राजिदरा अस्पताल में शव बदले

प्रेमवर्मा/अश्वनीशर्मा,पटियाला/संगरूर:राजिंदराअस्पतालकीमोर्चरीमेंमंगलवारकोदोशवोंकीअदला-बदलीहोगई।जहरीलीवस्तुनिगलनेसेमरनेवालेदोनोंयुवकोंकेशवमोर्चरीमेंरखेगएथे,लेकिनएककाशवयूपीपहुंचगयाऔरदूसरेकापटियालामेंहीरहगया।हालांकिबचावरहाकिकिसीकाभीसंस्कारनहींहुआ।उससेपहलेहीशवोंकीअदला-बदलीकापताचलगया।

दरअसल,जहरीलीवस्तुनिगलनेसेसंगरूरनिवासी30वर्षीयफौजीसिंहकीराजिदराअस्पतालमेंमौतहुईथी।बुधवारसुबहफौजीसिंहकापरिवारशवकापोस्टमार्टमकरवानेमोर्चरीपहुंचा।जैसेहीपुलिसनेलाशकेचेहरेसेकपड़ाहटायातोपरिवारचौकगया।वजहथीकिशवफौजीसिंहकानहीं,बल्किकिसीअन्यव्यक्तिकाथा।उनकेपरिवारनेवहींहंगामाकरडाला।डॉक्टरोंपरआरोपलगायाकिशवकोबदलदियागयाहैऔरलाशकेअंदरूनीहिस्सेनिकाललिएहैं।इसकेबादजांचकीगईतोपताचलाकिकिसीअन्यव्यक्तिनेभीजहरीलीवस्तुनिगललीथी।उसीकीलाशसेफौजीसिंहकीलाशबदलीहोगई।उसकापरिवारखुदकुशीकाकेसहोनेसेघबरागयाथाऔरकानूनीप्रक्रियापूरीहोनेकेबादजल्दबाजीमेंलाशलेकरयूपीरवानाहोगया।यहलाशरामकुमार(32)निवासीउत्तरप्रदेशकेजिलागौंडाकेपरसपुरगिर्दकेजबदालोनियागावकीथी।फिलहालसंगरूरपुलिसनेगलतलाशलेकरजानेवालेएंबुलेंसड्राइवरकेसाथतालमेलकरलाशकोवापसमंगवायाहै।हमेंशककिलाशसेअंगनिकालेगए:रिश्तेदार

फौजीकेबहनपरमजीतकौर,सरबजीतसिंहसाबीवफूलचंदनेबतायाकिफौजीसिंहनेघरेलूकलेशकेचलतेमंगलवारकोजहरीलीदवानिगलीथी।लाशदेखतेहीबतादियाथाकिउनकेसदस्यकीलाशनहींहै।डॉक्टरोंनेगुमराहकिया।शकहैकिफौजीकेशरीरकेअंगोंकोनिकालागयाहै।अबयूपीसेवापसमंगवाईलाशकोदेखनेकेबादहीआगेबातकरेंगे।फिलहाललाशमंगवादी:एएसआइ

संगरूरसिटीवनकेएएसआइजसवीरसिंहनेकहाकियूपीलाशलेकरजानेवालेएंबुलेंसड्राइवरसेतालमेलकरलाशकोवापसलानेकोकहाहै।लाशपहुंचनेकेबादहीअगलीकार्रवाईकीजाएगी।डाक्टरोंकीकोईगलतीनहीं:भुल्लर

फॉरेंसिकविभागकेडॉक्टरडीएसभुल्लरनेकहाकिइसमामलेमेंडॉक्टरोंकीकोईगलतीनहींहै।डॉक्टरोंनेपरिवारकेपहचानकिएजानेकेबादप्रक्रियापूरीकरतेहुएलाशकापोस्टमार्टमकियाहै।एकमाहमेंदूसराऐसामामला

कुछदिनपहलेभीपटियालानिवासीएकव्यक्तिपत्नीकेखुदकुशीकेबादहार्टअटैककाबहानाबनाकरलाशलेकरबिहाररवानाहोगयाथा,जिसेकरनालसेवापसबुलायाथा।बादमेंउसव्यक्तिपरकेसभीदर्जकियागयाथा।

----------------------------------------------------------------------------------------

गौंडामेंमांनेचेहरादेखाकहा-यहतोसिखयुवकहै,लौटायाशव

संस्कारकीहोचुकीथीसारीतैयारियां

उधरगौंडामेंरामकुमारकीमांनेबेटेकाचेहरादेखनेकेलिएकपड़ाहटायातोपताचलाकिशवउनकेबेटेकानहींहै।उससमयतकसंस्कारकीतैयारियांहोचुकीथींलेकिनउससेपहलेहीलापरवाहीपकड़ीगई।उन्होंनेबतायाकिरामकुमारतीनवर्षपूर्वपत्‍‌नीवबच्चोंकोलेकरपटियालाकेदेवीगढ़मेंनौकरीकरनेगयाथा।सोमवाररातउसकेपेटमेंदर्दहुआतोपत्‍‌नीसरलाउसेलेकरराजिंदराअस्पताललेकरपहुंची,जहाउसकीमौतहोगई।मामलासंदिग्धप्रतीतहोनेपरशवकापोस्टमार्टमकरवायागया।मंगलवारकीशामपाचबजेशवपीड़ितपत्‍‌नीकोमिला।उसने26हजारदेकरशववाहनबुककरवायाऔरदोअन्यलोगोंकोसाथलेकरघरकेलिएचली।बुधवारसुबह10बजेशवपहुंचातोमाफूलकलानेबेटेकामुंहदेखनेकेलिएउसकेचेहरेपरपड़ाकपड़ाहटाया।कपड़ाहटनेपरदिखाकिशवरामकुमारकेबजायएकसिखयुवककाहै।इसीबीचशववाहनचालककेपासपटियालासेफोनआगयाकिशवबदलगयाहै।उसेतत्काललेकरचलेआओ।

ਪੰਜਾਬੀਵਿਚਖ਼ਬਰਾਂਪੜ੍ਹਨਲਈਇੱਥੇਕਲਿੱਕਕਰੋ!