न्याय के लिए भटक रहे बुजुर्ग राम दयाल सिंह

संसू,गम्हरिया:सरायकेला-खरसावांजिलेमेंभूमाफियाकाआतंकइसकदरबढ़गयाहैकिलोगोंकोअपनीरैयतीजमीनभीबचानामुश्किलहोगयाहै।ऐसाहीएकमामलाआयाहैचांडिलअंचलकेकपालीक्षेत्रकाजहांअपनीहीरैयतीजमीनबचानेकेलिए80वर्षीयबुजुर्गरामदयालसिंहसरकारीकार्यालयोंकेचक्करलगातेलगातेपरेशानहैं।रविवारकोरामदयालसिंहनेबतायाकिकपालीमौजास्थितउनकीरैयतीजमीनपरदबंगोंनेकब्जाकरनिर्माणशुरूकरदियाहै।इसबाबतवेजबचांडिलअंचलाधिकारीप्रशांतभूषणसेशिकायतकरनेपहुंचेतोउन्होंनेकोरोनाकाहवालादेतेहुएकार्यालयनहींआनेकीनसीहतदेदी।पैतृकजमीनपरकब्जाहोतेदेखन्यायकीआसमेंबुजुर्गनेमुख्यमंत्री,मुख्यसचिवसेलेकरराजस्वसचिवसेगुहारलगाईहै।इधर,रामदयालसिंहकेदामादनेरासबिहारसिंहनेबतायाकिउनकेससुरकेपास

एकड़94डिसिमिलजमीनहैजिसेउन्होंनेविगतआठअक्टूबर1962कोकपालीनिवासीअब्दुलहकसेखरीदीथी।उसकाम्युटेशनहोनेकेबादवर्ष1967तकउन्होंनेमालगुजारीजमाकरलगानरसीदभीकटवाया।बादमेंखराबस्वास्थ्यकेकारणवेमालगुजारीजमानहींकरपाए।इसबीचउंन्होनेजबऑनलाइनमेंअपनानामचढ़ानेकाआवेदनसीओकोदियातोउन्होंनेटालमटोलकरकोरोनाकाहवालादेतेहुएबादमेंआनेकोकहा।इसीबीचउनकेनामकेबदलेअचानकरजिस्टरटूमेंऑनलाइनअब्दुलहककानामचढ़ादियागया।उन्होंनेबतायाकिअब्दुलहकद्वारास्थानीयडेवलपरकेसाथउनकीजमीनपरनिर्माणकार्यप्रारम्भकरदियागया।