खुशहाल होगा गरीबों का यह साल, मिटेगी बदहाली

जीविकाकेस्वयंसहायतासमूहोंकेमाध्यमसेगरीबमहिलाओंकोमिलेगारोजगार

राष्ट्रीयखाद्यसुरक्षायोजनासेवंचितगरीबोंकोमिलेगानयाराशनकार्ड

आदिवासियोंकोरोजगारवयोजनाओंकालाभदेकरदूरहोगीगरीबी

मुकेशकुमार,लखीसराय:गरीबीसबसेबड़ाअभिशापहै।इसकलंककोमिटानेकेलिएसरकारीस्तरपरप्रयासकिएजारहेहैं।केंद्रवराज्यसरकारद्वारासंचालितयोजनावकार्यक्रमकेमाध्यमोंसेगरीबोंकोआर्थिकरूपसेसशक्तकरनेकीमुहिमकाअसरजिलेमेंभीदिखरहाहै।जिलाप्रशासनद्वाराप्राथमिकताकेआधारपरहरगरीबपरिवारकोपक्कामकान,स्वच्छपेयजल,शौचालय,न्यूनतमरोजगारकीगारंटी,राशनप्रणालीसेप्रत्येकउपभोक्ताकोरियायतीदरपरअनाज,स्वास्थ्यकेसाथजीवनबीमाएवंपढ़ाईकेलिएशिक्षाऋणआदिकीयोजनाकाक्रियान्वयनतेजीसेकियाजारहाहै।इसकेअलावाजीविका,सामाजिकसुरक्षापेंशन,मनरेगा,प्रधानमंत्रीउज्जवलायोजनासहितकरीबदोदर्जनसरकारीयोजनासेजिलेकेबीपीएलपरिवारकोलाभान्वितकरनेकीचलरहीकवायदआनेवालेदिनोंमेंरफ्तारपकड़ेगी।

6,687गरीबोंकोमिलापक्काआवास

प्रधानमंत्रीआवासयोजनाकेतहतवर्ष2016-17एवं2017-2018में6,687गरीबोंकोपक्काआवासनिर्माणकेलिएराशिदीगईहै।वर्ष2019मेंकरीबडेढ़हजारगरीबोंकोपक्काआवासमिलेगा।आवासनिर्माणकेलिएप्रत्येकपरिवारकोएकलाख20हजार,12,000शौचालयएवं15हजाररुपयेमजदूरीकेरूपमेंमिलेगी।शहरीक्षेत्रमेंभीहरवार्डकासर्वेकरचयनितकिएगएगरीबपरिवारोंकोआवासनिर्माणकेलिएराशिदीजारहीहै।आनेवालेदिनोंमेंशहरमेंहरगरीबकाघरपक्काकाहोगा।साथहीउन्हेंअन्यकल्याणकारीयोजनाओंकाभीलाभमिलेगा।

इसवर्षइंदिराआवाससेवंचितलाभुकोंकापंचायतवारसर्वेकरयोजनाकालाभदिलानेकेलिएसूचीतैयारकीजाएगी।जिसकालाभजिलेकेहजारोंगरीबपरिवारोंकोमिलेगा।गरीबोंकेघरोंमेंजलेंगेएलपीजीकेचूल्हे

प्रधानमंत्रीउज्जवलायोजनानेगरीबपरिवारोंकेघरोंकीतस्वीरबदलदीहै।कोयलेवलकड़ीकेधुएंसेरसोईघरकोनिजातमिला।घरोंमेंएलपीजीकाचूल्हेजलनेलगे।जिलेमेंअबतककरीब34,682गरीबमहिलाओंकोयोजनाकालाभदियागयाहै।आनेवालेदिनोंमेंजिलेकेहरगरीबकेघरोंमेंएलपीजीकेचूल्हेजलानेकीयोजनाहै।इसकेलिएजिलेकेसभीप्रखंडोंमेंकैंपलगाकरपरिवारोंकोलाभान्वितकरनेकीयोजनाहै।गरीबमहिलाओंकोसशक्तबनाएगाजीविका

जिलेमेंजीविकाकार्यक्रमसेगरीबमहिलाओंकोनासिर्फआर्थिकरूपसेसंबलबनायाजारहाहैबल्किउन्हेंसरकारीयोजनाकेअलावाबालविवाह,दहेजबंदीआदिसामाजिककुरीतियोंकेखिलाफजागरूकभीकियाजारहाहै।जिलेमेंवर्ष2017-18मेंजीविकाकेमाध्यमसे25,680लक्ष्यकेविरुद्ध11,300स्वयंसहायतासमूहकागठनकियागयाहै।इससालकरीब14,000समूहोंकागठनकरमहिलाओंकीएकबड़ीआबादीकोरोजगारकाअवसरप्रदानकरनेकीयोजनाहै।अभीतक5,560समूहोंकेविरुद्ध4,634समूहोंकोवित्तपोषणकियागयाहै।महिलाओंकोअगरबत्ती,मुर्गीपालनआदिकेमाध्यमसेभीरोजगारमिलेंगे।मनरेगावपेंशनसेदूरहोरहीगरीबी

वर्ष2018में45,909जॉबकार्डधारीमजदूरोंकोमनरेगासेरोजगारदेनेकीयोजनाहै।गरीबदिव्यांगकोगांवमेंभीपौधरोपणकीदेखभालकरनेकीजिम्मेदारीकेसाथआर्थिकरूपसेमददकरनेकीकवायदचलरहीहै।वर्ष2018-19मेंमनरेगाकेतहत29.85लाखमानवदिवससृजनलक्ष्यकेविरुद्धअबतक16लाख29हजारमानवदिवसकासृजनहुआहै।जिलेके74हजारपेंशनधारीकोपेंशनकालाभमिलरहाहै।जिलेमेंसरकारीयोजनासेवंचितगरीबोंकीपंचायतस्तरपरपहचानकरउन्हेंसरकारीयोजनाकालाभदेकरगरीबीदूरकरनेकीपहलआनेवालेदिनोंमेंरफ्तारपकड़ेगी।आदिवासियोंकेविकासकेलिएतेजहोंगेप्रयास

अनुसूचितजातिजनजातिनक्सलप्रभावितकोषांगकेजरिएजिलेकेसबसेपिछड़ानक्सलक्षेत्रकेआदिवासीगांवमेंरहनेवालेगरीबोंकेलिएजिलाप्रशासनयोजनाबद्धतरीकेसेकामकररहाहै।आदिवासीपरिवारोंकोरोजगारकेसाथ-साथसरकारकीसभीकल्याणकारीयोजनाकालाभदेकरगरीबीदूरकरनेकीलगातारप्रयासजारीहै।आदिवासीपरिवारोंकोस्वास्थ्य,शिक्षा,स्वच्छता,शुद्धपेयजलआदिउपलब्धकरानेकीमुहिमचलाईजारहीहै।कुलमिलाकरगरीबीदूरकरनेमेंसरकारकीयोजनारफ्तारपकड़नेकीउम्मीदहै।