पशुपालन से किसानों को जोड़ने की योजना को नहीं लग रहा पंख

नवादा:केंद्रसरकारद्वाराकिसानोंकीआयदोगुनीकरनेकोलेकरकईप्रयासआरंभकिएगएहैं।इसकेतहतपशुपालनसेभीकिसानोंकोजोड़नेकेलिएकईयोजनाएंलाईगईहै।लेकिनपशुपालनविभागमेंकर्मियोंकीकमीवप्रचार-प्रसारकेअभावमेंयोजनाओंकोपंखनहींलगरहाहै।विभागकीअधिकांशयोजनाएंफाइलोंमेंहीधूलफांकरहीहै।यहकिसानोंकेलिएकारगरसाबितनहींहोपारहाहै।किसानोंकाकहनाहैकिविभागीयव्यवस्थानिष्क्रियहोनेकीवजहसेऐसाहोरहाहै।पशुपालनविभागएवंनाबार्डद्वाराकिसानोंकेलिएगव्यविकासयोजना,समेकितभेड़बकरीयोजना,मुर्गीपालनयोजनासमेतकईयोजनाएंचलाईजारहीहै।वित्तीयवर्ष2017-18मेंसमेकितभेड़बकरीयोजनाकेतहतकिसानोंकोरोजगारसेजोड़नेकेलिएऑनलाइनआवेदनलियागया।इसकेलिएजिलेकेकुल57किसानोंनेआवेदनकियाथा।जिसमेंविभागद्वारामात्र15किसानोंकोयोजनासेजोड़ागया।इसकेपूर्वभीकिसानोंकोसमुचितलाभप्रदाननहींकियागया।योजनाकासमुचितलाभनहींमिलनेसेकिसानोंमेंनिराशाहै।जिलेकेकिसानपशुपालनसेअपनामुंहमोड़रहेहैं।हालांकिअधिकारीअपनेस्तरसेकमियांहोनेसेइंकारकरतेहैं।

कर्मियोंकीकमीऔरप्रचार-प्रसारकाअभाव

-पशुपालनविभागमेंकर्मियोंकाकाफीअभावहै।एकहीकर्मीकोविभागकाकईकार्यसौंपदियागयाहै।इसकेकारणविभागीयकार्यमेंतेजीनहींआरहीहै।इसकेसाथहीविभागद्वाराकिसानोंकेलिएचलाईजारहीयोजनाओंकाप्रचार-प्रसारसहीढ़ंगनहींकरायाजारहाहै।इसकीवजहसेकिसानोंकोसमयसेयोजनाओंकीजानकारीनहींमिलपारहीहै।जिलेकेकिसानजानकारीकेअभावमेंयोजनाओंसेवंचितहोरहेहैं।

कितनेलोगोंकोऋणकीमिलीस्वीकृति

-लेयरफार्मिंग-03

कहतेहैंअधिकारी

-विभागद्वारापशुपालकोंकोरोजगारसेजोड़नेकेलिएकईयोजनाएंचलाईजारहीहै।ऋणलेकररोजगारकरनेवालेइच्छुकपशुपालकोंकेआवेदनकीजांचकरविभागद्वारास्वीकृतकरबैंककोअग्रसारितकियाजारहाहै।पशुपालकोंकोरोजगारसेजोड़नेकेलिएयोजनाओंकोहमेशाप्रचार-प्रसारकरायाजारहाहै।

डॉ.संजयकुमार,प्रभारीजिलाकुक्कुटपदाधिकारी,नवादा।

-विभागीयस्तरपरकिसानोंकोरोजगारसेजोड़नेहेतुयोजनाओंकालाभप्रदानकियाजारहाहै।पशुपालकोंकोपशुकेइलाजहेतुसभीसुविधाउपलब्धकराईजारहीहै।

डॉ.सुनीलरंजन¨सह,प्रभारीजिलापशुपालनपदाधिकारी,नवादा।