कोरोना की दवा को लेकर IIT दिल्‍ली ने दी खुशखबरी, अश्वगंधा से कोविड-19 का इलाज संभव

नईदिल्ली[राहुलमानव]।IITDelhiNews:कोरोनामहामारीसेजहांपूरीदुनियापरेशानहैवहींभारतमेंइसकेदवाकोलेकरएकखुशखबरीआईहै।यहखुशखबरीआइआइटीदिल्‍लीनेदीहै। भारतीयप्रौद्योगिकीसंस्थान(आइआइटी)दिल्लीकेबायोकेमिकलइंजीनियरिंगकेप्रोडी.सुंदरनेजापानकेनेशनलइंस्टीट्यूटऑफएडवांस्डइंडस्ट्रियलसाइंसएंडटेक्नोलॉजीकेसाथमिलकरखोजकीहैकिप्राकृतिकऔषधिअश्वगंधासेकोविड-19काइलाजहोसकताहै।

अश्वगंधासेक्‍योंबंधीउम्‍मीदें

अश्वगंधाकाएकरसायनिक पदार्थ,कोविड-19कोकोशिकाओंमेंविकसितहोनेसेरोकनेमेंकारगरहोसकताहै। यहकिसप्रकारसेकोविड-19कीविकसितहोनेकीप्रकियाकोरोकसकताहैइसकीप्रणालीकीरूपरेखाकोतैयारकियागयाहै।

15वर्षोंसेअश्‍वगंधापरजापानमेंकररहेकाम

प्रोडी.सुंदर15वर्षोंसेअश्वगंधापरजापानकेइंस्टिट्यूटकेसाथकामकररहेहैं।उन्होंनेबतायाकिहमारेइसशोधपत्रकीपहलीरिपोर्टकोअंतरराष्ट्रीयशोधपत्रिकाजर्नलऑफबायोमॉलिक्यूलरडायनामिक्समेंप्रकाशितहोनेकीमंजूरीमिलगईहै।

अश्वगंधा सेकोविड-19कीदवाईबनानेकीदिशापरहोगाकाम

दोदिनोंमेंइसकेप्रकाशितहोनेकीउम्मीदहै।इसशोधकोआगेबढ़ातेहुएअश्वगंधासेकोविड-19कीदवाईबनानेकीदिशापरहमकामकरेंगे।उन्होंनेबतायाकिअश्वगंधासेकोविड-19कीदवाईबनानेकेलिएकईक्लीनिकलट्रायलकरनेकीजरूरतहै।अत्याधुनिकलैबमेंइसकाट्रायलहोनाचाहिए।इसपरभीहमकामकरेंगे।

अश्वगंधाकाआयुर्वेदिकउपचारकेलिएहोताहैउपयोग

भारतमेंपांरपरिकरूपसेअश्वगंधाकाउपयोगआयुर्वेदिकउपचारकेलिएकियाजाताहै। उन्होंनेबतायाकिएकमहीनेपहलेकेंद्रसरकारनेआयुषमंत्रालय,स्वास्थ्यमंत्रालय,विज्ञानएवंप्रौद्योगिकीमंत्रालय,इंडियनकॉउंसिलऑफमेडिकलरिसर्च(आइसीएमआर)कोजोड़तेहुएएकटास्कफोर्सकागठनकियाथा।इसमेंइन्हेंकहागयाथाकिअश्वगंधा,यष्टिमधु,गुडुचीकोपिपालीकेसाथ,आयुष-64(मलेरियाकीदवाई)जैसीआयुर्वेदऔषधियोंपरकोविड-19केसंदर्भमेंशोधकरें।

कईशोधकर्ताकरसकतेहैंइस्तेमाल

प्रोडी.सुंदरनेकहाकिहमारीतरफसेस्वतंत्ररूपसेअश्वगंधापरशोधकियागयाहै।कईअन्यशोधकर्ताकोविड-19कोलेकरहमारेशोधकोइस्तेमालकरसकतेहैं।

दिल्‍ली-एनसीआरकीखबरोंकोपढ़नेकेलिएयहांकरेंक्‍लिक