कोविड-19 की तीसरी लहर की संभावना प्रबल है, युद्धस्तर पर तैयारी कर रही है दिल्ली सरकार: केजरीवाल

नयीदिल्ली,12जून(भाषा)दिल्लीकेमुख्यमंत्रीअरविंदकेजरीवालनेशनिवारकोआगाहकियाकिकोरोनावायरसमहामारीकीतीसरीलहरआनेकीआशंकाप्रबलहैऔरकहाकिउनकीसरकारइससेनिपटनेकेलिए‘‘युद्धस्तर’’परतैयारियांकररहीहै।केजरीवालनेकहाकिकोविड-19कीतीसरीलहरपरब्रिटेनसेसंकेतमिलरहेहैं,जहां‘‘45प्रतिशतलोगोंकेटीकाकरण’’केबावजूदवहांमामलेएकबारफिरबढ़रहेहैं‘‘इसलिएहमहाथपरहाथधरेनहींबैठेरहसकतेहैं।’’केजरीवालदिल्लीकेनौअस्पतालोंमें22नयेपीएसएऑक्सीजनसंयंत्रोंकाउद्घाटनकरनेकेलिएआयोजितएकऑनलाइनकार्यक्रमकोसंबोधितकररहेथे।उन्होंनेकहाकिइनसंयंत्रोंकीकुलउत्पादनक्षमता17.3मीट्रिकटनहोगीऔरइससेकोविड-19केखिलाफतैयारियोंकोमजबूतीमिलेगी।उन्होंनेकहाकिजुलाईतक17औरऑक्सीजनसंयंत्रशुरूहोंगे।केजरीवालनेकहाकिदिल्लीसरकारतीसरीलहरकेमामलेमेंकोविड-19सेनिपटनेकेलिएऑक्सीजनटैंकरभीखरीदरहीहै।उन्होंनेकहाकिपूर्ववर्तीलहर‘‘बहुतखतरनाक’’थीजोअबकमहोरहीहै।उन्होंनेदूसरीलहरसेलड़नेमेंमददकेलिएउद्योगोंकेप्रतिआभारव्यक्तकरतेहुएयहभीकहाकिदिल्लीकेलोगसंघर्षऔरअनुशासनकेसाथइसकामुकाबलाकरनेकेलिएएकसाथआगेआएऔर‘‘इसेनियंत्रितकरनेमेंसफल’’हुए।उन्होंनेप्रार्थनाकीकिकोविडकीतीसरीलहरनआए।हालांकि,उन्होंनेआगाहकियाकितीसरीलहरकीसंभावनाप्रबलहै,और‘‘अगरऐसाहोताहै,तोदिल्लीकोफिरसेएकसाथलड़नाहोगा।’’उन्होंनेकहा,‘‘हमहाथपरहाथरखकरनहींबैठसकतेऔरहमारीसरकारइससेनिपटनेकेलिएयुद्धस्तरपरतैयारीकररहीहै।’’उन्होंनेमहामारीसेलड़नेकेलिएटीकाकरणअभियानकेविस्तारकीआवश्यकताकोभीरेखांकितकरतेहुएकहा,‘‘हमाराटीकाकरणकार्यक्रमसफलतापूर्वकचलरहाहै।टीकोंकीकमीअभीभीएकसमस्याहै,लेकिनहमारा'जहांवोट,वहांटीकाकरण’अभियानसफलहै।’’केजरीवालनेकहाकिइससालअप्रैलऔरमईकेदौरानदेशकेलिएजोदूसरीलहरथी,वहदिल्लीकेलिएचौथीथीक्योंकिदिल्लीपहलेहीनवंबर2020तकतीनलहरोंसेजूझचुकीथी।उन्होंनेकहाकिडॉक्टरों,नर्सों,पैरामेडिकलकर्मियों,सफाईकर्मचारियोंऔरअन्यलोगोंनेवायरसकेखिलाफलड़ाईमेंबहुतबड़ीभूमिकानिभायी।उन्होंनेकहा,‘‘मैंकईडॉक्टरोंकोजानताहूं,जोकईदिनोंतकघरनहींगए।मैंदिल्लीकेलोगोंकीओरसेउन्हेंधन्यवाददेनाचाहताहूं।’’मुख्यमंत्रीनेकहाकिपहलीलहरमेंएकदिनमेंअधिकतममामलोंकीसंख्यालगभग4,500थी,जोचौथीलहरमेंबढ़कर28,000सेअधिकहोगई।उन्होंनेकहाकिदिल्लीमेंचौथीलहरकेदौरानऑक्सीजनकीभारीकमीदेखीगईक्योंकिदिल्लीएकऔद्योगिकराज्यनहींहैऔरउसकेपासऑक्सीजनउत्पादनकाअपनास्रोतनहींहैं।उन्होंनेकहाकिकुछमात्रामेंऔद्योगिकऑक्सीजनकेअलावा,दिल्लीकोगैर-कोविडउद्देश्योंकेलिए150-200मीट्रिकटनचिकित्सकीयऑक्सीजनकीआवश्यकताहै।उन्होंनेकहाकिचौथीलहरकेदौरानयहआवश्यकताबढ़कर700मीट्रिकटनहोगई।दिल्लीमेंअप्रैलकेमध्यसेमईकीशुरुआतकेदौरानचिकित्सकीयऑक्सीजनआपूर्तिकाभारीसंकटदेखागया,जबकईअस्पतालोंनेऑक्सीजनकेलिएत्राहिमामसंदेशजारीकिया।इसकमीकोकईमौतोंकेलियेजिम्मेदारठहरायागयाऔरदिल्लीसरकारनेपहलेसेहीविशेषज्ञोंकीएकसमितिकागठनकियाहैताकियहपतालगायाजासकेकिक्यावेमौतेंवास्तवमेंजीवनरक्षकगैसकीकमीकेकारणहुईं।केजरीवालनेकहा,‘‘हमारेपासऑक्सीजनउत्पादनकेसाधनऔरकेंद्रसरकारकेनिर्देशपरहरियाणाऔरउत्तरप्रदेशजैसेराज्योंसेऑक्सीजनखरीदनेकेलिएटैंकरतकनहींथे।अब,हमेंपूरीतरहसेतैयाररहनाहोगा।’’केजरीवालनेकहाकिबृहस्पतिवारकोउन्होंने57-57मीट्रिकटनकेतीनभंडारणटैंकोंकेसाथ-साथ13.5मीट्रिकटनकेऑक्सीजनटैंककाउद्घाटनकियाथा।मुख्यमंत्रीनेकहाकिशनिवारकोउद्घाटनकिएगए22संयंत्रोंसहितकुल27पीएसएऑक्सीजनसंयंत्रोंकोदिल्लीमेंचालूकरदियागयाहै।उन्होंनेकहाकिइनकेअलावा,केंद्रसरकारद्वारापहलेहीछहसंयंत्रशुरूकिएजाचुकेहैंऔरसातजल्दहीशुरूहोनेजारहेहैं।दिल्लीकेस्वास्थ्यमंत्रीसत्येंद्रजैननेकहाकिशनिवारकोखोलेगएकुलपीएसएसंयंत्रोंमेंसे17एचसीएलटेक्नोलॉजीजऔरचारमारुतिउद्योगद्वारादिएगएहैं।उन्होंनेकहाकिएचसीएलजल्दहीपांचऔरसंयंत्रोंकीआपूर्तिकरेगी।इसकार्यक्रममेंएचसीएलटेक्नोलॉजीजकीचेयरपर्सनरोशनीनाडरऔरशहरकेविभिन्नसरकारीअस्पतालोंकेप्रमुखोंनेहिस्सालिया।जिनअस्पतालोंमेंयेसंयंत्रलगाएगएहैंउनमेंसंजयगांधीमेमोरियलअस्पताल,राजीवगांधीसुपरस्पेशलिटीअस्पताल,दीपचंदबंधुअस्पतालऔरबाबासाहेबआंबेडकरअस्पतालशामिलहैं।जैननेकहाकिइनसभीअस्पतालोंकीक्षमता9,500एलपीएम(लीटरप्रतिमिनट)है।इसकामतलबहैकि1,000बिस्तरअस्पतालकोभीतरसेहीऑक्सीजनप्राप्तकरपाएगा।