पहले दंगे और फिर कोरोना के कारण उत्तरी-पूर्वी दिल्ली के बोर्ड परीक्षार्थियों के लिए परीक्षा की घड़ी

(गुंजनशर्मा)नयीदिल्ली,सातअप्रैल(भाषा)उत्तरपूर्वीदिल्लीकेजिनछात्रोंकीसीबीएसईकी10वींऔर12वींबोर्डकीपरीक्षापहलेदंगोंऔरफिरबादमेंकोविड-19केप्रकोपकीवजहसेटलगईथी,उनकेलियेपरीक्षाकाइंतजार‘धीरजकाइम्तिहान’बनगयाहै।उत्तरपूर्वीदिल्लीकेदंगाप्रभावितक्षेत्रकीरहनेवालीरानीकुमारीनेबतायाकिसीएएकोलेकरहुईहिंसाकेदौरानहमेशायहडरलगारहताथाकिपतानहींकबदरवाजेपरकोईखट-खटहोऔरवहबुरीखबरकीतरहआए,लेकिनहिम्मतथीकि‘‘यहवक्तभीगुजरजाएगा।’’मौजपुरकीरहनेवालीरानीनेबताया,‘‘लेकिनअबयहअंतहीनप्रतीक्षामेंबदलगयाहै।अबतोमेरापढ़नेकाभीमननहींकरता।पहलेलगाथाकियहवक्तभीगुजरजाएगा।आखिरकोईएकहीचीजकोकितनीबारपढ़सकताहै?अबतोशायदपरीक्षाकीतारीखआनेकेबादहीमैंपढ़ाईकरुंगी।’’वहीं,चांदबागकेरहनेवालेरविनेपीटीआई..भाषाकोबताया,‘‘बचपनसेहमेंसमझायागयाकिबोर्डपरीक्षाबहुतजरूरीहैऔरदोसालपहलेसेहीउसकीतैयारीमेंजुटनापड़ताहै।लेकिनअबसबकुछबेमानीलगताहै,कोईउत्साहनहींबचाहै।अबतोबोर्डपरीक्षासेज्यादाधीरजकीपरीक्षाहोरहीहै।’’उत्तरी-पूर्वीदिल्लीकेहीगोकलपुरीकेरहनेवालेगगनदीपसिंहनेबताया,‘‘मुझेलगताहैकिजिंदगीभरयादरहेगाकि10वींकीपरीक्षाकेदौरानमैंकितनापरेशानरहाथा।परीक्षाऔरउसमेंअच्छेअंकलानेकातनावतोअबबेकारकीबातलगतीहै,खासकरतबजबहमदंगोंऔरवैश्विकमहामारीकासामनाकररहेहैं।’’फरवरीमेंउत्तरी-पूर्वीदिल्लीमेंदंगेभड़कगए।इसहिंसामें53लोगोंकीमौतहुई,200सेज्यादालोगजख्मीहुएऔरसंपत्तिकाबेतहाशानुकसानहुआ।इसहिंसानेसबसेज्यादाजाफराबाद,मौजपुर,चांदबाग,खुरेजीखासऔरभजनपुराइलाकेकोप्रभावितकिया।हिंसाकेकारणकेन्द्रीयमाध्यमिकपरीक्षाबोर्ड(सीबीएसई)नेक्षेत्रके80सेज्यादापरीक्षाकेन्द्रोंपरपरीक्षाएं29फरवरीतककेलिएस्थगितकरदीथीं।हालांकि,बाकीपरीक्षाएंदोमार्चसेहुईं,क्योंकिबोर्डअधिकारियोंकामाननाथाकिदेरीसेछात्रोंकोकॉलेजोंमेंदाखिलालेनेमेंदिक्कतआएगी।बोर्डनेनएसिरेसेपरीक्षाकीतारीखबतायीजिसकेतहत12वींकीपरीक्षा31मार्चसे14अप्रैलतकजबकि10वींकीपरीक्षा21से30मार्चतकहोनीथी।लेकिन,कोरोनावायरससंक्रमणफैलनेकोदेखतेहुए24मार्चकीमध्यरात्रिसेदेशमें21दिनकालॉकडाउनलागूहोगया।अबबोर्डकेअधिकारियोंकाकहनाहैकिलॉकडाउनसमाप्तहोनेकेबादछात्रोंकोपरीक्षाके10दिनपहलेसूचनादीजाएगी।केन्द्रीयस्वास्थ्यमंत्रालयकेअनुसार,देशमेंकोरोनावायरससंक्रमणसेमंगलवारतक114लोगोंकीमौतहुईहैजबकि4,421लोगोंकेसंक्रमितहोनेकीपुष्टिहुईहै।