कौन हैं नवाब मलिक, यूपी के गांव से निकला हुआ सामान्य लड़का पहले सफल बिजनेसमैन और फिर पालिटिशियन बना

नईदिल्ली,जेएनएन।नारकोटिक्सकंट्रोलब्यूरोकेजोनलडायरेक्टरसमीरवानखेड़ेपरअपनेहमलोंकोलेकरनवाबमलिकइनदिनोंकाफीचर्चाओंमेंहैं।एक्टरशाहरुखखानकेबेटेआर्यनखानकेक्रूजड्रग्समामलेकोलीडकररहेसमीरवानखेड़ेलगातारनवाबमलिककेनिशानपरहैं।नवाबमलिककेबारेमेंयेबाततोसबजानतेहैंकिवोमहाराष्ट्रसरकारमेंअल्पसंख्यक,कौशलविकासऔरउद्यमितामंत्रीहैंऔरएनसीपीकीसीटसेउन्हेंमहाराष्ट्रसरकारमेंजगहमिलीहै।अबहमआपकोनवाबमलिककापूराबैकग्राउंडबतानेजारहेहैं।कैसेउनकीराजनीतिमेंएंट्रीहुईऔरइससेपहलेवोक्याकरतेथे?

यूपीकेबलरामपुरमेंहुआजन्म

नवाबमलिककाजन्म20जून1959कोउत्तरप्रदेशकेबलरामपुरजिलेकेउतरौलातहसीलक्षेत्रकेधुसवागांवमेंहुआथा।1970मेंउनकापरिवारमुंबईशिफ्टहोगयाऔरउन्होंने10वीं,12वींऔरग्रेजुएशनकीपढ़ाईयहींपूरीकी। उन्होंनेअंजुमनहाईस्कूलसे10वींऔरबुरहानीकालेजसे12वींकीपढ़ाईकी।उनकेपरिवारमेंपत्नीमहजबीन,दोबेटे-फराजएवंआमीरऔरदोबेटियां-निलोफरएवंसना हैं।नवाबमलिकराजनीतिसेपहलेएककामयाबबिजनेसमैनथे।उन्होंनेपहलेव्यापारमेंकरियरबनायाऔरफिरराजनीतिमेंभीदिलचस्पीहोनेकेचलतेसियासतकेमैदानमेंअपनीकिस्मतआजमाई।

कबआएराजनीतिमें

महाराष्ट्रमेंपांचबारकेविधायकनवाबमलिकनेअपनासियासीसफरसमाजवादीपार्टीकेसाथशुरूकिया।उन्होंनेदोबारसपाकेटिकटपरचुनावलड़जीतहासिलकी।उन्होंने1996और1999मेंमहाराष्ट्रकेनेहरूनगरसीटपरसपाकेटिकटपरचुनावलड़ाऔरजीतदर्जकराई।इसकेबाद2004मेंउन्होंनेसपाकासाथछोड़शरदपवारकीएनसीपीमेंएंट्रीलेलीऔरफिरएनसीपीकेटिकटपरचुनावलड़करनेहरूनगरसीटपरअपनीजीतदर्जकराई।2009मेंविधानसभामेंपरिसीमनकेबादउन्होंनेअणुशक्तिनगरसीटपरचुनावलड़ाऔरलगातारचौथीबारविधायकबने।हालांकि,2014केचुनावमेंमलिककोहारकासामनाकरनापड़ा।2019विधानसभाचुनावमेंमलिकनेफिरसेचुनावलड़ाऔरपांचवींबारविधायकबने।महाराष्ट्रमेंशिवसेना,कांग्रेसऔरएनसीपीकीगठबंधनवालीसरकारमेंनवाबमलिकमंत्रीबनाएगए।