कोविड-19 के कारण छात्रों का विदेश में पढ़ाई करने का सपना टूटा

(गुंजनशर्मा)नयीदिल्ली,पांचअप्रैल(भाषा)ऑस्ट्रेलियाकेडीकिनविश्वविद्यालयसेस्वीकृतिपत्रमिलनेकेबाद21वर्षीयतृप्तिलूथराएकमहीनेपहलेसातवेंआसमानपरथीलेकिनअबकोरोनावायरसवैश्विकमहामारीकेबारेमेंदुनियाभरसेआरहीताजाखबरोंकोजाननेकेलिएपूरेदिनटीवीसेचिपकीरहतीहैक्योंकिइससंक्रामकरोगकेकारणविदेशमेंपढ़नेकेउसकेसपनेपरअनिश्चितताकेबादलमंडरानेलगेहैं।सितंबरसेशुरूहोरहेसत्रकेलिएन्यूयॉर्कमेंपढ़नेकीतैयारीकरनेवालीअनुष्कारेकेलिएताजाघटनाक्रममनोबलतोड़नेवालेहैंलेकिनइससेउसकीयोजनानहींडगमगाईहै।बहरहाल,कनाडातथाइटलीकेकईकॉलेजोंसेस्वीकृतिपत्रप्राप्तकरनेवालीताराओसानकामाननाहैकिअबयहवक्त‘प्लानबी’तैयारकरनेऔरभारतकेकॉलेजोंमेंआवेदनदेनेकाहै।ऐसेकईछात्रहैंजिनकीविदेशमेंपढ़ाईकरनेकीयोजनाविभिन्नदेशोंमेंलागूकिएगएलॉकडाउनकेकारणयातोटूटगईहैयाउसमेंदेरीहोगईहै।कोविड-19सेपैदाहुईस्थितिकेकारणदुनियाभरमेंकक्षाएंऔरवीजाप्रक्रियानिलंबितकरदीगईहैं।लूथरानेकहा,‘‘मेरीऑस्ट्रेलियामेंडीकिनविश्वविद्यालयसेवास्तुकलामेंमास्टर्सकरनेकीयोजनाथी।मुझेजल्दहीवहांजानाथाऔरमैंअपनीस्नातककीपरीक्षाएंखत्महोनेकाइंतजारकररहीथीं।मैंअपनेलिएघरढूंढनेकेसाथइंटर्नशिपतलाशनेकेलिएकक्षाएंशुरूहोनेसेपहलेवहांजानाचाहतीथी।लेकिनअबलगताहैकिवक्तठहरगयाहै।’’उसनेकहा,‘‘मैंनेभारतकेकिसीकॉलेजमेंआवेदननहींकियाथाऔरआर्थिकमंदीकेकारणयहांनौकरीयाइंटर्नशिपकरनेकाविकल्पभीदूरकीकौड़ीलगरहाहै।’’श्रीरामस्कूलकीछात्राताराओसानइटलीयाकनाडामेंविज्ञापनकीपढ़ाईकरनाचाहतीहै।उसकामाननाहैकिआईबीपाठ्यक्रमचुननेवालेछात्रपहलेहीविदेशमेंपढ़नेकीयोजनाबनालेतेहैं।उसनेकहा,‘‘विदेशमेंपढ़नाइससालसंभवनहींलगरहाहैऔरअबमैंप्लानबीतैयारकरुंगीऔरयहांकॉलेजोंमेंआवेदनकरनाशुरूकरुंगी।’’हालांकि,न्यूयॉर्कमेंलिबरलआर्ट्सकीपढ़ाईकरनेकीइच्छारखनेवालीअनुष्कारेकेलिएयहयोजनाअभीटलीहैलेकिनरद्दनहींहुईहै।‘स्टडीअब्रॉड’परामर्शकोंकेअनुसार,हालातगंभीरदिखतेहैंऔरइसकाकईलोगोंकीदीर्घकालीनयोजनाओंपरअसरपड़सकताहै।दिल्लीमेंस्टडीअब्रॉडकंसल्टेंसीचलानेवालेअनुपमसिन्हानेपीटीआई-भाषाकोबताया,‘‘कईछात्रोंकोपहलेहीदाखिलामिलगयाहैलेकिनअबकक्षाएंऑनलाइनहोनेऔरस्थितिकेबारेमेंकोईस्पष्टतानहोनेसेवेपुन:विचारकररहेहैं।अभीतकजोछात्रविदेशमेंरहनाचाहतेथेउन्हेंसिर्फऑनलाइनकक्षाएंलेनेकेलिएभारीभरकमफीसदेनाआकर्षकविकल्पनहींलगरहाहै।’’