'निकट भविष्य में सब कुछ होगा संभव'

जागरणसंवाददाता,ऊधमपुर:साल2010केबादपैदाहुएसभीलोगसौवर्षोंसेअधिकसालोंतकजीवितरहनेवालेहैं।हमविज्ञानमेंअकल्पनीयबदलावोंकोदेखनेजारहेहैं,जबमनुष्योंकोराजमार्गोंपरकारचलानेकीअनुमतिनहींहोगी।यहविचारप्रख्यातशिक्षाविदएवंदिल्लीविश्वविद्यालयकेफिजिक्सएवंएस्ट्रोफिजिक्सविभागकेअध्यक्षप्रोफेसरआरपीटंडननेसरकारीडिग्रीकॉलेजउधमपुरमेंमंगलवारकोव्यक्तकिए।वेयहांपरआयोजितएकदिवसीयराष्ट्रीयसंगोष्ठीमेंबोलरहेथे।

सरकारीडिग्रीकॉलेजमेंआयोजितटेक्नोलॉजी,ट्रेडीशन,हेरीटेजएंडकल्चरविषयपरएकदिवसीयराष्ट्रीयसेमिनारमेंउन्होंनेकहाकिविज्ञानजादूहैऔरनिकटभविष्यमेंसबकुछसंभवहोनेजारहाहै।प्रो.टंडननेकहाकिभविष्यमेंगैरजैविकबुद्धिसेअधिकसक्षमहोजाएगी।साथहीउन्होंनेचेतातेहुएकहाकियहस्थितिएकभयानकपरि²श्यपेशकरेगी।उन्होंनेइससंगोष्ठीआयोजनकेलिएकॉलेजप्रशासनकीसराहनाकी।इससेपहलेदीपप्रज्ज्वलितकरनेकेसाथकार्यक्रमकाशुभारंभहुआ,जिसकेबादप्रसिद्धभेंटगायकगुलाममोहम्मदकेपुत्रोंडंसालीबंधुओंनेमाताकेमधुरभजनसुनाए।इसकेबादकॉलेजकेप्रिसिपलडॉ.नूतनकुमाररेसूत्रानेसेमिनारमेंआएसभीमेहमानोंकास्वागतअपनेभाषणकेसाथकिया।उन्होंनेमुख्यमेहमानप्रो.अशोकशर्माकीउपलब्धियोंसेभीसभीकोअवगतकराया।

संगोष्ठीकेउद्घाटनसत्रमेंप्रोफेसरडीसीआरयूनिवर्सिटीऑफसांइसएंडटेक्नोलॉजीसोनीपतकेमैटिरियलसाइंसएंडनैनोटेक्नोलॉजीविभागकेचेयरमैनप्रो.अशोकशर्मा,इंदौरविश्वविद्यालायकेराष्ट्रीयसमन्यवयकप्रो.प्रकाशगढ़वाल,जम्मूयूनिवर्सिटीकीएनएसएससमन्वयकडॉ.विश्वरक्षाकेअलावाडॉ,गरिमागुप्ता,डॉ.शशिपठानियानेअपनेविचाररखे।इसअवसरपरडॉ.रिपीबावा,डॉ.कमलदीपकौर,डॉ.उदयभानू,डॉ.भवनीशचंद,प्रोबीएलथौर,प्रो.रोमेशकुमारअत्री,प्रो.सुरेशकुमारडोगरा,डॉ.अनिलखजूरिया,एचओडीजूलॉजी,डॉ.वेदकुमार,एचओडीकेमिस्ट्री,प्रो.नरेशशर्मा,एचओडीइंग्लिश,डॉ.विपुलचलोत्रासहितअन्यमौजूदथे।