Lata Mangeshkar Death news...जब लता मंगेशकर को देखकर भूल गए थे कंपाेजिशन, जब सुर साम्राज्ञी ने कही थी ये बड़ी बात

आगरा,निर्लोषकुमार।लतामंगेशकरउससमयबहुतबड़ीकलाकारथीं।म्यूजिकडायरेक्टररोशनकुमारमेहरोत्रानेमुझेलताजीकेपासगानेकीकंपोजिशनबतानेकेलिएभेजाथा।उनसेमिलातोमैंनर्वसहोगयाऔरगानेकीकंपोजिशनहीभूलगया।मेरेगलेसेआवाजतकनहींनिकलरहीथी।तबलताजीनेमुझसेकहाकिआपघबराएनहीं।आपमेरेगुरुकीतरहहैं।मैंकंपोजरनहींहूं,जैसाआपबताएंगे,मैंवैसेहीगाऊंगी।

सुरसाम्राज्ञीलतामंगेशकरसेजुड़ायहसंस्मरणनामनेरनिवासीराममोहनदुबेने"दैनिकजागरण'सेसाझाकिया।उन्होंनेबतायाकियहगीतवर्ष1960मेंरिलीजहुईफिल्म"बरात'कागाना"आजारेतेराएकसहारा,कोईयहनकहेमेराकोईनहीं...'था।दुबेनेकरीबडेढ़दशकतकहिंदीफिल्मइंडस्ट्रीमेंम्यूजिशियनकेरूपमेंकामकिया।बादमेंदूरदर्शनमेंनौकरीलगनेपरउन्होंनेफिल्मीदुनियाकोअलविदाकहदियाथा।उन्होंनेफिल्म"बरसातकीरात'मेंम्यूजिशियनकेरूपमेंकामकियातोफिल्म"पाकीजा'मेंबैकग्राउंडम्यूजिकदिया।वर्ष1996मेंदूरदर्शनसेम्यूजिककंपोजरकेपदसेसेवानिवृत्तहुएराममोहनदुबेनेबतायाकिउनकीस्मृतिमेंआगरामेंलतामंगेशकरकाकोईकार्यक्रमनहींहुआ।लताजीवृंदावनआयाकरतीथीं,तबवहआगरामेंरुकाकरतीथीं।वर्ष1960सेपूर्ववहसेंटजोंसचौराहासेघटियाआजमखांकीतरफजानेवालेमार्गपरस्थितअपनेएकपरिचितआशुदारामकेयहांरुकतीथीं।बादमेंउन्होंनेयहांआनाबंदकरदियाथा।

लतामंगेशकरसेजुड़ींयादोंकोसाझाकरतेआगराकेराममोहनदुबे।

सोमठाकुरकालिखागीतगाया

ताजनगरीकेवरिष्ठकविवगीतकारसोमठाकुरद्वारालिखेगएएकगीतकोलतामंगेशकरनेसुरदिएथे।सोमठाकुरनेबतायाकिवर्ष1972मेंरिलीजहुईफिल्म"मेरेभैया'केलिएउन्होंनेविदाईगीत"छोड़चलीघरतेरा,बाबुलपियाकेघरजाना...'लिखाथा।इसेलताजीनेगायाथा।जबउनसेमुलाकातहुईतोउन्होंनेगीतकेबोलोंकीकाफीतारीफकीथी।उन्होंनेअपनेसुरोंकेहिसाबसेगीतमेंकुछपरिवर्तनभीकरायाथा,जोमैंनेकियाथा।

जबलताजीनेकहादुनियागोलहै

ताजनगरीकेसाउंडरिकार्डिंगइंजीनियरसतीशगुप्तानेमुंबईकेगोरेगांवस्थितसहारास्टूडियाेमेंफिल्मइंडस्ट्रीकेकईनामीगायकोंकेगानोंकोरिकार्डकियाहै।सतीशगुप्ताबतातेहैंकिलतामंगेशकरसेलेक्टेडगानेहीगातीथीं,इसलिएउन्हेंउनकेसाथअधिककामकरनेकामौकानहींमिला।फिल्म"सलमापेदिलआगया'मेंलतामंगेशकरद्वारागाएगानेउन्होंनेरिकार्डकिएथे।लतामंगेशकरनेनुसरतफतेहअलीखांकेलिएफिल्म"कच्चेधागे'केगीतगाएथे।इनगीतोंकोभीउन्हेंरिकार्डकरनेकामौकामिला।"यहदिल्लगी'मेंउन्होंनेलतामंगेशकरकेगानोंकोमिक्सकियाथा।लतामंगेशकरसेजुड़ासंस्मरणबतातेहुएसतीशगुप्तानेकहाकिमुंबईमेंगोरेगांवमेंसहारास्टूडियोमेंरिकार्डिंगकेदौरानलतामंगेशकरनेकहाथाकिफिल्मइंडस्ट्रीमेंगानागानेकीशुरुअातउन्होंनेगोरेगांवमेंस्थितफिल्मिस्तानस्टूडियोसेकीथी।वहांसेकोलाबाकेवर्ल्डट्रेडसेंटरतकपहुंचगईं।परअबफिरलौटकरगोरेगांवमेंसहारास्टूडियोमेंरिकार्डिंगकररहीहूं।सचमेंदुनियागोलहै।

सूरजअस्तहोगया

एक्सफैक्टरफेमकरतारसिंहयादवनेकहाकिवहलतामंगेशकरकेअनन्यउपासकहैं।उनकेनिधनसेसंसारस्तब्धहै।आजसूरजअस्तहोगयाहै।उनकोवास्तवमेंजोलोगजानतेथे,वहबहुतदु:खीहैं।जबतकसूरज-चांदरहेगा,लतामंगेशकरकानामरहेगा।

लताकेगानेगाएतोमाता-पितानेदिलाईसंगीतकीशिक्षा

संगीतकलाकेंद्रकीसंचालकप्रतिभाकेशवतलेगांवकरनेकहाकिलतामंगेशकरसेमुलाकातयाउनकेकिसीकार्यक्रममेंशामिलहोनेकासौभाग्यउन्हेंनहींमिलसका।जबवहचार-पांचवर्षकीथीं,तबवहलाउडस्पीकरपरलताजीकेगानेसुननेकेबादउन्हेंगायाकरतीथीं।उनकेमाता-पितानेउनकाटैलेंटपहचानकरउन्हेंसंगीतकीशिक्षादिलाई।आजवहजिसमुकामपरहैं,उसकाश्रेयलतामंगेशकरकोहीजाताहै।

भाईकेसाथआईथींताजमहल

लतामंगेशकरवर्ष1965मेंअपनेभाईहृदयनाथमंगेशकरऔरस्वजनोंकेसाथताजमहलदेखनेआईथीं।तबताजमहलकीसुंदरताकोनिहारनेकेबादलतामंगेशकरऔरहृदयनाथमंगेशकरनेस्मारकमेंगीतभीगायाथा।