानिकऔरस्पो‌र्ट्समानसिकसेहतट्रेनरडॉ.करनवीरसिंहनेमुख्यवक्ताकेतौरपरशिरकतकी।

उन्होंनेकहाकिलंबेसमयसेमानसिकसेहतकोकमजोरीयाशर्मिदगीकेतौरपरदेखाजाताहै।मौजूदासमयमेंकिसीसलाहकारकीमददलेनेकेविचारकोअच्छानहींमानाजाताऔरजबकोईव्यक्तिमनोविज्ञानिकसहायताकीमांगकरताहैतोलोगनकारत्मकतौरपरआलोचनाकरनेलगतेहै।उन्होंनेकहाकिनौजवानोंकोअपनीइनपरेशानियोंकोमनोविज्ञानियोंसेसांझाकरनाचाहिएऔरसहीरास्तेढूंढनेचाहिए।मौजूदासमयमेंमानसिकबीमारियोंसंबंधीखुलकरविचारकरनाचाहिएऔरइनकासमयरहतासमाधानढूंढनाचाहिए।

कॉलेजकेडायरेक्टरप्रिसिपलडॉ.कश्मीरसिंहनेकहाकियहसमयकीजरूरतहैकिनौजवानोंसेभावनात्मकतंदुरुस्तीकेबारेमेंबातकीजाए।इससमयविद्यार्थीवर्गमेंकाफीतनावहै,जिससेयहजरूरीहोजाताहैऔरउनकीसमस्याओंकोगंभीरतासेसोचनाजाए।कंप्यूटरसाइंसविभागकेप्रमुखडॉ.रश्मीअरोड़ानेकहाकिउन्होंनेसमयकीजरूरतकेअनुसारविद्यार्थियोंकेलिएइससंवादकाआयोजनकियाहै।इसअवसरपरडीनप्लेसमेंटसेलडॉ.हरजीतसिंह,डॉ.संगीताजोशीआदिउपस्थितथे।

ਪੰਜਾਬੀਵਿਚਖ਼ਬਰਾਂਪੜ੍ਹਨਲਈਇੱਥੇਕਲਿੱਕਕਰੋ!