श्रमिकों को अब नहीं मिलेगी चिकित्सा सहायता

जेएनएन,बुलंदशहर।उत्तरप्रदेशभवनएवंअन्यसन्निर्माणकर्मकारकल्याणबोर्डमेंपंजीकृतश्रमिकोंकेलिएबुरीखबरहै।अबश्रमिकोंकोचिकित्सासहायतायोजनाकेतहतमिलनेवालीधनराशिनहींमिलेगी।बोर्डनेअबचिकित्सासहायतायोजनाकोबंदकरदियाहै।

उत्तरप्रदेशभवनएवंअन्यसन्निर्माणकर्मकारकल्याणबोर्डकेसचिवअरविदचौहानने25जूनकोबोर्डमेंपंजीकृतश्रमिकोंकेचिकित्सासहायतायोजनाकोबंदकरदियाहै।जिससेअबश्रमिकोंकोचिकित्सासहायतायोजनामेंमिलनेवालीतीनवदोहजारकीधनराशिनहींमिलपाएगी।श्रमिकचिकित्सासहायतायोजनाकोछोड़अन्ययोजनाओंमेंआनलाइनआवेदनकरउनकालाभउठासकतेहैं।वहीं,इसयोजनाकेबंदहोनेसेजिलेमेंकईहजारश्रमिकप्रभावितहोंगे।

दसहजारश्रमिकोंकोझटका

जिलेकेदसहजारश्रमिकचिकित्सासहायतायोजनाकेतहतआनलाइनआवेदनकरचुकेथे।आवेदनकोस्वीकृतकरलियागयाथा,लेकिनयोजनाकेबंदहोनेसेअबकोईधनराशिनहींमिलनेदसहजारश्रमिकोंकोबड़ाझटकालगाहै।

तीनहजारकीमददपरब्रेक

चिकित्सासहायतायोजनाकेतहतविवाहितश्रमिककोतीनहजारवअविवाहितश्रमिककोदोहजाररुपयेकीधनराशिउपचारकेलिएप्रदानकीजातीथी।योजनाबंदहोनेसेअबमददपरब्रेकलगगयाहै।

बोर्डनेचिकित्सासहायतायोजनाबंदकरदीहै।श्रमिकइसयोजनामेंआवेदननहींकरें।बोर्डकीअन्ययोजनाओंमेंआनलाइनआवेदनकरयोजनाओंकालाभउठासकतेहैं।

-मुकेशकुमारदीक्षित,सहायकश्रमायुक्त