राष्ट्रीय प्रशिक्षुता योजना में होगा संशोधन, गैर-तकनीकी विषयों में पढ़े युवा भी उठा सकेंगे लाभ

नयीदिल्ली,19अप्रैल(भाषा)सरकारनेराष्ट्रीयप्रशिक्षुताप्रशिक्षणयोजना(एनटीएस)मेंसंशोधनकरनेकाप्रस्तावकियाहैऔरइसकाअंतिमकैबिनेटनोटविचारार्थमंत्रिमंडलसचिवालयकेपासभेजागयाहै।योजनामेंप्रस्तावितसंशोधनकेतहतडिग्रीप्रशिक्षुता(एप्रेंटीशिप)योजनामेंगैरतकनीकीविषयोंमेंशिक्षाप्राप्तकररहेछात्र-छात्राओंकोभीशामिलकियाजासकेगा।शिक्षामंत्रालयकेएकअधिकारीने‘भाषा’कोबताया,‘‘उच्चतरशिक्षाविभागनेवर्ष2021-22से2025-26कीअवधिकेलियेराष्ट्रीयप्रशिक्षुताप्रशिक्षणयोजनामेंसंशोधनकरनेकाप्रस्तावकियाहै।’’उन्होंनेबतायाकिअंतरमंत्रालयीविचारविमर्शकेबादराष्ट्रीयप्रशिक्षुताप्रशिक्षणयोजना(एनटीएस)सेसंबंधितअंतिमकैबिनेटनोटकोविचारार्थमंत्रिमंडलसचिवालयकेसमक्षभेजागयाहै।संशोधितयोजनाकेतहतस्नातक,तकनीशियनऔरडिग्रीप्रशिक्षुओंकेशिक्षाप्रशिक्षणकोशामिलकरनेकाप्रस्तावकियागयाहै।इसकेतहतडिग्रीप्रशिक्षुतामेंगैरतकनीकीविषयों(बीए/बीकॉम/बीएससी)आदिमेंशिक्षाप्राप्तकररहेछात्रोंकोभीएनटीएसयोजनाकेतहतशामिलकरनेकाप्रस्तावकियागयाहै।कौशलविकासमंत्रालयकेअनुसार,स्नातकों,तकनीशियनोंऔरडिग्रीप्रशिक्षुओंकेलियेवर्ष2021-22से2025-26कीअवधिकेदौरानमानदेयराशि(स्टाइपेंड)कीप्रतिपूर्तिकेलियेअनुमानितलागत3000करोड़रूपयेकाप्रावधानकियाजासकताहै।गौरतलबहैकिसाल2016मेंराष्ट्रीयप्रशिक्षुतासंवर्धनयोजनाशुरूकीगईथी।भारतसरकारप्रशिक्षुता(एप्रेंटीशिप)केक्षेत्रमेंसंयुक्तअरबअमीरातकेसाथसाझेदारीकरनेजारहीहैजिसकेतहतप्रमाणितकार्यबलकेपरिनियोजनकेसाथकौशलयोग्यताकाआकलन,समीक्षाऔरप्रमाणीकरणकियाजायेगा।इसकेअलावा,भारतऔरजापानकेबीचसहयोगीप्रशिक्षणअंतरप्रशिक्षणकार्यक्रमभीशुरूकियागयाहैजिसकेतहतजापानकेऔद्योगिकऔरव्यावसायिककौशल,तकनीकऔरज्ञानकालाभलियाजासकेगा।