कोरोना काल में लोगों की तकलीफें, स्वास्थ्य कर्मियों के बलिदान याद कर भावुक हुए मोदी

नयीदिल्ली,16जनवरी(भाषा)कोविड-19केखिलाफदेशव्यापीटीकाकरणअभियानकीशुरुआतकरनेकेमौकेपरप्रधानमंत्रीनरेन्द्रमोदीशनिवारकोउसवक्तभावुकहोगएजबअपनेसंबोधनकेदौरानउन्होंनेइससंक्रमणकालमेंलोगोंकोहुईतकलीफों,स्वास्थ्यकर्मियोंवअग्रिममोर्चेपरतैनातकर्मियोंकेबलिदानोंऔरअपनेप्रियजनोंकीअंतिमविदाईतकमेंशामिलनाहोपानेकेउनकेदर्दकाजिक्रकिया।टीकाकरणअभियानकीशुरुआतसेपहलेराष्ट्रकेनामअपनेसंबोधनमेंप्रधानमंत्रीनेकहाकिसामान्यतौरपरबीमारीमेंपूरापरिवारबीमारव्यक्तिकीदेखभालकेलिएजुटजाताहैलेकिनइसबीमारीनेतोबीमारकोहीअकेलाकरदिया।उन्होंनेकहा,‘‘अनेकोंजगहोंपरछोटे-छोटेबीमारबच्चोंकोमांसेदूररहनापड़ा।मांपरेशानरहतीथी...मांरोतीथी...लेकिनचाहकरभीकुछकरनहींपातीथी...बच्चेकोअपनीगोदमेंनहींलेपातीथी।’’उन्होंनेकहाकहींबुजुर्गपिता,अस्पतालमेंअकेलेअपनीबीमारीसेसंघर्षकरनेकोमजबूरथेऔरसंतानचाहकरभीउसकेपासनहींजापातीथी।उन्होंनेकहा,‘‘जोहमेंछोड़करचलेगएउनकोपरंपराकेमुताबिकवोविदाईभीनहींमिलसकीजिसकेवोहकदारथे।जितनाहमउससमयकेबारेमेंसोचतेहैं,मनसिहरजाताहै,उदासहोजाताहै।’’यहकहते-कहतेप्रधानमंत्रीभावुकहोगए।उन्होंनेरूंधेगलेसेकहाकिनिराशाकेउसवातावरणमेंचिकित्सक,स्वास्थ्यकर्मी,अग्रिममोर्चेपरतैनातअन्यकर्मीऔरएंबुलेंसड्राइवरोंनेआशाकाभीसंचारकियाऔरलोगोंकीजानबचानेकेलिएअपनेप्राणोंकोसंकटमेंडाला।मोदीनेकहा,‘‘उन्होंनेमानवताकेप्रतिअपनेदायित्वकोप्राथमिकतादी।इनमेंसेअधिकांशतबअपनेबच्चों,अपनेपरिवारसेदूररहेऔरकई-कईदिनतकघरनहींगए।सैकड़ोंसाथीऐसेभीहैंजोकभीघरवापसलौटहीनहींपाए,उन्होंनेएक-एकजीवनकोबचानेकेलिएअपनाजीवनआहूतकरदिया।’’उन्होंनेकहाइसलिएआजकोरोनावायरसकापहलाटीकास्वास्थ्यसेवासेजुड़ेलोगोंकोलगाकरसमाजअपनाऋणचुकारहाहै।उन्होंनेकहा,‘‘येटीकाउनसभीसाथियोंकेप्रतिकृतज्ञराष्ट्रकीआदरांजलिभीहै।’’ज्ञातहोकिटीकाकरणकेपहलेचरणकेलिएसभीराज्योंऔरकेंद्रशासितप्रदेशोंमेंकुल3,006टीकाकरणकेंद्रबनाएगएहैं।पहलेदिनतीनलाखसेज्यादास्वास्थ्यकर्मियोंकोकोविड-19केटीकेकीखुराकदीजाएगी।सरकारकेमुताबिक,सबसेपहलेएककरोड़स्वास्थ्यकर्मियों,अग्रिममोर्चेपरकामकरनेवालेकरीबदोकरोड़कर्मियोंऔरफिर50सालसेज्यादाउम्रकेलोगोंकोटीकेकीखुराकदीजाएगी।बादकेचरणमेंगंभीररूपसेबीमार50सालसेकमउम्रकेलोगोंकाटीकाकरणहोगा।स्वास्थ्यकर्मियोंऔरअग्रिममोर्चेपरतैनातकर्मियोंपरटीकाकरणकाखर्चसरकारवहनकरेगी।मोदीनेकोविड-19केखिलाफभारतकेटीकाकरणअभियानकोविश्वकासबसेबड़ाटीकाकरणअभियानबतातेहुएकहाकियहभारतकेसामर्थ्यकोदर्शाताहै।उन्होंनेकहा,‘‘इतनेबड़ेस्तरकाटीकाकरणअभियानपहलेकभीनहींचलायागया।यहअभियानइतनाबड़ाहै,इसकाअंदाजाआपइसीसेलगासकतेहैंकिदुनियाकेलगभग100देशोंकीआबादीतीनकरोड़सेकमहैऔरभारतपहलेहीचरणमें3करोड़लोगोंकाटीकाकरणकररहाहै।’’प्रधानमंत्रीनेकहाकिवैज्ञानिकोंऔरविशेषज्ञोंके‘मेडइनइंडिया’टीकोंकीसुरक्षाकेप्रतिआश्वस्तहोनेकेबादहीइसकेउपयोगकीअनुमतिदीगईहै।उन्होंनेकहाकिटीकेकीदोखुराकलेनीबहुतजरूरीहैंऔरइनदोनोंकेबीचलगभगएकमहीनेकाअंतरहोनाचाहिए।उन्होंनेटीकालेनेकेबादभीलोगोंसेकोरोनावायरसकीरोकथामसंबंधीसभीदिशा-निर्देशोंकापालनकरनेकाआग्रहकियाऔर‘‘दवाईभी,कड़ाईभी’’कामंत्रदिया।