फेस्टिवल सीजन से बढ़ी बाजारों में रौनकें, राखियां खरीदने के लिए उमड़ रही महिलाएं

जागरणसंवाददाता,सिरसा:कोरोनासंक्रमणकेबादअबबाजारमेंधीरेधीरेरौनकेंदिखाईदेनेलगीहै।रक्षाबंधन,जन्माष्टमीइत्यादिपर्वोंकोलेकरलोगखरीदारीमेंजुटेहुएहै।शहरकेमुख्यबाजारोंमेंजगहजगहराखियोंकीस्टालेंलगीहुईहै,जहांमहिलाओं,युवतियोंकीभीड़लगीरहतीहै।महिलाएंअपनेभाइयोंकेसाथसाथभाभी,भतीजेवभतीजीकेलिएराखियां,चाकलेटवगिफ्टखरीदरहीहै।रोड़ीबाजार,मोहंतामार्केटमेंआकर्षकडिजाइनोंकीराखियोंकीस्टालेंसजीहुईहै।इसकेअलावाबरनालारोड,जगदेवसिंहचौक,हिसाररोड,रानियांरोडइत्यादिमेंभीराखियोंकीदुकानेंलगीहै।----------10सेलेकर1000रुपयेतककीराखियांबाजारमेंआकर्षकडिजाइनोंकीराखियां,रक्षासूत्र,सजावटीप्लेटेंइत्यादिमौजूदहै।राखियोंकेरेटदसरुपयेसेलेकरएकहजाररुपयेतकहै।इनमेंसाधारणराखियां,चंदन,कुमकुम,ब्रेसलेटतथाचांदीकेब्रेसलेटकीराखियांहै।इसकेअलावाबच्चोंकेलिएतरहतरहकेकार्टूनवलाइटलगीराखियांभीहै।महिलाओंकेलिएकंगनकेसाथबांधेजानेवालेरक्षासूत्रहै,जिनकीकीमत200से500रुपयेतकहै।-------राखीबांधनेकायहरहेगामुहूर्तइसवर्षपूर्णिमा21अगस्तकोशामपांचबजकर30मिनटसे22अगस्तकोशामपांचबजकर38मिनटतकरहेगी।शुभमुहूर्त22अगस्तकीसुबहपांचबजकर50मिनटसेलेकरछहबजकरतीनमिनटतकरहेगा।दोपहरकाशुभमुहूर्तएकबजकर44मिनटसेलेकर4बजकर23मिनटतकरहेगा।राहुकालशामसाढ़ेचारबजेसेलेकरछहबजेतकहै।इसवर्षभद्राकीछायानहींहै।शोभनयोगकेविशेषमहत्वकेसाथयहपर्वसबकाकल्याणकरनेवालाहै।