प्राइवेट स्कूलों के विद्यार्थियों को भी बोर्ड परीक्षाओं में मिले नजदीक सेंटर

-जिसगांवमेंहोप्राइवेटस्कूलयाफिरनजदीकीगांवमेंहोनाचाहिएपरीक्षाकेंद्र

-प्राइवेटस्कूलएसोसिएशनकीजिलामुख्यालयपरहुईबैठक

-कहा:सभीग्रामीणप्राइवेटस्कूलोंकापरीक्षाकेंद्रशहरमेंदेनाउचितनहीं

-मांगकोलेकरसमाधानकेलिएउपायुक्तकोसौंपेंगेज्ञापन

-दसवींतथादसजमादोकक्षाकीपरीक्षामेंभेदभावबरतेजानेकालगारहेआरोपजागरणसंवाददाता,झज्जर:प्राइवेटस्कूलकेविद्यार्थियोंकोभीबोर्डपरीक्षाओंमेंनजदीककासेंटरमिलनाचाहिए।उनकेसाथभेदभावकीनीतिकाअसरशिक्षापरभीपड़ेगा।इसीविषयकोकेंद्रमेंरखतेहुएप्राइवेटस्कूलएसोसिएशननेदसवींवदसजमादोकीपरीक्षामेंभेदभावबरतेजानेकाभीआरोपलगाया।उन्होंनेकहाकिएकतरफतोगांवकेसरकारीस्कूलोंकेविद्यार्थियोंकोउसीगांवयानजदीकीगांवमेंपरीक्षाकेंद्रदियाजारहाहै।वहीं,दूसरीतरफप्राइवेटस्कूलोंकेविद्यार्थियोंकोदूरशहरमेंपरीक्षाकेंद्रमुहैयाकिएजारहेहैं।सोमवारकोसनराइजसीनियरसेकेंडरीस्कूलमेंप्राइवेटस्कूलएसोसिएशनकीबैठकप्रधानजगबीरसिंहकीअध्यक्षतामेंहुई।जिसमेंहरियाणाविद्यालयशिक्षाबोर्डकेअंतर्गतआनेवालेप्राइवेटस्कूलसंचालकोंनेबोर्डपरीक्षाओंमेंपरीक्षाकेंद्रनजदीकदेनेकेमुद्देकोउठातेहुएगंभीरतासेचर्चाकी।उन्होंनेकहाकिजिनगांवोंमेंनिजीस्कूलहैं,उन्हींगांवमेंविद्यार्थियोंकेलिएबोर्डकापरीक्षाकेंद्रबनायाजाए।यदिउसगांवमेंपरीक्षाकेंद्रनहींहैंतोजहांनजदीक5से7किलोमीटरदायरेमेंपरीक्षाकेंद्रहो,वहांपरदिएजाए।जबकि,इसकाउल्टादूरशहरमेंपरीक्षाकेंद्रदेनेकाफरमानगलतहै।ऐसेमेंविद्यार्थीऔरउनकेपरिवारकेलोगपरेशानहोतेहैं।परीक्षाकेंद्रदूरआनेकेकारणपरीक्षाओंकेदौरानबच्चोंकीपरीक्षाभीप्रभावितहोतीहै।सरकारीस्कूलोंकेसाथऐसानहींहोता।प्राइवेटस्कूलोंकेसाथहीभेदभावकियाजारहाहैं।सभीनेकहाकिप्राइवेटस्कूलोंवसरकारीस्कूलोंकेलिएएकहीनियमबनानाचाहिए।नजदीकपरीक्षाकेंद्रदेनेकीमांगकोलेकरवेउपायुक्तकोभीज्ञापनसौंपेंगे।बॉक्स:बैठकमेंमुख्यरूपसेसिलानास्थितमूनलाइटस्कूलकेसंचालकजगबीरसिंह,सनराइजस्कूलकेसंचालकरणधीरसिंहयादव,कासनीस्थितसीआरस्कूलकेसंचालकसुखबीरसिंह,लोहारीस्थितआदर्शस्कूलकेसंचालकपीतांबर,पाटौदास्थितरिलाइंसस्कूलकेसंचालकरामनिवास,छपारस्थितएसडीस्कूलसेकृष्ण,सिलानीस्थितएमडीस्कूलसेसुरेंद्र,भदानीस्थितजेएसस्कूलसेजोगेंद्रसिंह,साल्हावासस्थितबीकेडीस्कूलसेजितेंद्रकुमार,होलीग्रासस्कूलसेप्रियाचावला,सीकेमेमोरियलस्कूलसेनरेशकुमारसहितअन्यनिजीस्कूलोंकेमुखियाएवंप्रतिनिधिमौजूदरहे।