पाक सेना का बयान - देश युद्ध नहीं चाहता, लेकिन अप्रत्याशित जवाब के लिए तैयार रहे भारत

(सज्जादहुसैन)इस्लामाबाद,22फरवरी(भाषा)पाकिस्तानीसेनानेशुक्रवारकोकहाकिउनकादेशयुद्धनहींचाहता।हालांकि,उसनेभारतकोचेतावनीदीकिअगरवहकोईभीआक्रामकसैन्यकदमउठाताहैतोउसका‘अप्रत्याशित’जवाबदियाजाएगा।उल्लेखनीयहैकिपुलवामाआतंकीहमलेकेबाददोनोंदेशोंकेबीचतनावएकबारफिरबढ़गयाहै।पुलवामाआतंकीहमलेमेंसीआरपीएफके40जवानशहीदहोगएथे।इंटर-सर्विसेजपब्लिकरिलेशंस(आईएसपीआर)केमहानिदेशकमेजरजनरलआसिफगफूरनेएकसंवाददातासम्मेलनमेंयहभीकहाकिभारतने‘‘बिनाउचितजांच’’केपुलवामाहमलेकेलिएपाकिस्तानकोदोषीठहरायाऔरभारतनेअबतक"विभाजनकीवास्तविकता"कोस्वीकारनहींकियाहै।पाकिस्तानस्थितजैश-ए-मोहम्मदद्वारा14फरवरीकोपुलवामामेंआतंकवादीहमलेकोअंजामदियेजानेकेबादसेनाकेप्रवक्तानेकहा,‘‘हमारा72वर्षकाइतिहासहै।विभाजन1947मेंहुआथाऔरतबपाकिस्तानआजादहुआथा।भारतअभीभीयहस्वीकारनहींकरपायाहै।"सेनाकेप्रवक्तानेकहा,‘‘हमयुद्धकीतैयारीनहींकररहेहैं,आप(भारत)धमकीजारीकररहेहैं...हमेंधमकियोंकाजवाबदेनेकाअधिकारहै।हमपहलकरनेकीतैयारीनहींकररहेहैं,बल्किबचावऔरजवाबकीयोजनाबनारहेहैंजोहमाराअधिकारहै।"उन्होंनेकहा,‘‘अगरआप(भारत)पहलेकोईप्रतिक्रियाशुरूकरेंगे,तोआपहमेंकभीचकितनहींकरपाएंगे...हमआपकोहैरानकरदेंगे।’’गफूरनेचेतायाकियुद्धकीस्थितिमेंइसबारसेनाकीप्रतिक्रियाअलगतरहकीहोगी।उन्होंनेकहा,‘‘हमअतीतकीसेनानहींहैं,हमएककठोरसेनाहैं।हमनेएकअदृश्यदुश्मनकेखिलाफलड़ाईलड़ीहैऔरजीतहासिलकी।’’गफूरनेतैयारियोंकीप्रकृतिकेबारेमेंपूछेगएएकसवालपरकहा,"हमयुद्धकीतैयारीनहींकररहेहैं,लेकिनहमजवाबदेनेकीतैयारीकररहेहैंऔरजिसजवाबकीआवश्यकताहोगी,हमनेउसकेलिएतैयारीकीहै।’’उन्होंनेकहाकिगुरुवारकोप्रधानमंत्रीइमरानखाननेसेनाकोकिसीभीहमलेकीस्थितिमेंदेशकीरक्षाकेलिएसभीकदमउठानेकेलिएअधिकृतकियाहै।गफूरनेकहाकिपुलवामाहमलापाकिस्तानकेलिएनकारात्मकथाक्योंकियहतबहुआजबपाकिस्तानमेंकईमहत्वपूर्णघटनाएंहोरहीथीं।उन्होंनेआरोपलगायाकिपुलवामाहमलाभारतीयसुरक्षाबलोंकी‘‘विफलता’’कोदर्शाताहै।नियंत्रणरेखाकेपासभारतीयसुरक्षाबलोंनेबहुस्तरीयसुरक्षाव्यवस्थाकररखीहै...इसलिएपुलवामाहमलाभारतीयसुरक्षाबलोंकीविफलताकोदर्शाताहै।’’उन्होंनेकहाकिभारतकोकश्मीरपर‘‘आत्म-मंथन’’कीजरूरतहै।उन्होंनेकहा,‘‘पुलवामाहमलानियंत्रणरेखासेमीलोंदूरहुआ।इस्तेमालकिएगएविस्फोटकस्थानीयकिस्मकेथे,इस्तेमालकियागयावाहनस्थानीयथाऔरजिसनेहमलेकोअंजामदिया,वहभीस्थानीययुवकथा।’’गफूरनेकहा,‘‘हमकहरहेहैंकिआइएहमलेपरबातकरें,आतंकवादऔरशांतिकेबारेमेंबातकरें।सबसेबड़ामुद्दाकश्मीरहैऔरआइएइसबारेमेंबातकरें।’’उन्होंनेकहा,‘‘हमदोलोकतंत्रहैंऔरलोकतंत्रझगड़ानहींकरते।’’बादमेंएकबयानमेंउन्होंनेकहाकिदेशकेसेनाप्रमुखकमरजावेदबाजवानेएलओसीकादौराकियाऔरसैनिकोंकीतैयारियोंकीस्थितिकीसमीक्षाकी।आतंकीहमलेकेबाददोनोंदेशोंकेबीचतनावबढ़नेकेबीचएलओसीपरसेनाप्रमुखकीयहपहलीयात्राथी।उन्होंनेवहांतैनातसैनिकोंकोसंबोधितभीकिया।