PMKVY : प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना से जुड़कर आप कर सकते हैं 100 से अधिक कोर्स, नौकरी पक्की

जमशेदपुर,जासं।प्रधानमंत्रीकौशलविकासयोजना(skillindia)केअधीनकईसंस्थाएंनिबंधितहोचुकीहै।वेइसयोजनासेजुड़करकईतरहकेकोर्सकरवारहीहै।आपभीइसयोजनासेसीधेजुड़सकतेहैं।यहभारतीययुवाओंकोतकनीकीरूपसेदक्षबनानेकेलिएप्रारंभकीगईमहत्वपूर्णनिश्शुल्कयोजनाहै।प्रधानमंत्रीकौशलविकासयोजनाकेअंतर्गत100सेअधिकपाठ्यक्रमोंकोशामिलकियागयाहै।

इसयोजनाकाउद्देश्ययुवाओंकोरोजगारकेलिएकुशलबनानेकाहै।यहएकपरीक्षणयोजनाहै,जिसमेंपरीक्षाकेद्वाराभारतीययुवाओंकोविभिन्नक्षेत्रोंमेंउनकेकौशलकोविकसितकरएकआयामदेनाइसयोजनाकालक्ष्यहै,ताकिउन्हेंरोजगारप्रदानकियाजासके।इसयोजनाकोबेहतरढंगसेक्रियान्वितकरनेकेलिएभारतसरकारनेएकनएमंत्रालय“कौशलविकासएवंउद्यमितामंत्रालय”कीशुरुआतकीहै।इसयोजनासेजुड़नेलिएआपकोसीधेपरक्लिककरनाहोगा।

मैट्रिकपासयुवकस्किलइंडयासेजुड़नेकेलिएकरेंआवेदन

ऐसेलोगजोमैट्रिक,दसवींयाबारहवींकेबादपढ़ाईछोड़चुकेहैंऔरकिसीतरहकाकौशलविकासकाप्रमाणपत्रनहोनेकेकारणरोजगारनहींमिलपारहाहै,वेइससेजुड़े।उन्हेंअवश्यकलाभमिलेगा।उनकेलिएइसयोजनामेंपरीक्षणऔरप्रशिक्षणदोनाेंकीसुविधाभारतसरकारद्वाराप्रदानकीजातीहै।यहप्रशिक्षणउम्मीदवारकीप्रतिभाकोनिखारताहै।प्रशिक्षणपूराहोनेकेबादआपकोनौकरीभीमिलसकतीहै।यहनौकरीजिलाप्रशासनभीउपलब्धकरवासकतीहै।

परीक्षामेंसफलउम्मीदवारकोमिलेंगे8000रुपए

प्रधानमंत्रीकौशलविकासयोजनासेजुड़नेवालेउम्मीदवारकोपरीक्षाभीदेनीहोगी।परीक्षामेंसफलहोनेपरउन्हेंसरकारकीओरसे8000रुपएकामानदेयऔरप्रमाणपत्रप्रदानकियाजाएगा।यहप्रमाणपत्रसभीतरहकीकंपनियोंमेंकारगरसाबितहोगा।अगरवेअपनाउद्यमशुरूकरनाचाहतेहैंतोइसकीभीव्यवस्थायहांहै।उसआधारकाप्रशिक्षणभीप्राप्तकरसकतेहैं।साराप्रशिक्षणनिश्शुल्कहै।

येहैंप्रमुखकोर्स,जिसपरहैयुवाओंकीनजर

एग्रीकल्चर,होमफर्निसिंग,ऑटोमोटिव,ब्यूटीएंडवेलनेस,बीएफएसआइ,केपिटलगूडस,कंस्ट्रक्शन,घरेलूकार्य,इलेक्ट्रॉनिक्स,हेल्थकेयर,फूडइंडस्ट्रीकेपासिटीएंडस्किलइनिशिएटिव,फर्निचरएंडफिटिंग,जेएएंडज्वेलरी,हैंडीक्राफ्टएंडकारमेल,इंडियनआयरनएंडस्टील,इंडियनप्लबिंग,इंफ्रास्टक्चरइक्विपमेंट,आइटी,लेदर,लाइफसाइंस,लॉजिस्टिकस,मीडियाएंडइंटरटेनमेंट,माइनिंग,पावर,रिलेटर्सएसोसिएशनस,रबर,सेक्यूरिटी,स्किलकाउंसिलफॉरग्रीनजॉब्स,स्किलकाउंसिलफॉरपर्सनविथडिसेबिलिटी,स्पोट्र्स,टेलीकॉम,टेक्सटाइल,टूरिजमएंडहोस्पिटालिटी।

प्रधानमंत्रीकौशलविकासयोजनासेजुड़नेकेलिएकरेंइनप्रकियाओंकापालन