राज्य के सभी गांवों में पूर्ण स्वच्छता लक्ष्य प्राप्त करने के लिए वर्ष 2021-25 तक खर्च होंगे 7,287 करोड़; खुले में शौच से मुक्ति की स्थायी व्यवस्था समेत ठोस व तरल अपशिष्ट प्रबंधन पर होगा काम

राज्यकेसभीगांवोंकोपूर्णस्वच्छयानीखुलेमेंशौचसेमुक्तकरनेकेसाथ-साथठोसएवंतरलअपशिष्टकेप्रबंधनकीव्यवस्थाकीजारहीहै।मुख्यमंत्रीकेसातनिश्चय-2केतहतस्वच्छगांव-समृद्धगांवयोजनाकेतहतलोहियास्वच्छबिहारअभियान(एलएसबीए)द्वितीयचरणकीस्वीकृतिदीहै,जिसेओडीएफप्लसकेनामसेभीजानाजाएगा।

अबयहयोजनावर्ष2021-22से2024-25तकचलेगीऔरइसपर7287.16करोड़खर्चहोंगे।गांवोंकोस्थायित्वरूपसेखुलेमेंशौचमुक्तकियाजानाहै।इसकेलिएनएशौचालयकेनिर्माणकेसाथपुरानेशौचालयकीमरम्मतभीकीजाएगी।मुख्यजोरलोगोंकेशौचकेव्यवहारपरिवर्तनकेलिएजागरूककरने,बचेहुएपरिवारोंकोव्यक्तिगतशौचालयकेनिर्माणमेंमददकेसाथ-साथठोसऔरतरलअवशिष्टकेप्रबंधन(एसएलडब्लूएम)पररहेगा।

एलएसबीएद्वितीयचरणयोजनाकामुख्यउद्देश्य

इसयोजनाकामुख्यउद्देश्यखुलेमेंशौचमुक्‍तबिहारकेलक्ष्‍यकोप्राप्तकरनेकाहै।चरणबद्धतरीकेसेग्रामीणक्षेत्रोंमेंस्‍वच्‍छताकोबढ़ावादेनेकाहै।इसलक्ष्यकोप्राप्तकरनेकेलएपंचायतीराजसंस्‍थानकेप्रतिनिधियों,संकुलस्‍तरीयसंघों,ग्रामसंगठनों,स्‍वयंसहायतासमूहों,नि:शक्‍तस्‍वयंसहायतासमूहविभिन्‍नसरकारीविभागोंएवंगैरसरकारीसंगठनोंसेमददलेनाहै।लोगोंकेसामूहिकव्‍यवहारमेंपरिवर्तनकरनाहै।समुदायआधारितसंपूर्णस्‍वच्‍छतासुनिश्चितकरनेकेलिएठोसएवंतरलअवशिष्‍टकेप्रबंधन(एसएलडब्लूएम)करनाहै।

योजनाकीमॉनिटरिंगराज्यस्तरपरमुख्यसचिवकीअध्यक्षतावालीसमितिकरेगी

इसयोजनाकीमॉनिटरिंगराज्यस्तरपरमुख्यसचिवकीअध्यक्षतावालीसमितिकरेगी।यहसमितिहीराज्यस्तरपरयोजनाकेलिएनीतिनिर्धारणऔरकार्ययोजनाबनाएगी।जबकि,योजनाकेसफलक्रियान्वयनकेलिएग्रामीणविकासविभागकोनोडलविभागबनायागयाहै।