नकल के मददगार होमगार्ड जवान किए गिरफ्तार, बोर्ड अध्यक्ष को हटाया, पैटर्न बदला तो आया रिजल्ट

बिहारबोर्डकीमैट्रिकपरीक्षाआजसेशुरूहोरहीहै।कदाचाररोकनेकेलिएहरपरीक्षाकेंद्रपरजोनल,सबजोनलऔरसुपरजोनललेवलकेमजिस्ट्रेटकीतैनातीकीगईहै।DMऔरSPतककोपरीक्षाकीनिगरानीकरनीहै।यहांकीमैट्रिकपरीक्षाराज्यहीनहीं,देशभरमेंसुर्खियोंमेंरहीहै।नकलसेलेकरअकलतकमेंयहअनूठीरहीहै।6सालपहले17मार्च2015कोजबमैट्रिककीपरीक्षाशुरूहुईतोसहरसाजिलेमेंतीनमंजिलेस्कूलकीखिड़कियोंऔरदीवारोंसेचिपककरजिसतरहसेअभिभावकोंनेबच्चोंकोचिट-पुर्जेपहुंचाएथे,उससेपूरेदेशमेंबिहारकीछविधूमिलहुईथी।देशभरमेंवायरलइसतस्वीरसेआहतमुख्यमंत्रीनीतीशकुमारकोलिखनापड़ाथाकिबिहारकीजोतस्वीरदिखाईजारहीहै,वहअधूरीहै।यहांतस्वीरकादूसरापहलूभीहै।परीक्षाकेअगलेदिनसेहीकदाचारकेट्रेंडकोसमाप्तकरनेकेलिएकड़ाईकाजोसंकल्पलियागया,वहइनछहसालोंमेंकईकड़ेनिर्देशोंकेरूपमेंदिखा।परीक्षार्थीजूतेमेंचिट-पुर्जाछिपाकरनलेआएं,इसलिएजूता-मोजापहनकरआनेपरहीप्रतिबंधलगादियागया।परीक्षार्थियोंकोनंगेपांवपरीक्षादेनीपड़ी।हालांकिइससालइसनियममेंछूटदेदीगईहै।भास्करआपकोतबऔरअबकीतस्वीरोंकेजरियेबतारहाहैकि6सालकेअंदरमैट्रिकपरीक्षामेंक्याकुछबदलाहै।

शिक्षामंत्रीनेकहाथा-कदाचाररोकनाबड़ीचुनौती

6सालपहलेसहरसाकेएकपरीक्षाकेंद्रपर10वींबोर्डकीपरीक्षामेंचिट-पुर्जेपहुंचानेकेलिएअभिभावकोंनेजोहथकंडेअपनाए,उसेदेखपूरादेशदंगरहगया।स्पाइडरमैनकीतरहदीवारसेचिपककरअभिभावकोंनेपरीक्षार्थियोंतकचिटपहुंचाएथे।सुरक्षाव्यवस्थामेंतैनातसिपाहीभीबिकगए।पैसेलेकरचिटपहुंचानेमेंवेमददकरतेपकड़ेगए।तत्कालीनशिक्षामंत्रीप्रशांतकुमारशाहीनेराज्यमेंमैट्रिककीपरीक्षामेंकईजगहकदाचारहोनेकीबातसामनेआनेपरसरकारकीअसमर्थतातकजतादीथी।कहाथाकिकदाचारमुक्तपरीक्षाबहुतबड़ीचुनौतीहै,इसेरोकनाअकेलेसरकारकेबूतेकीबातनहींहै,यहसामाजिकसहयोगसेहीसंभवहै।अगलेदिननकलकररहेछात्रोंकोमददकरनेकेआरोपमेंहोमगार्डके8जवानोंकोगिरफ्तारकरलियागया।500सेज्यादापरीक्षार्थियोंकोनि@काशितभीकरदियागया।उससालपासप्रतिशत75.17फीसदीरहाथा।

75.17फीसदीसे47.15फीसदीपरआगयारिजल्ट

परीक्षामेंकदाचारपररोकलगानेकेलिएसख्तीबढ़ीतोअगलेसालपासप्रतिशतगिरकर47.15फीसदीपरआगया।बिहारबोर्डमेंकदाचारकोरोकनेकेलिएसबसेपहलीकार्रवाईतोयहहुईकिउससमयकेचेयरमैनलालकेश्वरकोहटाकरसख्तअधिकारीकेरूपमेंजानेजानेवालेपटनाकमिश्नरआनंदकिशोरकोप्रभारीचेयरमैनबनायागया।

ऐसेबदलीतस्वीर

2015मेंदेशभरमेंहुईकिरकिरीसेसीखलेतेहुएबिहारबोर्डकीपरीक्षाओंमेंसख्तीइसकदरबढ़ादीगईकिइसकीचर्चाभीदेशभरमेंहुई।नंगेपांवपरीक्षाकेंद्रपरजातेबच्चोंकीतस्वीरेंभीसुर्खियोंमेंआई।नएचेयरमैनआनंदकिशोरनेकदाचाररोकनेकेलिएनियमोंकोकाफीसख्तकरदिया।परीक्षाकेंद्रपरघड़ीतकपहनकरजानेकीअनुमतिनहींरही।मोबाइलऔरकैलकुलेटरसहितहरइलेक्ट्रॉनिकगजेटपरपाबंदीअबभीजारीहै।

81प्रतिशतकेसाथदेशमेंसबसेपहलेदियारिजल्ट

पिछलेसालबिहारबोर्डने81प्रतिशतरिजल्टदेकरCBSEकीबराबरीकरली।इतनाहीनहींबिहारबोर्डनेसबसेपहलेवार्षिकपरीक्षाओंकापरिणामजारीकरनेकाकीर्तिमानभीस्थापितकिया।साल2019और2020मेंदेशमेंसबसेपहलेमैट्रिकऔरइंटरपरीक्षाकापरिणामबिहारबोर्डनेहीजारीकिया।पासप्रतिशतकोदेखेंतोमैट्रिक2019केरिजल्टमेंबिहारबोर्डनेएकनयारिकार्डबनायाथा।2019तक80फीसदीरिजल्टकिसीभीसालनहींगयाथा।2000से2018तककीबातकरेंतोमैट्रिकमें75फीसदीतकउत्तीर्णताकाप्रतिशतरहाहै।2000से2012तकरिजल्ट67से70फीसदीतकहीरिजल्टरहा।वर्ष2014और2015कीबातकरेंतोरिजल्ट75फीसदीतकगयाथा।2014मेंजहां75.05फीसदीतोवहीं2015में75.17फीसदीछात्रपासहुए।

कोरोनाकालमेंभीरिकॉर्ड

बिहारबोर्डकीमैट्रिकपरीक्षाकोमहापरीक्षाकहसकतेहैं।पिछलेसाल16लाख60हजारपरीक्षार्थीशामिलहुएथे,लेकिनइसबारकोरोनाकालहोनेकेबावजूदपरीक्षार्थियोंकीसंख्याज्यादाहै।इसबार16,84,466परीक्षार्थीइसमहापरीक्षामेंशामिलहोरहेहैं।यहभीअपनेआपमेंउपलब्धिहै।

पिछले6सालमेंकितनेपरीक्षार्थीपासहुए