कार्यकाल भले ही छोटा लेकिन अनुभव विराट

जागरणसंवाददाता,औरैया:कोविड-19महामारीमेंगुजरेपूरेदोसालहोंयावर्तमानपरिवेश।डा.विशालएकऐसानामसामनेनिकलकरआया,जिनकाकार्यकालभलेहीछोटाहो,अनुभवविराटहै।कोरोनाकालमेंपरिवारकीपरवाहनकरउन्होंनेसेवाकीमिसालकायमकी।जिदगीकेकठिनलम्होंकोहमसफरबनाकरपहलीवदूसरीलहरमेंधाराकेविपरीतचलनेकाहौसलारखा।रास्ताखुद-ब-खुदआसानहोगया।कोविडकालमेंमरीजोंकीसेवाकेचलतेउन्हें15अगस्तकोप्रशासनद्वारा'औरैयारत्न'प्रशासनद्वारादियाजाएगा।

यहांबातहोरहीहैजिलेके50शैय्याजिलासंयुक्तचिकित्सालयमेंतैनातडा.विशालअग्निहोत्रीकी।जिन्होंनेसितंबर2015मेंपदभारग्रहणकरनेकेबादचिकित्सीयकर्तव्यपथपरचलनाशुरूकिया।वर्ष2020मेंकोरोनाकालकेदौरानउनकीड्यूटीशहरमेंबनेआठक्वारंटाइनसेंटरोंपररही।इसमेंउन्होंनेनकेवलमरीजोंकाहौसलाबढ़ायाबल्किसैकड़ोंमरीजोंकोकोविड-19कालमेंस्वास्थ्यलाभभीपहुंचाया।यहसबऐसेहीसंभवनहींहुआ।इसकेपीछेउनकीलगनवकर्तव्यनिष्ठाकादृढ़संकल्पथा।उससमयजबकोरोनासंक्रमणकीखतरनाकलहरमेंसबकुछसहमाहुआथा।उससमयस्वयंकीपरवाहनकरफर्जनिभाया।कोविडकंट्रोलरूममेंअथकपरिश्रमकरहोमआइसोलेशनमेंरहरहेमरीजोंकीखैरखबररखउनकीहमेशाहौसलाआफजाईकी।शहरमेंबनेक्वारंटाइनसेंटरोंपरप्रवासियोंकेबीचपहुंचकरअपनासेवाकार्यबंदनहींकिया।रातदिनकीपरवाहकिएबिनाउन्होंनेअपनाकर्तव्यपूरीनिष्ठाकेसाथनिभाया।---------

लोगोंकीदुआएंहीथीं,सातदिनमेंजीतीकोरोनासेजंग

कोरोनाकीपहलीलहरमेंवहड्यूटीनिभातेहुएपाजिटिवहोगए।होमआइसोलेशनमेंरहतेहुएउन्होंनेमोबाइलफोनसेहोमआइसोलेटमरीजोंसेबातकरबराबरसंपर्कबनाएरखा।मरीजोंकोजबउनकेपाजिटिवहोनेकीजानकारीहुईतोउन्होंनेडा.विशालकेजल्दसहीहोनेकीदुआएंमांगी।वहमरीजोंकीदुआओंकाहीकमालमानतेहैंकिवहसातदिनमेंनिगेटिवरिपोर्टआनेकेबाददोबाराड्यूटीपरपहुंचगएऔरलोगोंकीसेवामेंजुटगए।

परिवारकेपाजिटिवहोनेकेबादभीकर्तव्यसेनहींडिगे:

कोरोनाकीखतरनाकदूसरीलहरमेंउनकेमाता-पिता,पत्नी,बेटा,भाईवउसकीबहूसभीपाजिटिवहोगए।जिदगीकेयहकठिनपलभीउन्हेंकर्तव्यसेक्षणभरभीडिगानहींसके।उन्होंनेकोविडकंट्रोलरूममेंड्यूटीनिभातेहुएअपनेपरिवारकामुखियाहोनेकादायित्वभीपरिवारकेसंक्रमणकालमेंबखूबीनिभाया।