लापरवाही की बीमारी से आयुष्मान भारत योजना, मुजफ्फरपुर में मात्र 29 फीसद परिवारों का बना गोल्डन कार्ड

मुजफ्फरपुर,[अमरेंद्रतिवारी]!आयुष्मानभारतयोजनाकाजिलेमेंबुराहालहै।जागरूकताकीकमीऔरप्रशासनिकलापरवाहीकेचलतेगरीबपरिवारोंकोइसकालाभनहींमिलपारहाहै।स्थितियहहैकिमहज29प्रतिशतपरिवारोंकाहीगोल्डनकार्डबनसकाहै। आयुष्मानभारतयोजनाकीशुरुआतअप्रैल,2018मेंकीगईथी।इसकाउद्देश्यगरीबीरेखासेनीचे(बीपीएल)केपरिवारोंकोस्वास्थ्यबीमामुहैयाकरानाहै।योजनाकेअंतर्गतसरकारीयाचयनितप्राइवेटअस्पतालमेंप्रतिपरिवारसालानापांचलाखतककेमुफ्तइलाजकीव्यवस्थाहै।इसकेलिएआयुष्मानअथवागोल्डनकार्डबनवानाहोगा।जिलेमेंपांचलाख20हजार794पात्रपरिवारोंकोयोजनासेजोड़ाजानाथा।हालयहहैकिचारसालमेंअभीतकमहजएकलाख51हजार580परिवारोंकागोल्डनकार्डबनसकाहै।अन्यपरिवारोंकाजानकारीकेअभावऔरप्रशासनिकलापरवाहीकेचलतेकार्डनहींबनसकाहै।वेकार्डबनवानेकेलिएसंबंधितकेंद्रयाअस्पतालमेंजातेहैंतोकोईनकोईकारणबतालौटादियाजाताहै।

एकसालसेकार्डबनवानेकेलिएलगारहीचक्कर

कटराकोठियाकीगीतादेवीवधनौरकीसुमनदेवीएकसालसेगोल्डनकार्डबनानेकेलिएचक्करलगारहीहैं।पोर्टलवआधारकार्डमेंउनकेनाममेंअंतरहै।सुधारनहींहोनेसेकार्डनहींबनरहा।लखनपुरकीपूजाकुमारीभीइसीकेचलतेतीनमाहपरेशानरहीं।नामसुधरवानेकेबादउसकाकार्डएकसप्ताहपहलेबना।आयुष्मानभारतगोल्डनकार्डबनानेवालेकामनसर्विससेंटरकेसंचालकरामानंदआर्यनेबतायाकिइसतरहकेबहुतसेमामलेआतेहैं।

यहांपरबनवाएंगोल्डनकार्ड

येदस्तावेजजरूरीहैं

आधारकार्ड,राशनकार्ड,लेबरकार्डवएवंपरिवारपहचानपत्रकीप्रतिजमाकरनीहोतीहै।आयुष्मानभारतयोजनाकेजिलासमन्वयकविद्यासागरनेबतायाकी,2011केसामाजिक,आर्थिकजनगणनाकेआधारपरबीपीएलपरिवारकोइसयोजनाकालाभदेनाहै।इनकानामआयुष्मानभारतयोजनाकेपोर्टलपरहै।गोल्डनकार्डबनातेसमयकईपात्रलोगोंकेआधारकार्डवपोर्टलपरदर्जनाममेंअंतरआरहाहै।इसकारणकार्डनहींबनपारहा।नामठीककरलाभलियाजासकताहै।सरकारीस्तरपरयोजनाकालाभदेनेकेलिएलोगोंकोजागरूककियाजारहाहै।