Kader Khan Birth Anniversary: जब पहली बार 1500 रुपये एक साथ देख हैरान हो गए थे कादर खान, पढ़ें एक्टर के संघर्ष की कहानी

नईदिल्ली,जेएनएन।अजीजऔरमशहूरकलाकारकादरखानकाकदहिंदीसिनेमामेंकाफीबड़ाहै।उन्होंनेशानदारअभिनयकेअलावाफिल्मोंकेलिएसदाबहारडायलॉग्सभीलिखेहैं।कादरखाननेफिल्मोंमेंअपनेअलग-अलगकिरदारोंसेभीबड़ेपर्देपरअमिटछापछोड़ी।कादरखानकाजन्म22अक्टूबर1937मेंकाबुलअफगानिस्तानमेंहुआथा।वहअपनेमाता-पिताकीचौथीसंतानथे।कादरखानसेपहलेउनकेसभीभाई-बहनोंकीमौत8सालकीउम्रकेआस-पासहोजातीथी।

जिसकेचलतेउनकेमाता-पिताकोलगाकिउनकीसंतानकेलिएअफगानिस्तानकीजमीनठीकनहींहै।जिसकेबादवहअफगानिस्तानछोड़करभारतकेमुंबईमेंआकरबसगए।घरकेआर्थिकहालातठीकनहोनेकेकारणकादरखानकापरिवारमुंबईकेकमाठीपुराइलाकेमेंरहताथा।यहमुंबईकासबसेगंदाइलाकामानाजाताहै।घरकीमालीहालतकोदेखतेहुएएकबारकादरखाननेअपनेपड़ोसकेबच्चोंकेसाथबाहरकामकरनेकाफैसलाकिया।

वहबच्चे2-3रुपयेकेलिएकामकरतेथे।परिवारकीखराबआर्थिकहालतकोदेखतेहुएकादरखानउनकेसाथघरकेबाहरकामकरनेकेलिएजानेलगेतोपीछेसेउनकीमांनेउन्हेंरोककिया।उनकीमांनेरोकरउन्हेंसमझायाकिअगरवह2-3रुपयेकीनौकरीकरेंगीतोवहइतनाहीकमापाएंगे।अमीरइंसानबननेकेलिएकादरखानकीमांनेउन्हेंज्यादापढ़नेकीसलाहदी।मांकीसलाहकोमानकरकादरखानजमकरपढ़ाईकरनेलगे।

उन्होंनेइंजीनियरिंगकीपढ़ाईऔरफिरकॉलेजमेंनाटकलिखनेलगेथे।देखतेहीदेखतेवहएककॉलेजमेंलेक्चररबनगए।हालांकिकादरखाननेनाटकलिखनानहींछोड़ी।फिरएकदिनउन्होंनेअपनानाटकलोकलट्रेनकिया।इसनाटकमेंउन्होंनेअभिनयकेसाथइसकेडायलॉग्सभीलिखेऔरनिर्देशनभीकिया।उनकानाटकनिर्देशकनरेंद्रबेदीकोखूबपसंदआया।इसकेबादनरेंद्रबेदीनेउन्हेंअपनीफिल्मजवानीदिवानीमेंकामकरनेकामौकादिया।

कादरखाननेइसफिल्मकेलिएनकेवलडालॉग्सलिखेबल्किअभिनयभीकिया।इसफिल्मकेलिएकादरखानको1500रुपयेकीफीसमिलीथी।ऐसापहलीबारथाजबकादरखानने1500रुपयेएकसाथदेखतेथे।उनपैसोकोलेनेकेबादकादरखानकाफीहैरानथे।इसकेबादउन्होंनेधीरे-धीरेहिंदीसिनेमामेंअपनीजगहबनाईऔरबड़ेपर्देपरअपनेअभिनयकेअलग-अलगरंगदिखाए।

कादरखाननेअपनेकरियरमेंदाग,परवीश,सुहाग,कुर्बानी,नसीब,याराना,कुली,आंटीनंबर1,दुल्हेराजा,अंखियोंसेगोलीमारेऔरदिवानामैंदिवानासहितलगभग300फिल्मोंमेंअभिनयऔरकुछ250फिल्मोंकेडायलॉगलिखेहैं।उन्होंनेअपनीज्यादातरफिल्मोंकेडायलॉग्सलिखेथे।