कामाख्या महोत्सव से और गहरा हुआ आस्था का रंग, दूर-दूर तक लहरा रहा पताका

कमलकिशोरयादव,हरदा(पूर्णिया)।कोसी,सीमांचलसहितपड़ोसीदेशनेपालकेलोगोंकेलिएअसमकेकामरुकामाख्याकेसमतुल्यमांकामाख्यामंदिरकेप्रतिआस्थाकेरंगकोराजकीयमहोत्सवकोऔरगहराकरदिया।लंबेसमयसेइसमंदिरमेंमहोत्सवकेआयोजनकीमांगकीजारहीथी।आखिरकारक्षेत्रकीविधायकसहबिहारसरकारकीखाद्यएवंउपभोक्तासंरक्षणविभागकीमंत्रीलेशीसिंहकेअनवरतप्रयाससेयहसफलतामिलीहै।पहलीबारराजकीयमहोत्सवकेआयोजनकोलेकरइसपरिक्षेत्रकेदससेअधिकपंचायतोंमेंउत्सवीमाहौलहै।मंदिरकीख्यातिकाआधारठाढ़ीव्रतमेलासेभीज्यादाउत्साहलोगोंमेंहै।

राजकीयमहोत्सवस्थलकामाख्यामंदिरपरिसरसेचहुंओरजानेवालीपथोंमेंइसकारंगखूबबिखररहाहै।महोत्सवकोलेकरराष्ट्रीयउच्चमार्ग31में़फरियानीचौक,पूर्णियाधमदाहासड़कमार्गमेंबनभाग,परोरा,काझा,बहेलियास्थानचौककेअलावागेड़ाबाड़ीफलकासड़कमेंगिरियमाचौकसमीपतकतोरणद्वारवपताकालहरारहाहै।स्थानीयलोगोंकीसहभागितासेसारीसाज-सजावटकीगईहै।मजरा,सहरा,रहुआ,सतकोदरिया,गंगेली,गोआसीवकाझापंचायतोंमेंलोगपूरीतरहभक्तिकेरंगमेंडूबेहुएहैं।महोत्सवकोलेकरशायदहीकोईघरबचाहै,जिनकेघरमेहमाननहींहैं।क्षेत्रकेलोगोंकेसगेसंबंधीभीइसयज्ञवमहोत्सवकोदेखनेदूर-दूरसेपहुंचेहैं।इसकेअलावाकोसीवसीमांचलकेअलग-अलगजिलोंकेअलावानेपालआदिसेलोगलगातारयहांपहुंचरहेहैं।महोत्सवकोलेकरदेवीमातामंदिर,सतीश्यामासुंदरीमंदिर,संकटमोचनहनुमानमंदिर,माणिकफौजदारमंदिर,शिवालयकेसाथहवनयज्ञकुंजकीसाज-सजावटइसेऔरभव्यताप्रदानकररहाहै।साथहीपरिसरमेंअवस्थिततमामपेड़ोंकोभीसतरंगीबल्बोंसेसजायागया।कथापंडालमेंरोशनी,पेयजल,शौचालयआदिसमुचितव्यवस्थाकीगईहै।मरंगाथानाध्यक्षमिथिलेशकुमारवएएसआईरामानंदयादवकेनेतृत्वमेंकाफीसंख्यामेंमहिलावपुरुषबलसुरक्षाकोलेकरतैनातहैं।हरसड़कमेंबेरिकेटिग,वाहनपार्किंगआदिकीव्यवस्थाकीगईहै।