नए उारदायित्व में मुझो राजनीति पर बात नहीं करनी चाहिए: नायडू

हैदराबाद,नौअगस्तभाषानवनिर्वाचितउपराष्ट्रपतिएमवेंकैयानायडूनेआजकहाकिइसनएउारदायित्वमेंउन्हेंराजनीतिपरबातनहींकरनीचाहिएलेकिनइसकायहमतलबहरगिजनहींहैकिउन्हेंजनतासेजुड़ेमुद्दोंकोनहींउठानाचाहिए।नायडूनेयहभीकहाकिवहइसबातकाअध्ययनकररहेहैंकिएसराधाकृष्णनऔरजाकिरहुसैनजैसेउनकेपूर्ववर्तीदिग्गजोंनेउपराष्ट्रपतिकार्यालयमेंकिसप्रकारसेकामकिया।उपराष्ट्रपतिनेपत्रकारोंकेसाथबातचीतमेंकहा,नएदायित्व:उपराष्ट्रपति:मेंमुझोराजनीतिपरचर्चानहींकरनीचाहिए।मुझोबोलनेराजनीतिकाहकनहींहैऔरमैंबोलनेभीनहींजारहा।लेकिनइसकायहमतलबहरगिजनहींहैकिकिसीकोलोगोंकेजीवनसेजुडेऔरजनताकेहितोंसेजुडेमुद्दोंपरनहींबोलनाचाहिए।नायडूनेकहाकिराज्यसभाकासभापतिहोनेकेनातेवहयहप्रयासकरेंगेकीसदनमेंरचनात्मकचर्चाएंहोतीरहें।उन्होंनेकहाकिवहयहप्रयासकरेंगेकिविपक्षसहितसभीसदस्योंकोबोलनेकामौकामिले।उन्होंनेकहा,मैंअध्ययनकररहाहूंकिराधाकृष्णननेकिसप्रकारसेकार्यकिया,हिदायतुल्लानेकैसेकामकिया,जाकिरहुसैननेक्याकिया।देशकेकुछखासवर्गोंमेंनिर्धनता,अशिक्षा,आर्थकिअसमानताऔरभेदभावपरटिप्पणीकरतेहुएउन्होंनेकहाकिदेशकाएजेंडाविकासहोनाचाहिए।उन्होंनेहैदराबादकेसाथअपनेचारदशकलंबेजुड़ावकोयादकरतेहुएकहाकि1980कीशुरुआतमेंजबवहविधानसभासदस्यथेतोवहअविभाजितआंध्रप्रदेशकीविधानसभालाइब्रेरीमेंघंटोंबैठाकरतेथे।नायडूनेहैदराबादकेपत्रकारोंकेसाथनिकटसंबधकीबातस्वीकारकीऔरकहाकिसार्वजनिकजीवनमेंउनकीसफलतामेंपत्रकारोंकीअहमभूमिकारहीहै।भाषा