न्यायालय ने महिलाओं को नवंबर में एनडीए परीक्षा में शामिल होने की अनुमति दी

नयीदिल्ली,22सितंबर(भाषा)उच्चतमन्यायालयनेमहिलाओंकोनवंबरमेंएनडीएकीपरीक्षामेंभागलेनेकीअनुमतिदेतेहुएबुधवारकोकहाकिइसकेलियेमई2022तककाइंतजारनहींकियाजासकता।न्यायमूर्तिसंजयकिशनकौलकीअध्यक्षतावालीपीठनेएनडीएकीप्रवेशपरीक्षामेंमहिलाउम्मीदवारोंकोअगलेसालसेशामिलकरनेकीअनुमतिदेनेकेलिएकेंद्रकाअनुरोधअस्वीकारकरदिया।पीठनेकहाकिशीर्षअदालतनहींचाहतीकिमहिलाओंकोउनकेअधिकारसेवंचितकियाजाए।केंद्रनेशीर्षअदालतकोबतायाथाकिमहिलाउम्मीदवारोंकोराष्ट्रीयरक्षाअकादमीमेंप्रवेशपरीक्षामेंबैठनेकीअनुमतिदेनेवालीअधिसूचनाअगलेसालमईतकजारीकीजाएगी।केंद्रनेकहाथाकिरक्षासेवाओंनेएनडीएमेंमहिलाकैडेटकेलिएव्यापकपाठ्यक्रमकोतेजीसेतैयारकरनेकेलिएविशेषज्ञोंकेएकअध्ययनसमूहकागठनकियागयाहै।साथहीसभीप्रासंगिकपहलुओंकोशामिलकरतेहुएएनडीएमेंमहिलाकैडेटकेप्रशिक्षणकेलिएएकसमग्रतथाभविष्यवादीप्रस्तावपेशकरनेकेलिएएकबोर्डऑफऑफिसर्सकागठनकियागयाहै।सुनवाईशुरूहोतेहीवरिष्ठअधिवक्ताचिन्मयप्रदीपशर्मानेपीठकोबतायाकिएकसालमेंदोपरीक्षाएंहोतीहैं-एनडीएIऔरएनडीएIIशर्मानेकहा,''पहलीपरीक्षाकेलिए,यूपीएससीजनवरीमेंअधिसूचनाजारीकरताहैऔरदूसरीपरीक्षाअधिसूचनामईऔरजूनमेंजारीकीजातीहै।जनवरीमेंजारीअधिसूचनाकेतहतअप्रैलमेंपरीक्षाहोतीहैऔरजूनमेंजारीअधिसूचनाकेतहतसितंबरमेंपरीक्षाहोतीहै।प्रक्रियाकेतहतजॉइनिंगअगलेसालहोतीहै।इसलिएयदिसरकारकेअनुसार,मई2022मेंअधिसूचनाजारीकीजातीहैतोजॉइनिंगजून2023मेंहोगी।''उन्होंनेकहाकिएनडीएपरीक्षामेंमहिलाउम्मीदवारोंकोभागलेनेकीअनुमतिदेनेवालापीठकाअंतरिमआदेशबिल्कुलस्पष्टहैकिइससालकोविड-19केकारणनवंबरमेंहोनेवालीइसपरीक्षामेंलड़कियोंकोभागलेनेकीअनुमतिदीजानीचाहिए।पीठनेकहाकिकेंद्रकोइंतजामकरनेकेलियेकुछसमयचाहिये,लेकिनमहिलाओंकेपरीक्षामेंबैठनेकोएकसालतकनहींटालाजासकता।केंद्रकीओरसेअतिरिक्तसॉलिसिटरजनरलऐश्वर्याभाटीनेकहाकिपाठ्यक्रम,बुनियादीढांचे,फिटनेसप्रशिक्षण,आवाससुविधाओंआदिकेलिएरक्षासेवाओंद्वाराअध्ययनसमूहकागठनकियागयाहै।उन्होंने14नवंबरकोहोनेवालीआगामीएनडीएप्रवेशपरीक्षाकोछोड़नेकीअपीलकी।हालांकि,पीठनेएएसजीसेकहाकिप्रक्रियाशुरूहोनीचाहिएऔरअन्यकामकाजचरणबद्धतरीकेसेपूरेकियेजासकतेहैं।पीठनेकहा,''हमआपकीसभीसमस्याओंकोसमझतेहैं।लेकिनमुझेयकीनहैकिआपलोगसमाधानखोजनेमेंसक्षमहैंऔरदूसरेबैचकोवंचितनहींहोनेदेंगे।हमनेअंतरिमआदेशमेंकहाथाकिपरीक्षाहोनीचाहिये।योजनापरआगेबढ़ाजासकताहै।''पीठनेकहा,''सशस्त्रसेवाओंनेबहुतकठिनपरिस्थितियोंकासामनाकियाहै।आपातस्थितिसेनिपटनाउनकेप्रशिक्षणकाएकहिस्साहै।हमेंयकीनहैकिवेइस''आपातकालीनस्थिति''सेपारपानेमेंभीसक्षमहोंगे।''न्यायमूर्तिएसकेकौलकीअध्यक्षतावालीपीठनेकहाकिआपातकालीनस्थितियोंसेनिपटनेकेलिएसशस्त्रबलसबसेअच्छीप्रतिक्रियाटीमहैऔरउम्मीदहैकिबिनादेरीकिएमहिलाओंकोएनडीएमेंशामिलकरनेकामार्गप्रशस्तकरनेकेलिएआवश्यकव्यवस्थाकीजाएगी।न्यायलयनेकहाकिरक्षाविभागकोयूपीएससीकेसहयोगसेजरूरीकामकरनाचाहिए।शीर्षअदालतनेयाचिकाकर्ताकुशकालराकीओरसेपेशहुएवरिष्ठअधिवक्ताचिन्मयप्रदीपशर्माकीदलीलोंपरगौरकियाऔरकहाकिवहमहिलाओंकोएनडीएमेंशामिलकरनेकोएकसालतकप्रतीक्षानहींकीजासकती।शीर्षअदालतनेयाचिकाकोलंबितरखाऔरकहाकिअबजरूरतपड़नेपरआगेकेनिर्देशोंकेलिएजनवरी,2022केतीसरेसप्ताहमेंसुनवाईकीजाएगी।पीठकेआदेशकेबादयाचिकाकर्ताकीओरसेपेशअधिवक्तामोहितपॉलनेकहाकियूपीएससीनेअभीतकशुद्धिपत्रअधिसूचनाजारीनहींकीहै।यूपीएससीकीओरसेपेशवकीलनेपीठसेकहाकिप्राधिकरणरक्षामंत्रालयकेकुछनिर्देशोंकाइंतजारकररहाहै।इसपरशीर्षअदालतनेनिर्देशदियाकिइससंबंधमेंरक्षाविभागद्वारायूपीएससीकेसहयोगसेआवश्यककार्यकियाजाए।पीठनेकहा,''यहसंक्रमणकादौरहै,हमपरीक्षाकोटालनानहींचाहते।यहपरीक्षाभलेहीबेहतरपरिणामनदे।लेकिनहमेंभविष्यकीओरदेखनाहै।''