Positive India : कोटा के किसान ने आम की ऐसी किस्म विकसित की जिसमें बारहों महीने फल आता है

नईदिल्ली,अनुरागमिश्र।राजस्थानकेकोटानिवासीकिसानश्रीकृष्णसुमन(55वर्ष)नेआमकीएकऐसीनईकिस्मविकसितकीहैजिसमेंनियमिततौरपरपूरेसालसदाबहारनामकाआमपैदाहोताहै।आमकीयहकिस्मआमकेफलमेंहोनेवालीज्यादातरप्रमुखबीमारियोंऔरआमतौरपरहोनेवालीगड़बड़ियोंसेमुक्तहै।

इसकाफलस्वादमेंज्यादामीठा,लंगड़ाआमजैसाहोताहैऔरनाटापेड़होनेकेचलतेकिचनगार्डनमेंलगानेकेलिएउपयुक्तहै।इसकापेड़काफीघनाहोताहैऔरइसेकुछसालतकगमलेमेंभीलगायाजासकताहै।इसकेअलावाइसकागूदागहरेनारंगीरंगकाऔरस्वादमेंमीठाहोताहै।इसकेगूदेमेंबहुतकमफाइबरहोताहैजोइसेअन्यकिस्मोंसेअलगकरतहै।पोषकतत्वोंसेभरपूरआमस्वास्थ्यकेलिएबहुतअच्छामानाजाताहै।

आमकीइसनईकिस्मकाविकासकरनेवालेगरीबकिसानश्रीकृष्णनेकक्षादोतकपढ़ाईकरनेकेबादस्कूलछोड़दियाथाऔरअपनापारिवारिकपेशामालीकाकामशुरूकरदियाथा।उनकीदिलचस्पीफूलोंऔरफलोंकेबागानकेप्रबंधनकरनेमेंथीजबकिउनकापरिवारसिर्फगेहूंऔरधानकीखेतीकरताथा।उन्होंनेयहजानलियाथाकिगेहूंऔरधानकीअच्छीफसललेनेकेलिएकुछबाहरीतत्वोंजैसेबारिश,पशुओंकेहमलेसेरोकथामऔरइसीतरहकीचीजोंपरनिर्भररहनाहोगाऔरइससेसीमितलाभहीमिलेगा।

उन्होंनेपरिवारकीआमदनीबढ़ानेकेलिएफूलोंकीखेतीशुरूकी।सबसेपहलेउन्होंनेविभिन्नकिस्मकेगुलाबोंकीखेतीकीऔरउन्हेंबाजारमेंबेचा।इसकेसाथहीउन्होंनेआमकेपेड़लगानाभीशुरूकिया।

सन्2000मेंउन्होंनेअपनेबागानमेंआमकेएकऐसेपेड़कोदेखाजिसकेबढ़नेकीदरबहुततेजथी,जिसकीपत्तियांगहरेहरेरंगकीथी।उन्होंनेदेखाकिइसपेड़मेंपूरेसालबौरआतेहैं।यहदेखनेकेबादउन्होंनेआमकेपेड़कीपांचकलमेंतैयारकी।इसकिस्मकोविकसितकरनेमेंउन्हेंकरीब15सालकासमयलगाऔरइसबीचउन्होंनेकलमसेबनेइसपौधोंकासंरक्षणऔरविकासकिया।उन्होंनेपायाकिकलमलगानेकेबादपेड़मेंदूसरेहीसालसेफललगनेशुरुहोगए।

इसनईकिस्मकोनेशनलइनोवेशनफाउंडेशन(एनआईएफ)इंडियानेभीमान्यतादी।एनआईएफभारतसरकारकेविज्ञानएवंप्रौद्योगिकीविभागकेतहतएकस्वायत्तसाशीसंस्थानहै।एनआईएफनेआईसीएआर-राष्ट्रीयबागबानीसंस्थानइंडियनइंस्टीट्यूटऑफहार्टिकल्चरलरिसर्च(आईआईएचआर),बैंगलौरकोभीइसकिस्मकास्थलपरजाकरमूल्यांकनकरनेकीसुविधादी।इसकेअलावाराजस्थानकेजयपुरकेजोबनरस्थितएसकेएनएग्रीकल्चरयूनिवर्सिटीनेइसकीफील्डटेस्टिंगभीकी।अबइसकिस्मका,पौधाकिस्मएवंकृषकअधिकारसंरक्षणअधिनियमतथाआईसीएआर-नेशनलब्यूरोऑफप्लांटजेनेटिकरिसोर्सेज(एनवीपीजीआर)नईदिल्लीकेतहतपंजीकरणकरानेकीप्रक्रियाचलरहीहै।

एनआईएफनेनईदिल्लीकेराष्ट्रपतिभवनस्थितमुगलगार्डेनमेंइससदाबहारआमकीकिस्मकापौधाकरानेमेंभीसहायताकीहै।इससदाबहारकिस्मकेआमकाविकासकरनेकेलिएश्रीकृष्णसुमनकोएनआईएफकानौवांनेशनलग्रासरूटइनोवेशनएंडट्रेडिशनलनॉलेजअवार्डदियागयाहैऔरइसेकईअन्यमंचोंपरभीमान्यतादीगईहै।

श्रीकृष्णसुमनको2017से2020तकदेशभरसेऔरअन्यदेशोंसेभीसदाबहारआमकेपौधोंके8000सेज्यादाऑर्डरमिलचुकेहैं।वह2018से2020तकआंध्रप्रदेश,गोवा,बिहार,छत्तीसगढ़,गुजरात,हरियाणा,हिमाचलप्रदेश,झारखंड,केरल,कर्नाटक,मध्यप्रदेश,महाराष्ट्र,ओडिशा,पंजाब,राजस्थान,तमिलनाडु,त्रिपुरा,उत्तरप्रदेश,उत्तराखंड,पश्चिमबंगाल,दिल्लीऔरचंडीगढ़को6000सेज्यादापौधोंकीआपूर्तिकरचुकेहैं।500सेज्यादापौधेराजस्थानऔरमध्यप्रदेशकेकृषिविज्ञानकेंद्रोंऔरअनुसंधानसंस्थानोंमेंवेखुदलगाचुकेहैं।इसकेअलावाराजस्थान,उत्तरप्रदेश,मध्यप्रदेशऔरगुजरातकेविभिन्नअनुसंधानसंस्थानोंकोभी400सेज्यादकलमेंभेजचुकेहैं।