मानसून पूर्व ही दम तोड़ती नजर आ रही नल-जल योजना

सुपौल।राज्यसरकारकीमहत्वाकांक्षीयोजनामेंशुमारहरघरनल-जलयोजनामानसूनसेपहलेहीदमतोड़तीनजरआरहीहै।कोरोनासंकटकेबावजूदभीसरकारद्वारानल-जलयोजनासंबंधितकार्योंकोपूर्णकरनेकानिर्देशग्रामीणकार्यविभागवसंबंधितसंवेदकोंकोदियागयाथा।कार्यसुचारूवनिर्बाधरूपसेचलेइसकेलिएविभागकीओरसेसभीसंबंधितसंवेदकवकार्यसेसंबंधितकर्मियोंकोयात्रापासतकनिर्गतकियागया।सरकारकीमंशासाफथीकिमानसूनसेपूर्वहरहालतमेंइनयोजनाओंकाकार्यपूर्णकरालियाजाय।परंतुविडंबनायहहैकिप्रखंडक्षेत्रमेंउक्तयोजनासेसंबंधितलगभगसभीपंचायतोंकीनल-जलयोजनाकाकार्यठपपड़ाहै।गौरतलबहैकिछातापुरप्रखंडमेंकुल23पंचायतहैंजिनमेंअबतकसभीपंचायतोंमेंपाइपलाइनभीनहींबिछायाजासकाहै।कहींमिनीजलमीनारबननेकेबादकामरुकापड़ाहैतोकहींबोरिगकीगलाईकरयूंहीछोड़दियागयाहै।कुछपंचायतोंमेंबोरिगकरकार्यरुकाहै।जिसकारणग्रामीणोंमेंकाफीआक्रोशदेखाजारहाहै।

ऐसेमेंजबसरकारकीओरसेजूनतकहरघरनलकाजलपहुंचानेकालक्ष्यनिर्धारितकियागयाहैतोसभीपंचायतोंमेंसंचालितयोजनाओंकोपर्याप्तगतिदेनीहोगी।परंतुऐसाहोतानहींदिखरहा।पंचायतोंकीस्थितिकुछऔरहीबयांकररहाहै।विभागीयपदाधिकारीगणभीइसमामलेमेंउदासीनदिखरहेहैं।लोगोंकाआरोपहैकिकार्यकीस्थितिबदतरहोतीजारहीहै।जितनाकार्यधरातलपरकियागयाहै,उसमेंगुणवत्ताकाभीख्यालनहींरखाजारहाहै।जिससेमुख्यमंत्रीसातनिश्चययोजनामेंनल-जलयोजनाकीउपलब्धतापरग्रहणलगतादिखरहाहै।