परीक्षा की अवधि कम करें, जुलाई से आनलाइन या आफलाइन परीक्षा आयोजित करें : यूजीसी

नयीदिल्ली,30अप्रैल(भाषा)विश्विवद्यालयकोविड-19कीस्थितिऔरव्यवहार्यताकोदेखतेहुएजुलाईमेंआनलाइनयाआफलाइनमाध्यमसेसेमेस्टरपरीक्षाआयोजितकरसकतेहैंऔरपरीक्षाकीअवधिकोतीनघंटेसेघटाकरदोघंटाकियाजासकताहै।विश्वविद्यालयअनुदानआयोग(यूजीसी)नेअपनीसिफारिशोंमेंयहकहाहै।आयोगनेकोविड-19महामारीएवंलॉकडाउनकेमद्देनजरविश्वविद्यालयोंकेलियेपरीक्षाएवंअकादमिककैलेंडरसंबंधीदिशानिर्देशोंकाब्यौरादेतेहुएकहाकिअंतिमसेमेस्टरकेछात्रोंकेलियेपरीक्षाजुलाईमेंआयोजितकीजाए।यूजीसीनेअपनीसिफारिशोंमेंकहाकिमध्यसेमेस्टरकेछात्रोंकामूल्यांकनयातोआंतरिकमूल्यांकनकेआधारपरहोयाजिनराज्योंमेंकोविड-19कीस्थितिसामान्यहोजाए,वहांजुलाईमेंपरीक्षाआयोजितकरकेइसकानिर्धारणहो।इसमेंकहागयाहैकिविश्वविद्यालयअपनीउपलब्धसहायकव्यवस्थाकेआधारपरयहतयकरसकतेहैंकिपरीक्षाआनलाइनलीजाएयाआफलाइनहो,साथहीसभीछात्रोंकोपर्याप्तएवंबराबरीकामौकाप्रदानकियाजाए।यूजीसीनेकहाहैकि,‘‘विश्वविद्यालयपरीक्षाआयोजितकरनेकेवैकल्पिकएवंसरलउपायोंकोअपनासकतेहैंताकिप्रक्रियाकमसमयमेंपूरीकीजासके।वेपरीक्षाकीअवधिकोतीनघंटेसेघटाकरदोघंटेकरसकतेहैं।’’इसमेंकहागयाहैकिवेपरीक्षाकीयोजना,नियमएवंनियमनकेअनुसारआनलाइनयाआफलाइनपरीक्षालेसकतेहैंऔरइसमेंसामाजिकदूरीकेदिशानिर्देशोंकाजरूरपालनकरें,साथहीयहसुनिश्चितकरेंकिसभीछात्रोंकोउचितमौकामिले।आयोगनेकहाहैकिकोविड-19केमद्देनजरछात्रोंकीसुरक्षाऔरस्वास्थ्यपहलीप्राथमिकताहैऔरउनकीग्रेडिंग50प्रतिशतआंतरिकमूल्यांकनकेआधारपरऔरशेष50प्रतिशतपिछलेसेमेस्टरकेप्रदर्शनकेआधारपरकियाजासकताहै।इसमेंकहागयाहैकिजहांपिछलेसेमेस्टरयापिछलेवर्षकेअंकउपलब्धनहींहैं,खासतौरपरप्रथमवर्षकेवार्षिकपरीक्षापैटर्नमें,वहां100प्रतिशतजांच,आंतरिकमूल्यांकनकेआधारपरकीजासकतीहै।