सदन चलाना सामूहिक जिम्मेदारी, आसन के समीप तख्तियां लहराना परंपराओं के अनुरूप नहीं : बिरला

नयीदिल्ली,11अगस्त(भाषा)लोकसभाअध्यक्षओमबिरलानेमॉनसूनसत्रमेंसदनकीकार्यवाहीसुचारूतरीकेसेनहींचलनेपरदु:खप्रकटकरतेहुएबुधवारकोकहाकिसदनकीकार्यवाहीसहमतिएवंसामूहिकजिम्मेदारीकेसाथचलनीचाहिएलेकिनआसनकेसमीपआकरसदस्योंकातख्तियांलहराना,नारेलगानापरंपराओंकेअनुरूपनहींहै।बिरलानेयहभीकहाकिउन्हेंनयेसंसदभवनकानिर्माणअगलेवर्ष15अगस्तसेपहलेपूराहोनेकीउम्मीदहै।लोकसभाअध्यक्षनेसदनकीबैठकअनिश्चितकालकेलिएस्थगितहोनेकेबादसंवाददाताओंसेकहा,‘‘निरंतरव्यवधानकेकारणमहज22प्रतिशतकार्यनिष्पादनरहा।लोकसभाकीकार्यवाहीसुचारूतरीकेसेनहींचली,इसकीमुझेवेदनाहै।’’उन्होंनेकहा,‘‘मेरीकोशिशथीकिसदनपहलेकीतरहचलताऔरसबविषयोंपरचर्चाऔरसंवादहोता।सभीसदस्यचर्चाकरते,जनताकेविषयरखते।लेकिनऐसासंभवनहींहोपाया।’’बिरलानेकहाकिवेपरंपराओंकेअनुरूपसत्रसेपहलेसभीदलोंकेनेताओंसेचर्चाकरतेहैंऔरउनकेमुद्देजाननेकाप्रयासकरतेहैं।उन्होंनेकहाकिगतिरोधवालेकुछमुद्दोंपरवहदलोंकेनेताओंसेचर्चाकरतेहैंऔरसमाधाननिकालनेकाप्रयासकरतेहैं।इसदिशामेंप्रयासकियेगएलेकिनकईमुद्दोंपरसफलतानहींमिली।मॉनसूनसत्रकीबैठक19जुलाईसेशुरूहोनेकेबादसेहीलोकसभाकीकार्यवाहीबाधितरहनेकेबारेमेंपूछेजानेपरलोकसभाअध्यक्षनेकहाकिसहमति-असहमतिलोकतंत्रकीविशेषताहै।कईमुद्दोंपरसहमतिनहींबनपातीहै,गतिरोधबनारहताहै।उन्होंनेकहाकिहमनेइसदिशामेंसंवादकेजरियेकोशिशकीहैऔरभविष्यमेंऔरकोशिशकरेंगे।सदनमेंआसनकेसमीपसदस्योंद्वारातख्तियां,पोस्टरलहरानेकेबारेमेंएकसवालकेजवाबमेंबिरलानेकहाकिहमारीअपेक्षाएंरहतीहैंकिसंसदकीउच्चमर्यादाओंकोबनाएरखें।इससदनमेंवाद-विवादभीहुएहैं,सहमति-असहमतिभीरहतीहैंलेकिनसदनकीमर्यादाएंबनीरहीहैं।लोकसभाअध्यक्षनेकहाकिआसनकेसमीपनहींआना,तख्तियांनहींलानाऔरपोस्टरनहींदिखानाआदिकेबारेमेंनियमोंमेंउल्लेखहै।उन्होंनेकहाकिउनकीविभिन्नदलोंकेनेताओंसेबातहोतीहैतबउनसेभीकहतेहैंकिअपनीबातसंसदीयप्रक्रियाओंएवंमर्यादाकेदायरेमेंकहें।सभीसेअपेक्षाकीजातीहैकिवेनियमप्रक्रियाओंकापालनकरें।एकअन्यसवालकेजवाबमेंउन्होंनेकहाकियहचिंताकीबातहैकिकरोड़ोंरूपयेसंसदकीकार्यवाहीपरखर्चहोतेहैंऔरजबसदननहींचलताहैतबजनतादु:खीहोतीहै।इसकेकारणमुझेभीदु:खहोताहै।बिरलानेकहाकिइसबारेमेंपीठासीनअधिकारियोंकीएकसमितिबनीहै।सदनमेंऐसीगतिविधियोंकोहतोत्साहितकियाजाएऔरसदनमेंज्यादासमयतकचर्चाहो..यहजरूरीहै।उन्होंनेबतायाकि17वींलोकसभाकीछठीबैठक19जुलाई2021कोशुरूहुईऔरइसदौरान17बैठकोंमें21घंटे14मिनटकामकाजहुआ।बिरलानेबतायाकिव्यवधानकेकारण96घंटेमेंकरीब74घंटेकामकाजनहींहोसका।लोकसभाअध्यक्षनेकहा,‘‘निरंतरव्यवधानकेकारणमहज22प्रतिशतकार्यनिष्पादनरहा।’’उन्होंनेबतायाकिसत्रकेदौरानओबीसीसेसंबंधितसंविधान(127वांसंशोधन)विधेयकसहितकुल20विधेयकपारितकियेगए।चारनयेसदस्योंनेशपथली।बिरलानेबतायाकिमॉनसूनसत्रकेदौरान66तारांकितप्रश्नोंकेमौखिकउत्तरदियेगएऔरसदस्योंनेनियम377केतहत331मामलेउठाये।उन्होंनेकहाकिइसदौरानविभिन्नस्थायीसमितियोंने60प्रतिवेदनप्रस्तुतकिये,22मंत्रियोंनेवक्तव्यदियेऔरकाफीसंख्यामेंपत्रसभापटलपररखेगए।लोकसभाअध्यक्षनेबतायाकिसत्रकेदौरानअनेकवित्तीयएवंविधायीकार्यनिष्पादितकियेगए।गौरतलबहैकिसंसदकामॉनसूनसत्र19जुलाईसेशुरूहुआऔर11अगस्त,बुधवारकोअनिश्चितकालकेलिएस्थगितकरदियागया।इसदौरानपेगाससजासूसीमामलाऔरकेंद्रकेतीननयेकृषिकानूनोंएवंअन्यमुद्दोंपरकांग्रेस,तृणमूलकांग्रेससमेतविपक्षीदलोंकेसदस्योंकेशोर-शराबेकेकारणकामकाजबाधितरहा।सरकारनेहंगामेकेबीचहीकईविधेयकोंकोपारितकराया।हालांकिसंविधान(127वांसंशोधन)विधेयक,2021परसामान्यरूपसेचर्चाहुईऔरसर्वसम्मतिसेविधेयककोपारितकियागया।