सामूहिक विवाह समारोह में करा दी नाबालिगों की शादी

आगरा,जागरणसंवाददाता।दोसालपहलेजीआइसीमैदानपरहुएविश्वसेवाचेरिटेबलट्रस्टकेसामूहिकविवाहसमारोहमेंकुछनाबालिगोंकीभीशादीकरादीगई।इसकीपुष्टिजिलाबेसिकशिक्षाधिकारीराजीवकुमारयादवकीजांचरिपोर्टमेंभीहोगईहै।उन्होंनेमामलेमेंदाखिलकिएगएप्रपत्रोंकीजांचअपनेखंडशिक्षाधिकारियोंसेकराई।जांचमेंतीनटीसीसंबंधितखंडशिक्षाधिकारियोंसेसत्यापितहीनहींमिलीं।

महफूजसुरक्षितबचपनसंस्थाकेसमन्वयकनरेशपारसनेबतायाकिशिकायतमिलनेपरवहउसदौरानचाइल्डलाइनटीमकेसाथमौकेपरपहुंचेऔरशादीकेबंधनमेंबंधनेजारहेजोड़ोंकेउम्रसंबंधीदस्तावेजजुटाए,जिसकेआधारपरकुछजोड़ेउन्हेंनाबालिगलगे।उन्होंनेइसकीशिकायतराज्यमहिलाआयोगसदस्यनिर्मलादीक्षितसेकीथी।उन्होंनेमामलेमेंडीएमकोपत्रलिखकरजांचकराई,जोतत्कालीनडीपीओलवकुशभार्गवकोसौंपीगई।उन्होंनेअपनीजांचमेंसभीजोड़ोंकोबालिगबताया।साक्ष्यकेतौरपरउनकेशैक्षिकप्रमाण-पत्रभीलगाए।नरेशपारसनेजबउक्तशैक्षिकप्रमाण-पत्रोंकासत्यापनजिलाबेसिकशिक्षाअधिकारीस्तरसेकराया,तोतीनटीसीसंदिग्धपाईगई।जिलाबेसिकशिक्षाअधिकारीराजीवकुमारयादवनेपत्रलिखकरस्पष्टकियाकिसंबंधितटीसीउनकेखंडशिक्षाधिकारीद्वारासत्यापित(मोहरएवंहस्ताक्षर)नहींहैं।प्रथमदृष्टयातीनोंटीसीसहीवसत्यप्रतीतहोनेमेंसंदेहहै,क्योंकितीनोंविद्यालयकईवर्षपूर्वहीबंदहोचुकेहैं।डीपीओकीजांचआख्यासंदेहकेघेरेमें

मामलेमेंटीसीहीफर्जीमिलनेपरराज्यआयोगसदस्यनिर्मलादीक्षितनेडीएमकोकार्रवाईकेलिएपत्रलिखाहै।उसकीप्रतिनिदेशक,महिलाकल्याणऔरमहिलाएवंबालविकासविभागकोभेजीहै।उनकाकहनाहैकिजिलाप्रोबेशनअधिकारी(डीपीओ)आगराद्वाराभेजीगईजांचआख्यासंदेहकेघेरेमेंहै।बालविवाहकोलेकरसरकारगंभीरहै।इसेरोकनेकेलिएसरकारलगातारअभियानभीचलारहीहै।इसतरहकेसमारोहमेंबालविवाहकराकरबालविवाहकोबढ़ावादियाहै।उन्होंनेमामलेमें15दिनमेंकार्रवाईकीरिपोर्टमांगीहै।