केंद्रीय मंत्री ने बताया- आखिर क्‍यों विरोध दौरान देश में बंद करनी पड़ती है इंटरनेट सेवा

रेवाड़ी[महेशकुमारवैद्य]। इलेक्ट्राॅनिकएवंसूचनाप्रौद्योगिकीऔरविधिएवंकानूनमंत्रीरविशंकरप्रसादनेकहाकिकुछलोगअाएदिनलोगोंकोभड़कानेवालीसूचनाएंपोस्टकरतेरहतेहैं,मगरअभिव्यक्तिकीआजादीकेनामपरमनमानीकीछूटनहींदीजासकतीहै।केंद्रसरकारभड़काऊपोस्टडालनाकिसीभीसूरतमेंसहननहींकरेगी।

सरकारअभिव्‍यक्तिकीआजादीकीपक्षधर

रविशंकरबुधवारकोयहांकेगांवगुरावड़ामेंडिजिटलविलेजववाईफाईकीलांचिंगकेबादजागरणसेविशेषबातचीतकररहेथे।उन्होंनेकहाकिसरकारअभिव्यक्तिकीआजादीकेपक्षधररहीहै,परंतुसंविधानअफवाहफैलानेवालेराष्ट्रविरोधीतत्वोंकेखिलाफकार्रवाईकीइजाजतभीदेताहै।उन्होंनेकहाकिहालहीमेंसीएएवएनआरसीकेविरोधकेनामपरकईस्थानोंपरअफवाहेंफैलाईगई।मजबूरीमेंहमेंदेशमेंकईजगहइंटरनेटसेवाएंबंदकरनीपड़ी।जबबातराष्ट्रहितकीआतीहैतोइंटरनेटसेवाओंकोबंदकरनेसेलेकरदूसरेकईकदमउठाएजातेहैं।

तेजीसेगांवोंकाहोरहाडिजिटलाइजेशन

उन्होंने2017मेंपूराहोनेवाला2.5लाखगांवोंकोडिजिटलबनानेकालक्ष्यअभीतकपूरानहोनेकेसवालपरकहाकिहमइसदिशामेंबहुततेजीसेआगेबढ़रहेहैं।जल्दीहीसकारात्मकपरिणामसामनेहोंगे।

मार्चतकनिश्शुल्कमिलेंगेभारतवाईफाईकनेक्शन

रविशंकरप्रसादनेकहाकिअबतकदेशमें1लाख,30हजारगांवडिजिटलहोचुकेहैं।मार्च2020तकहमलोग1लाखऔरगांवोंकोभीजोड़देंगे।देशकेसभीसीएससीसेंटरोंमेंबैंकिंगसेवाभीआगेबढ़ाएंगे।2014मेंदेशमेंमहज60हजारसीएससी(कामनसर्विससेंटर)थे।अबयहसंख्या3लाख60हजारहोगईहै।

बतायासीएससीकाअर्थ

उन्होंनेकहाकिसीएससीकाशाब्दिकअर्थकुछभीहो,परंतुवास्तविकअर्थहै-शहरकीसेवागांवमें।उन्होंनेकहाकिप्रधानमंत्रीमोदीकेनेतृत्वमेंसेनाहरखतरेसेनिपटनेमेंसक्षमहै।हमारीसेनापहलेगोलीनहींचलाएगी,मकरपाकिस्ताननेहमलाकियातोसेनाहाथखोलकरवारकरेगीऔरघरमेंघुसकरमारेगी।

किसीकीनागरिकतानहींछीनरहेहम

पत्रकारोंसेबातचीतमेंप्रसादनेकहाकिसीएएकोलेकरझूठफैलायाजारहाहै।यहकानूननागरिकताछीननेकेलिएनहींदेनेकेलिएहै।राष्ट्रीयजनसंख्यारजिस्टरकाविरोधीबेमानीहै।यहगणनाहरदससालबादहोतीहीहै।कांग्रेसकेसमयऐसाहोचुकाहै।इसअवसरपरटेलीकॉमसचिवअंशुमप्रकाश,आइटीसचिवअजयसाहनी,बीएसएनएलकेएमडीपीकेपुरवार,कोसलीकेविधायकलक्ष्मणयादव,उपायुक्तयशेंद्रसिंहविशेषतौरपरमौजूदथे।

दिल्‍ली-एनसीआरकीखबरोंकोपढ़नेकेलिएयहांकरेंक्‍लिक